अमरीकी राजनेता टू-प्लस-टू वार्ता के लिए सितम्बर में भारत आ रहे है

टू-प्लस-टू (2+2) वार्ता जो भारत और अमेरिका के बीच होनी है, लम्बे समय से टलती आ रही थी. अब इसकी तिथि निर्धारित की जा चूकी है और पहली टू-प्लस-टू (2+2) वार्ता 6 सितंबर को दिल्ली में होना तय हुआ है. पिछले महीने दोनों देशों के बीच 2+2 वार्ता कुछ कारणों से स्थगित कर दी गई थी. जिस पर अब सरकार ने इसके आगामी सितम्बर में किये जाने की बात कही है. बातचीत के लिए अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ और अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस दिल्ली आएंगे. टू-प्लस-टू (2+2) वार्ता जो भारत और अमेरिका के बीच होनी है, लम्बे समय से टलती आ रही थी. अब इसकी तिथि निर्धारित की जा चूकी है और पहली टू-प्लस-टू (2+2) वार्ता 6 सितंबर को दिल्ली में होना तय हुआ है. पिछले महीने दोनों देशों के बीच 2+2 वार्ता कुछ कारणों से स्थगित कर दी गई थी. जिस पर अब सरकार ने इसके आगामी सितम्बर में किये जाने की बात कही है. बातचीत के लिए अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ और अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस दिल्ली आएंगे.   रूस अमेरिका के रिश्तें पूर्वजों की गलती - ट्रम्प  स्टेट डिपार्टमेंट के प्रवक्ता हीदर नऊर्ट ने एक बयान में कहा, "संयुक्त राज्य अमेरिका को ये घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि भारत और अमेरिका के बीच '2 + 2 वार्ता' 6 सितंबर को नई दिल्ली में आयोजित की जाएगी." भारत के लिए इसमें विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ और अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस से मिलेगी. बैठक में रणनीतिक, सुरक्षा और रक्षा सहयोग के मुद्दों पर बात की जानी है.   एयर फोर्स वन अब रंग बिरंगी कपड़ों में - ट्रम्प  टू-प्लस-टू (2+2) वार्ता की घोषणा पिछले साल राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमरीका में हुई मुलाकात के बाद ही की गई थी. पिछले महीने अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा था कि ट्रंप प्रशासन के लिए भारत 'बड़ी प्राथमिकता' है.  ट्रंप प्रशासन भारत के साथ साझेदारी को 'मजबूत' बनाने के लिए उत्साहित हैं. प्रवक्ता ने कहा था, "अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा में भारत की अहम भूमिका राष्ट्रपति की राष्ट्रीय सुरक्षा रणनीति में दिखाई देती है."

स्टेट डिपार्टमेंट के प्रवक्ता हीदर नऊर्ट ने एक बयान में कहा, “संयुक्त राज्य अमेरिका को ये घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि भारत और अमेरिका के बीच ‘2 + 2 वार्ता’ 6 सितंबर को नई दिल्ली में आयोजित की जाएगी.” भारत के लिए इसमें विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ और अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस से मिलेगी. बैठक में रणनीतिक, सुरक्षा और रक्षा सहयोग के मुद्दों पर बात की जानी है. 

टू-प्लस-टू (2+2) वार्ता की घोषणा पिछले साल राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमरीका में हुई मुलाकात के बाद ही की गई थी. पिछले महीने अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा था कि ट्रंप प्रशासन के लिए भारत ‘बड़ी प्राथमिकता’ है.  ट्रंप प्रशासन भारत के साथ साझेदारी को ‘मजबूत’ बनाने के लिए उत्साहित हैं. प्रवक्ता ने कहा था, “अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा में भारत की अहम भूमिका राष्ट्रपति की राष्ट्रीय सुरक्षा रणनीति में दिखाई देती है.”

You May Also Like

English News