अमेजन, बर्कशायर और जेपी मॉर्गन ने नए वेंचर की कमान इस भारतवंशी सर्जन को सौंपी

अमेजन डॉट कॉम इंक, बर्कशायर हैथवे इंक और जेपी मॉर्गन एंड कंपनी ने अपने संयुक्त मेडिकल उद्यम के लिए भारतवंशी डॉक्टर अतुल गवांडे को सबसे बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है. सर्जन और लेखक अतुल गवांडे को नई कंपनी का सीईओ नियुक्त किया गया है. बोस्टन में शुरू हो रहे इस वेंचर का मकसद अपने कर्मचारियों पर मेडिकल खर्च कम करना है और इसे नॉन प्रॉफिट कंपनी बनाया जाएगा.अमेजन डॉट कॉम इंक, बर्कशायर हैथवे इंक और जेपी मॉर्गन एंड कंपनी ने अपने संयुक्त मेडिकल उद्यम के लिए भारतवंशी डॉक्टर अतुल गवांडे को सबसे बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है. सर्जन और लेखक अतुल गवांडे को नई कंपनी का सीईओ नियुक्त किया गया है. बोस्टन में शुरू हो रहे इस वेंचर का मकसद अपने कर्मचारियों पर मेडिकल खर्च कम करना है और इसे नॉन प्रॉफिट कंपनी बनाया जाएगा.  नया हेल्थकेयर वेंचर किया शुरू  इन तीनों कंपनियों में 10 लाख से ज्यादा कर्मचारी हैं और इऩ्होंने एक संयुक्त बयान जारी कर ये जानकारी दी है. अमेजन, बर्कशायर और जेपीमॉर्गन ने जनवरी में इस वेंचर को शुरू करने का ऐलान किया था. अमेजन और इसके पार्टनर ने कहा कि गैर जरूर खर्च को खत्म करने और बेहतर सेवा मुहैया कराने के लिए बड़े डाटा एनालिसिस और हाई टेक टूल्स की मदद लेंगे.  अतुल गवांडे का परिचय  अतुल गवांडे ब्रिंघम एंड वूमन हॉस्पिटल में जनरल और एंडोक्राइन सर्जन हैं. साथ ही हार्वर्ड टी एच चान स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ एंड हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में पढ़ाते भी हैं. 2014 में उन्होंने अपनी किताब- ‘बीइंग मॉर्टल- मेडिसिन एंड व्हाट मैटर्स इन ए एंड में बुजुर्गों की दयनीय जिंदगी का मुद्दा उठाया था. उन्होंने लिखा था कि जीवन के आखिरी पड़ाव की ओर पहुंचे बुजुर्गों की ओर हेल्थकेयर संस्थाओं का ध्यान नहीं रहता और वे एक मुश्किल जीवन बिताते हैं.  वॉरने बफेट ने बताई वजह  जेपी मॉर्गन के सीईओ जेमी डिमोन ने कहा कि वह चाहते हैं कि नया वेंचर जीवन के आखिरी समय तक उचित देखभाल पर असाधारण स्तर पर काम करने के लिए तैयार रहे. वहीं, डिमोन और अमेजन के जेफ बेजोस के साथ काम कर रहे बर्कशायर चेयरमैन और सीईओ वॉरेन बफेट ने कहा कि इस पद के लिए आए सभी उम्मीदवारों ने कहा कि वे खर्च को काबू में रखकर बेहतर हेल्थकेयर सेवा दे सकते हैं. जेमी, जेफ और मुझे भरोसा है कि हमें अतुल गवांडे के रूप में वो शख्स मिला है जो इस काम को पूरा कर सकता हैअमेजन डॉट कॉम इंक, बर्कशायर हैथवे इंक और जेपी मॉर्गन एंड कंपनी ने अपने संयुक्त मेडिकल उद्यम के लिए भारतवंशी डॉक्टर अतुल गवांडे को सबसे बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है. सर्जन और लेखक अतुल गवांडे को नई कंपनी का सीईओ नियुक्त किया गया है. बोस्टन में शुरू हो रहे इस वेंचर का मकसद अपने कर्मचारियों पर मेडिकल खर्च कम करना है और इसे नॉन प्रॉफिट कंपनी बनाया जाएगा.  नया हेल्थकेयर वेंचर किया शुरू  इन तीनों कंपनियों में 10 लाख से ज्यादा कर्मचारी हैं और इऩ्होंने एक संयुक्त बयान जारी कर ये जानकारी दी है. अमेजन, बर्कशायर और जेपीमॉर्गन ने जनवरी में इस वेंचर को शुरू करने का ऐलान किया था. अमेजन और इसके पार्टनर ने कहा कि गैर जरूर खर्च को खत्म करने और बेहतर सेवा मुहैया कराने के लिए बड़े डाटा एनालिसिस और हाई टेक टूल्स की मदद लेंगे.  अतुल गवांडे का परिचय  अतुल गवांडे ब्रिंघम एंड वूमन हॉस्पिटल में जनरल और एंडोक्राइन सर्जन हैं. साथ ही हार्वर्ड टी एच चान स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ एंड हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में पढ़ाते भी हैं. 2014 में उन्होंने अपनी किताब- ‘बीइंग मॉर्टल- मेडिसिन एंड व्हाट मैटर्स इन ए एंड में बुजुर्गों की दयनीय जिंदगी का मुद्दा उठाया था. उन्होंने लिखा था कि जीवन के आखिरी पड़ाव की ओर पहुंचे बुजुर्गों की ओर हेल्थकेयर संस्थाओं का ध्यान नहीं रहता और वे एक मुश्किल जीवन बिताते हैं.  वॉरने बफेट ने बताई वजह  जेपी मॉर्गन के सीईओ जेमी डिमोन ने कहा कि वह चाहते हैं कि नया वेंचर जीवन के आखिरी समय तक उचित देखभाल पर असाधारण स्तर पर काम करने के लिए तैयार रहे. वहीं, डिमोन और अमेजन के जेफ बेजोस के साथ काम कर रहे बर्कशायर चेयरमैन और सीईओ वॉरेन बफेट ने कहा कि इस पद के लिए आए सभी उम्मीदवारों ने कहा कि वे खर्च को काबू में रखकर बेहतर हेल्थकेयर सेवा दे सकते हैं. जेमी, जेफ और मुझे भरोसा है कि हमें अतुल गवांडे के रूप में वो शख्स मिला है जो इस काम को पूरा कर सकता है

