अमेरिका के कैनसस में तेलंगाना के छात्र की गोली मारकर हत्या

विदेशी जमान पर भारतीय पर हमले का एक और मामला सामने आया है. अमेरिका के कैनसस सिटी में भारतीय छात्र की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. मूल रूप से तेलंगाना के रहने वाले 26 साल के शरत कोप्पू इसी साल जनवरी में अमेरिका गए थे. शरत की अज्ञात शख्स ने गोली मारकर हत्या कर दी, अभी हत्यारों का कोई सुराग नहीं मिला है.विदेशी जमान पर भारतीय पर हमले का एक और मामला सामने आया है. अमेरिका के कैनसस सिटी में भारतीय छात्र की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. मूल रूप से तेलंगाना के रहने वाले 26 साल के शरत कोप्पू इसी साल जनवरी में अमेरिका गए थे. शरत की अज्ञात शख्स ने गोली मारकर हत्या कर दी, अभी हत्यारों का कोई सुराग नहीं मिला है.   शरत कोप्पू के कजिन भाई संदीप वेमुलाकोंडा ने कहा, ''मेरा भाई शरत कोप्पू अमेरिका में बड़ी उम्मीदों और बड़े सपनों के साथ पढ़ाई कर रहा था. वह वारंगल का रहने वाला है और जनवरी 2018 में कई सपने लेकर अमेरिका गया. कल रात अचानक किसी अनजान शख्स ने उसे गोली मार दी, वो अब इस दुनिया में नहीं है. यह हमारे लिए बहुत दुखद घटना है.''   उन्होंने कहा, ''पिछली रात को कैनसस सिटी के एक रेस्टोरेंट में था, रात करीब आठ बजे कुछ अनजान लोग आए और गोली चलाना शुरू कर दिया. दुर्भाग्य से शरत को भी गोली लगी और वो जख्मी हो गया. उसे अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गयी.''   संदीप वेमुलाकोंडा ने कहा कि हम विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से रिक्वेस्ट करते हैं कि वो इस मुद्दे को उठाएं और दोषी को गिरफ्तार किया जाए. इसके साथ ही हम अमेरिका में भारतीय दूतावास से भी निवेदन करते हैं कि शरत का पार्थिव शरीर हैदराबाद में मदद करें जिससे हम उनका अंतिम संस्कार कर सकें.

शरत कोप्पू के कजिन भाई संदीप वेमुलाकोंडा ने कहा, ”मेरा भाई शरत कोप्पू अमेरिका में बड़ी उम्मीदों और बड़े सपनों के साथ पढ़ाई कर रहा था. वह वारंगल का रहने वाला है और जनवरी 2018 में कई सपने लेकर अमेरिका गया. कल रात अचानक किसी अनजान शख्स ने उसे गोली मार दी, वो अब इस दुनिया में नहीं है. यह हमारे लिए बहुत दुखद घटना है.”

उन्होंने कहा, ”पिछली रात को कैनसस सिटी के एक रेस्टोरेंट में था, रात करीब आठ बजे कुछ अनजान लोग आए और गोली चलाना शुरू कर दिया. दुर्भाग्य से शरत को भी गोली लगी और वो जख्मी हो गया. उसे अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गयी.”

संदीप वेमुलाकोंडा ने कहा कि हम विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से रिक्वेस्ट करते हैं कि वो इस मुद्दे को उठाएं और दोषी को गिरफ्तार किया जाए. इसके साथ ही हम अमेरिका में भारतीय दूतावास से भी निवेदन करते हैं कि शरत का पार्थिव शरीर हैदराबाद में मदद करें जिससे हम उनका अंतिम संस्कार कर सकें.

You May Also Like

English News