अमेरिकी के राष्ट्रपति ट्रंप ने एफबीआई के प्रमुख निदेशक जेम्स कोमी को किया बर्खास्त

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने संघीय जांच एजेंसी (एफबीआई) के निदेशक जेम्स कोमी को पद से हटा दिया है। व्हाइट हाउस ने आधिकारिक रूप से इसकी पुष्टि की। व्हाइट हाउस से जारी एक बयान में कहा गया है, “राष्ट्रपति डोनल्ड जे ट्रंप ने एफ़बीआई के निदेशक जेम्स कोमी को बताया कि उन्हें पद से हटा दिया गया है।”

ये भी पढ़े: अभी अभी: अमेरिका ने अपने नागरिकों को नॉर्थ कोरिया न जाने की दी चेतावनी

व्हाइट हाउस ने कहा है कि जेम्स कोमी को एटर्नी जनरल जेफ़ सेशन्स की सिफ़ारिश पर पद से हटाया गया है। कोमी अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के दौरान ट्रंप के चुनाव प्रचार के रूस के साथ कथित संबंध की जांच की अगुवाई कर रहे थे।

राष्ट्रपति ट्रंप ने एक पत्र लिखकर जेम्स कोमी से कहा है कि वो प्रभावी तरीके से एफबीआई की अगुवाई नहीं कर रहे हैं।ट्रंप का ये फैसला ऐसे वक्त में आया है जब ये भी खबर सामने आई है कि पिछले हफ्ते जेम्स कोमी ने अमेरिकी कांग्रेस को हिलेरी क्लिंटन के ई-मेल के बारे में गलत जानकारी दी थी। हिलेरी ने हार के लिए रूस की ओर से की गई ‘हैकिंग’ को जिम्मेदार ठहराया था।

हिलेरी ने हार के लिए कोमी को ठहराया दोषी

पिछले साल नवंबर में राष्ट्रपति चुनाव से पहले डेमोक्रेट उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के विदेश मंत्री रहते हुए निजी सर्वर से ईमेल भेजने के मामले में नए ईमेल्स मिलने की जानकारी देकर जेम्स कोमी ने दोबारा जांच शुरू की थी। राष्ट्रपति चुनाव में अपनी हार के लिए हिलेरी क्लिंटन जेम्स कोमी को ज़िम्मेदार ठहरा चुकी हैं।
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में हिलेरी क्लिंटन के ईमेल का मामला काफ़ी छाया रहा था और डोनल्ड ट्रंप उन पर लगातार आरोप लगाते रहे थे। हिलेरी ने कहा था कि चुनाव से ठीक पहले एफबीआई निदेशक जेम्स कोमी ने उनके ईमेल की जांच वाली बात कही जिससे उनके चुनाव प्रचार अभियान को जबरदस्त धक्का पहुंचा।
हिलेरी क्लिंटन पर आरोप था कि उन्होंने अमेरिका के विदेश मंत्री के तौर पर अपने आधिकारिक मेल, अपने निजी सर्वर के ज़रिए भेजे। हालांकि बाद में एफबीआई ने कहा था कि हिलेरी क्लिंटन के ईमेल्स की नई खेप में किसी तरह की आपराधिक बात का कोई सबूत नहीं मिला है।

You May Also Like

English News