नया हेल्थकेयर वेंचर किया शुरू

इन तीनों कंपनियों में 10 लाख से ज्यादा कर्मचारी हैं और इऩ्होंने एक संयुक्त बयान जारी कर ये जानकारी दी है. अमेजन, बर्कशायर और जेपीमॉर्गन ने जनवरी में इस वेंचर को शुरू करने का ऐलान किया था. अमेजन और इसके पार्टनर ने कहा कि गैर जरूर खर्च को खत्म करने और बेहतर सेवा मुहैया कराने के लिए बड़े डाटा एनालिसिस और हाई टेक टूल्स की मदद लेंगे.

अतुल गवांडे का परिचय

अतुल गवांडे ब्रिंघम एंड वूमन हॉस्पिटल में जनरल और एंडोक्राइन सर्जन हैं. साथ ही हार्वर्ड टी एच चान स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ एंड हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में पढ़ाते भी हैं. 2014 में उन्होंने अपनी किताब- ‘बीइंग मॉर्टल- मेडिसिन एंड व्हाट मैटर्स इन ए एंड में बुजुर्गों की दयनीय जिंदगी का मुद्दा उठाया था. उन्होंने लिखा था कि जीवन के आखिरी पड़ाव की ओर पहुंचे बुजुर्गों की ओर हेल्थकेयर संस्थाओं का ध्यान नहीं रहता और वे एक मुश्किल जीवन बिताते हैं.

वॉरने बफेट ने बताई वजह

जेपी मॉर्गन के सीईओ जेमी डिमोन ने कहा कि वह चाहते हैं कि नया वेंचर जीवन के आखिरी समय तक उचित देखभाल पर असाधारण स्तर पर काम करने के लिए तैयार रहे. वहीं, डिमोन और अमेजन के जेफ बेजोस के साथ काम कर रहे बर्कशायर चेयरमैन और सीईओ वॉरेन बफेट ने कहा कि इस पद के लिए आए सभी उम्मीदवारों ने कहा कि वे खर्च को काबू में रखकर बेहतर हेल्थकेयर सेवा दे सकते हैं. जेमी, जेफ और मुझे भरोसा है कि हमें अतुल गवांडे के रूप में वो शख्स मिला है जो इस काम को पूरा कर सकता है

You May Also Like

English News