अमेरिका: कंप्यूटर नेटवर्कों पर है उत्तर कोरिया के वायरस की नजर

अमेरिकी अधिकारियों ने कहा है कि उत्तर कोरिया में विकसित  कंप्यूटर को नुकसान पहुंचाने वाला सॉफ्टवेयर मालवेयर की अभी भी कई कंप्यूटर नेटवर्कों पर नजर है. जिसके जरिए हैकर सरकार, वित्तीय संस्थानों, मीडिया संगठनों और ऑटोमोटिव संस्थानों तक पहुंच बना सकते हैं.अमेरिका: कंप्यूटर नेटवर्कों पर है उत्तर कोरिया के वायरस की नजरDigital Tablets: पेट में जाकर बताएगा मरीज दवा ले रहा है या नहीं

कंप्यूटर नेटवर्कों पर घात लगाए बैठे हैकर

एजेंसी की खबर के मुताबिक, मंगलवार को जारी की गई चेतावनी में गृह सुरक्षा विभाग की डीएचएस कंप्यूटर इमरजेंसी रेस्पॉन्स टीम सीईआरटी ने कहा कि नेटवर्क के और अधिक दुरुपयोग के लक्ष्य से हैकर अभी भी शिकार हुए कंप्यूटर नेटवर्कों में घात लगाए हुए हो सकते हैं. रिपोर्ट में कहा गया कि कुछ नेटवर्क में वोल्गमर के बैकडोर ट्रोजन अभी भी मौजूद हो सकते हैं, जो हैकर को दूर से ही किसी भी सिस्टम को पूरी तरह नियंत्रित करने का मौका दे सकते हैं.

गृह सुरक्षा विभाग द्वारा जारी एक अलर्ट में तथाकथित हैकर समूह हिडन कोबरा की गुप्त गतिविधियों के प्रति चेतावनी दी गई है. इस समूह को लेजारस के नाम से भी जाना जाता है. इस साल की शुरुआत में अमेरिकी अधिकारियों ने वर्ष 2009 से हुए कई साइबर हमलों के पीछे इस समूह को जिम्मेदार बताया था. उन्होंने कहा था कि यह समूह उत्तर कोरियाई सरकार से जुड़ा हुआ है.  

बता दें कि नई चेतावनी के उत्तर कोरिया के द्वारा किए गए मिसाइल परीक्षणों से अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच बढ़ते तनाव के साथ मेल खाती है. जून में पिछली चेतावनी में कहा था कि उत्तर कोरिया अपने सैन्य और रणनीतिक उद्देश्यों को आगे बढ़ाने के लिए साइबर आपरेशनों पर भरोसा करना जारी रखेगा. हालांकि उत्तर कोरिया ने किसी भी तरह के साइबर हमले की योजना से इंकार किया था.

You May Also Like

English News