अमेरिकी विशेषज्ञ: कश्मीर विवाद को चुनौतीपूर्ण बना रही है पाक में आतंकी संगठनों की मौजूदगी

कश्मीर विवाद को सुलझाने में अमेरिका की कोई भूमिका नहीं है यह मानना है दक्षिण एशिया मामलों की एक प्रमुख अमेरिकी विशेषज्ञ का. भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे तनाव पर पाकिस्तान इसमें दखल देने के लिए अमेरिका से बार-बार मांग करता रहा है. विदेश संबंध परिषद में भारत, पाकिस्तान व दक्षिण एशिया मामलों की सीनियर फेलो एलिसा आइरेस ने कहा कि अमेरिका चाहेगा कि भारत और पाकिस्तान वार्ता के जरिए इस मुद्दे को सुलझाएं, लेकिन पाकिस्तानी सरजमीं पर आतंकी संगठनों की मौजूदगी के कारण हालात चुनौतीपूर्ण हैं.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी नेताओं ने कश्मीर विवाद सुलझाने में अमेरिका से दखल देने की बार-बार मांग की है, लेकिन भारत कहता आया है कि कश्मीर समस्या के समाधान में किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की कोई गुंजाइश नहीं है. यूएस-इंडिया स्ट्रेटजिक पार्टनरशिप फोरम के साथ भागीदारी में यहां भारत के महावाणिज्य दूतावास की ओर से आयोजित चौथे न्यू इंडिया व्याख्यान में एलिसा ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच विवादों को सुलझाने में अमेरिका की कोई भूमिका नहीं है। इस व्याख्यान का विषय था- ‘विश्व मंच पर भारत की भूमिका.’

.एलिसा ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच विवाद मध्य-पूर्व के देशों के बीच विवादों से अलग है. मध्य पूर्व के देश समाधान निकालने के लिए अमेरिका से मदद मांगते हैं. उन्होंने कहा कि यह वर्षों से स्पष्ट है कि पाकिस्तान अमेरिकी सहयोग और मध्यस्थता चाहेगा, लेकिन भारत बहुत सक्रिय रूप से इससे इनकार करता आया है, इसलिए अमेरिका की इसमें कोई भूमिका नहीं हो सकती है.

You May Also Like

English News