अमर सिंह ने कहा -हिंदुत्व का कुंभकरण जागेगा और आजम खां जैसे लोगो को निगल जाएगा

राज्यसभा सदस्य अमर सिंह आज अपनी घोषणा के मुताबित रामपुर पहुंचकर आजम खां पर जमकर बरसे। अमर सिंह निर्धारित समय से करीब ढाई घंटा विलंब से पहुंचे। उससे पहले उनके समर्थकों आजम खां के खिलाफ पीडब्ल्यू गेस्ट हाउस में जमकर नारेबाजी की। राज्यसभा सदस्य अमर सिंह आज अपनी घोषणा के मुताबित रामपुर पहुंचकर आजम खां पर जमकर बरसे। अमर सिंह निर्धारित समय से करीब ढाई घंटा विलंब से पहुंचे। उससे पहले उनके समर्थकों आजम खां के खिलाफ पीडब्ल्यू गेस्ट हाउस में जमकर नारेबाजी की।    अमर सिंह ने कहा कि आजम खां , मैं कुर्बानी के बकरे की तरह आपके घर आया हूं। चाहे तो मेरी कुर्बानी ले लो, मेरा कत्ल कर दो,लेकिन मेरी बेटियों को बख्श दो। साथ ही चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर हिंदू समाज का कुंभकरण जाग गया तो आजम खां को रसगुल्ले की तरह  निगल जाएगा।   अमर सिंह ने निरीक्षण भवन में मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि आजम खां ने पूरे हिंदू समाज का अपमान किया है।  मुझे और मेरे परिवार  को काट डालने की बात कही है ।बेटियों को तेजाब में गलाने की बात कही है । उनके बेटे अब्दुल्ला अभी बच्चे हैं । बडो के बीच में न पड़ें। पहले अपने फर्जी पैन कार्ड के बारे में बात करें। बालों के झड़ने में ना पड़े।  उन्होंने कहा कि आजम हमेशा पाकिस्तान की बात करते रहे । कभी भारत मां को डायन कहा तो कभी कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा बताया। अगर उन्हें पाकिस्तान से पर्याय है  है तो वह बेशक पाकिस्तान चले जाएं।  –– ADVERTISEMENT ––     योगी आदित्यनाथ सरकार पर नरम पड़े मुलायम सिंह यादव, आजम खां के प्रयास को सराहा यह भी पढ़ें अमर सिंह ने कहा कि आजम खां हिंदुस्तान में और गाएंगे पाकिस्तान की। उन्होंने आजम खां से सवाल किया कि वह बताएं कि आखिर मुजफ्फरनगर में दंगे क्यों हुए। आजम खां मुजफ्फरनगर के प्रभारी थे तो वहां दंगे क्यों हुए। उन्होंने कहा कि आजम खां के के पास झूठ बोलने की डॉक्टरेट डिग्री है। रामपुर पहुंचे अमर सिंह ने आजम खां को चैलेंज दिया और कहा- 'आ गया हूं मैं।' अमर सिंह ने आजम खां पर निशाना साधते हुए कहा कि लगता है बकरीद की कुर्बानी से आजम खान का पेट नहीं भरा है। मेरी कुर्बानी से मेरी मासूम बच्चियों की जान बचती है तो मैैं कुर्बान होने के लिए तैयार हूं। उन्होंने कहा कि जब यह बयान दे चुके हैं, दंगे अच्छी चीज नहीं होती है, हिन्दू का खून है ना मुसलमान का खून है, ये दुश्मन हिन्द ये इंसान का खून है। उन्होंने कहा कि आजम खां से ज्यादा बड़ा गुनहगार मैं तो मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव को मानता हूं, क्योंकि वह आजम खां पर कार्रवाई नहीं करते।   