अमेरिका और यूरोप के बाद एशिया में बर्फीले तूफान ने मचाया हाहाकार…

अमेरिका और यूरोप के बाद एशिया में भी बर्फीले तूफान ने कहर ढा दिया है। चीन के एंहुई प्रांत में 13 लोग बर्फीले तूफान में मारे गए हैं। उधर, नेपाल के दक्षिणी जिलों में पिछले 48 घंटे में ठंड से नौ लोग मारे जा चुके हैं। अमेरिका की स्थिति हर दिन बद से बदतर होती जा रही है। माउंट वाशिंगटन में तापमान शून्य से 40 डिग्री नीचे पहुंच गया है। अमेरिका और यूरोप के बाद एशिया में बर्फीले तूफान ने मचाया हाहाकार...
 
अभी-अभी: सऊदी में राजमहल के सामने विरोध प्रदर्शन करने वाले 11 प्रिंस हुए गिरफ्तार
चीन के अधिकारियों के मुताबिक 2008 के बाद आया यह चीन का सबसे भयंकर तूफान है, जिससे अब तक 10 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हो चुके हैं। 19 करोड़ डॉलर की संपत्ति और 12 करोड़ डॉलर की फसल तबाह हो चुकी है। राज्य की राजधानी हेफेई समेत नौ शहरों जबरदस्त बर्फबारी के चलते आपात स्थिति घोषित कर दी गई है। एंहुई के अलावा हेनान, हुबई और हेनान जैसे राज्य भी पिछले एक हफ्ते से बर्फबारी की चपेट में हैं। 

बर्फ का नर्क बन गया है अमेरिका

अमेरिका के माउंट वाशिंगटन इलाके में तो तापमान शून्य से 48 डिग्री नीचे पहुंच गया है। यहां चल रही बेहद ठंडी हवाओं ने हालात बद से बदतर बना दिए हैं। बर्फीले हवाओं से सांस लेना मुश्किल हो गया है। पलकों पर इतनी बर्फ है कि इन्हें झपकाना भी मुश्किल हो गया है। टेक्सास से यहां आए 50 साल के एमी लाफलिन ने भयंकर हालात को बयां करते हुए बस इतना कहते हैं, यह बर्फ का नर्क है। 

बर्फ से जमे कई राज्य

माउंट वाशिंगटन आब्जर्वेटरी के मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक न्यू हैम्पशायर की इन पहाड़ियों पर तापमान -48 डिग्री है, पर 122 मील प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली बर्फीली हवा से ऐसा महसूस हो रहा है कि तापमान -100 डिग्री हो। हालांकि इस खतरनाक इलाके में इस बस कुछ वैज्ञानिक और लोग हैं। 
उधर, अमेरिका का उत्तर-पूर्वी और मध्य-पश्चिम इलाका बर्फ से जमा हुआ है। खासकर जार्जिया और नार्थ कैरोलिना में जीवन अस्त-व्यस्त है। उधर, बम्ब साइक्लोन से बोस्टन, न्यू इंग्लैंड का इलाका आर्कटिक में तब्दील हो गया है। बोस्टन में तो कारें बाढ़ के पानी में जम गई हैं। फ्लोरिडा से मेन के दस लाख से ज्यादा लोग पलायन कर चुके हैं। 

सड़कों पर जम गई हैं गाड़ियां

पूरे अमेरिकी टूंड्रा में खिड़कियां टूटने लगी हैं, कार की बैटरियां बेकार हो गई हैं। सड़कों पर ट्रक और कारें बंद पड़ गई हैं। 

You May Also Like

English News