पत्रकारों में  झगड़ा   रामपुर में दीन दयाल की प्रतिमा लगने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट भी जाएंगे आजम खां यह भी पढ़ें प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पत्रकारों में  झगड़ा हो गया। एक पत्रकार ने  कहा आजम पठान नहीं है। उनके नाम के आगे खान न लगाए। आजम पर टिप्पणी से नाराज कुछ पत्रकार भड़क गए।  इसी दौरान दोनों पक्षों में लात घूसे चले। गेस्ट हाउस के दरवाजे तोड़ दिए। शीशे तोड़ दिए। पुलिस ने किसी तरह दोनों पक्षों को अलग किया। इसके बाद प्रेस कांफ्रेंस  बीच में रुक गई । कुछ देर बाद अमर सिंह बाहर आए और बात पूरी की।  बन गया माहौल    आजम खां ने कहा, अगर नाचने वाली के मुंह लगा तो मेरी राजनीति खत्म यह भी पढ़ें समाजवादी पार्टी के फायरब्रांड नेता आजम खां के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले राज्यसभा सदस्य अमर सिंह के रामपुर पहुंचने से ही वहां पर माहौल बन गया। आज यहां हिंदू युवा वाहिनी भारत के सदस्यों ने पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस पहुंचकर आजम खां के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। अमर सिंह के समर्थन में पहुंचे इन लोगों ने जय श्री राम, जो राजपूतों से टकराएगा चूर चूर हो जाएगा, ठाकुर अमर सिंह के सम्मान में राजपूत मैदान में, माता की जय, आजम खां मुरदाबाद आदि नारे लगाए। संगठन के प्रदेश अध्यक्ष शोकेन्द्र खोखर ने कहा कि आजम खां ने बेटियों का अपमान किया है। इसे किसी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसका जवाब पत्थर से दिया जाएगा। आजम खां के गढ़ रामपुर में आज अमर सिंह ने आगमन से पहले यहां पर पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स को तैनात किया गया। यहां तीन इंस्पेक्टर, दस दारोगा और 20 सिपाहियों को तैनात किया गया है। इन सभी के साथ ही राज्यसभा सदस्य अमर सिंह को जेड श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है। पुलिस इसको लेकर सतर्क है कि कहीं समाजवादी पार्टी की ओर से अमर सिंह कोई विरोध ना हो जाए।     मरने के बाद अटल जी जितना सम्मान मिले तो आज ही मरना पसंद करूंगा : आजम खां यह भी पढ़ें अमर सिंह ने मंगलवार को लखनऊ में प्रेस कॉफ्रेंस कर 30 अगस्त को रामपुर आने का ऐलान किया था। उन्होंने लखनऊ में कहा था कि मैं 30 रामपुर आ रहा हूं, आजम खां मेरी कुर्बानी ले लें। इन दिनों अमर सिंह ने पूर्व मंत्री आजम खां के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। आजम खां के एक बयान को लेकर वह उन पर निशाना साध रहे हैं। आजम खां इसको लेकर अपनी सफाई दे चुके हैं। उनका कहना है कि उन्होंने सांसद अमर सिंह और उनकी बेटियों को लेकर कोई बात नहीं कही है।

अमर सिंह ने कहा कि आजम खां , मैं कुर्बानी के बकरे की तरह आपके घर आया हूं। चाहे तो मेरी कुर्बानी ले लो, मेरा कत्ल कर दो,लेकिन मेरी बेटियों को बख्श दो। साथ ही चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर हिंदू समाज का कुंभकरण जाग गया तो आजम खां को रसगुल्ले की तरह  निगल जाएगा। 

अमर सिंह ने निरीक्षण भवन में मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि आजम खां ने पूरे हिंदू समाज का अपमान किया है।  मुझे और मेरे परिवार  को काट डालने की बात कही है ।बेटियों को तेजाब में गलाने की बात कही है । उनके बेटे अब्दुल्ला अभी बच्चे हैं । बडो के बीच में न पड़ें। पहले अपने फर्जी पैन कार्ड के बारे में बात करें। बालों के झड़ने में ना पड़े।  उन्होंने कहा कि आजम हमेशा पाकिस्तान की बात करते रहे । कभी भारत मां को डायन कहा तो कभी कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा बताया। अगर उन्हें पाकिस्तान से पर्याय है  है तो वह बेशक पाकिस्तान चले जाएं।

अमर सिंह ने कहा कि आजम खां हिंदुस्तान में और गाएंगे पाकिस्तान की। उन्होंने आजम खां से सवाल किया कि वह बताएं कि आखिर मुजफ्फरनगर में दंगे क्यों हुए। आजम खां मुजफ्फरनगर के प्रभारी थे तो वहां दंगे क्यों हुए। उन्होंने कहा कि आजम खां के के पास झूठ बोलने की डॉक्टरेट डिग्री है। रामपुर पहुंचे अमर सिंह ने आजम खां को चैलेंज दिया और कहा- ‘आ गया हूं मैं।’ अमर सिंह ने आजम खां पर निशाना साधते हुए कहा कि लगता है बकरीद की कुर्बानी से आजम खान का पेट नहीं भरा है। मेरी कुर्बानी से मेरी मासूम बच्चियों की जान बचती है तो मैैं कुर्बान होने के लिए तैयार हूं। उन्होंने कहा कि जब यह बयान दे चुके हैं, दंगे अच्छी चीज नहीं होती है, हिन्दू का खून है ना मुसलमान का खून है, ये दुश्मन हिन्द ये इंसान का खून है। उन्होंने कहा कि आजम खां से ज्यादा बड़ा गुनहगार मैं तो मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव को मानता हूं, क्योंकि वह आजम खां पर कार्रवाई नहीं करते। 

पत्रकारों में  झगड़ा

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पत्रकारों में  झगड़ा हो गया। एक पत्रकार ने  कहा आजम पठान नहीं है। उनके नाम के आगे खान न लगाए। आजम पर टिप्पणी से नाराज कुछ पत्रकार भड़क गए।  इसी दौरान दोनों पक्षों में लात घूसे चले। गेस्ट हाउस के दरवाजे तोड़ दिए। शीशे तोड़ दिए। पुलिस ने किसी तरह दोनों पक्षों को अलग किया। इसके बाद प्रेस कांफ्रेंस  बीच में रुक गई । कुछ देर बाद अमर सिंह बाहर आए और बात पूरी की।

बन गया माहौल 

समाजवादी पार्टी के फायरब्रांड नेता आजम खां के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले राज्यसभा सदस्य अमर सिंह के रामपुर पहुंचने से ही वहां पर माहौल बन गया। आज यहां हिंदू युवा वाहिनी भारत के सदस्यों ने पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस पहुंचकर आजम खां के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। अमर सिंह के समर्थन में पहुंचे इन लोगों ने जय श्री राम, जो राजपूतों से टकराएगा चूर चूर हो जाएगा, ठाकुर अमर सिंह के सम्मान में राजपूत मैदान में, माता की जय, आजम खां मुरदाबाद आदि नारे लगाए। संगठन के प्रदेश अध्यक्ष शोकेन्द्र खोखर ने कहा कि आजम खां ने बेटियों का अपमान किया है। इसे किसी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसका जवाब पत्थर से दिया जाएगा। आजम खां के गढ़ रामपुर में आज अमर सिंह ने आगमन से पहले यहां पर पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स को तैनात किया गया। यहां तीन इंस्पेक्टर, दस दारोगा और 20 सिपाहियों को तैनात किया गया है। इन सभी के साथ ही राज्यसभा सदस्य अमर सिंह को जेड श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है। पुलिस इसको लेकर सतर्क है कि कहीं समाजवादी पार्टी की ओर से अमर सिंह कोई विरोध ना हो जाए।

अमर सिंह ने मंगलवार को लखनऊ में प्रेस कॉफ्रेंस कर 30 अगस्त को रामपुर आने का ऐलान किया था। उन्होंने लखनऊ में कहा था कि मैं 30 रामपुर आ रहा हूं, आजम खां मेरी कुर्बानी ले लें। इन दिनों अमर सिंह ने पूर्व मंत्री आजम खां के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। आजम खां के एक बयान को लेकर वह उन पर निशाना साध रहे हैं। आजम खां इसको लेकर अपनी सफाई दे चुके हैं। उनका कहना है कि उन्होंने सांसद अमर सिंह और उनकी बेटियों को लेकर कोई बात नहीं कही है।

You May Also Like

English News