धोनी पूरा कर सकते हैं अर्धशतक का ‘शतक’, पॉन्टिंग को पीछे छोड़ सकते हैं विराट

भारत और श्रीलंका के बीच खेली जा रही पांच मैचों की वनडे सीरीज का पांचवां और आखिरी मैच रविवार को कोलंबो में खेला जाएगा। इस मैच से पहले सीरीज में टीम इंडिया कई रिकॉर्ड बना चुकी है। एक तरह से कहें तो श्रीलंका दौरे पर विजय रथ पर सवार टीम इंडिया के खिलाड़ियों के निए रिकॉर्ड्स के नाम रही है। ऐसे में पांचवां वनडे भी कैसे इससे अलग हो सकता है। पांचवें वनडे में जहां भारतीय टीम की निगाहें जीत दर्ज कर क्लीन स्वीप पर होंगी। यह भी एक रिकॉर्ड होगा। ऐसे में और भी कई रिकॉर्ड कोलंबो वनडे में दांव पर लगे होंगे। आईए कुछ ऐसे ही रिकॉर्ड्स पर नजर डालें।  धोनी पूरा कर सकते हैं अर्धशतक का 'शतक', पॉन्टिंग को पीछे छोड़ सकते हैं विराटधोनी पूरा कर सकते हैं अर्धशतक का 'शतक', पॉन्टिंग को पीछे छोड़ सकते हैं विराट

इंग्लैंड के इस तेज गेंदबाज ने दिया बड़ा बयान, कहा- 40 की उम्र तक कर सकता हूं गेंदबाजी

भारतीय टीम अगर पांचवें वनडे में जीत दर्ज कर लेती है तो श्रीलंकाई धरती पर वह ऐसा कारनामा पहली बार करेगी। इससे पहले टीम इंडिया ने श्रीलंका में पिछले दौरे में 4-1 से अपने नाम की थी। ऐसे में विराट कोहली श्रीलंकाई धरती पर ये कारनामा करने वाले पहले भारतीय कप्तान बन जाएंगे। ऐसे भी श्रीलंकाई टीम 1997 के बाद भारत के खिलाफ अपनी धरती पर कोई द्विपक्षीय सीरीज नहीं जीत सकी है। ऐसे में ये उसकी अब तक की सबसे बड़ी हार होगी। इससे पहले टीम इंडिया ने साल 2013 में विराट की कप्तानी में जिंबाब्वे को उसकी सरजमीं पर 5-0 से मात दी थी।  

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के क्रिकेट के भविष्य के लिए यह सीरीज संजीवनी साबित हुई है। धोनी ने इस सीरीज में कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। कोलंबो में चौथा वनडे उनके करियर का 300वां वनडे था। इस सीरीज में वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टंपिंग करने वाले खिलाड़ी बने। साथ ही वनडे में सबसे ज्यादा (73) बार नॉटआउट रहने का रिकॉर्ड भी उनके नाम दर्ज हुआ। ऐसे में पांचवें वनडे में धोनी के पास अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अर्धशतकों का शतक पूरा करने का मौका है। धोनी के नाम वनडे में 65, टेस्ट में 33 और टी-20 में एक अर्धशतक दर्ज है। चौथे वनडे में ही उनके नाम ये रिकॉर्ड दर्ज हो जाता वह 49 पर बनाकर पवेलियन लौटे थे।

इसके साथ ही वनडे में  स्टंपिंग का शतक पूरा करने का भी धोनी के पास मौका है। पल्लेकल में खेले गए सीरीज के दूसरे वनडे में 99 स्टंपिंग के साथ उन्होंने संगकारा के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली थी। यदि धोनी पांचवें वनडे में एक स्टंपिंग करने में कामयाब हो जाते हैं तो स्टंपिंग का शतक पूरा करने वाले दुनिया के पहले विकेट कीपर बन जाएंगे। इसके साथ ही धोनी किसी एक विरोधी टीम के खिलाफ सर्वाधिक अर्धशतक जमाने के मामले में पूर्व श्रीलंकाई कप्तान कुमार संगकारा को पीछे छोड़ सकते हैं। धोनी ने श्रीलंका के खिलाफ जबकि संगकारा ने भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा 18-18 अर्धशतक जड़े हैं। 

श्रीलंका के खिलाफ आखिरी वन-डे शतक जड़कर रोहित शर्मा विराट कोहली और शिखर धवन को पीछे छोड़ सकते हैं। श्रीलंका के खिलाफ तीनों ने लगातार दो-दो शतक लगाए हैं, लेकिन रोहित अगर अंतिम वन-डे में शतक की हैट्रिक पूरी करने में कामयाब हुए तो वो कोहली और गब्बर को पीछे छोड़ ऐसा करने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन जाएंगे। रोहित ने पल्लेकल में नाबाद 124 और कोलंबो में 104 रन की पारी खेली थी। श्रीलंका में लगातार दो वन-डे में शतक लगाने का कारनामा रोहित शर्मा के अलावा हर्शेल गिब्स, हाशिम अमला, तमीम इकबाल कर चुके हैं। 

रोहित और कोहली कोलंबो में सबसे ज्यादा बार 200 रन की साझेदारी का रिकॉर्ड अपने नाम कर सकते हैं।  अब तक चार जोड़ियों ने वनडे मैचों में तीन बार 200 रन या इससे ज्यादा की साझेदारी की है। ये जोड़ियां सचिन तेंदुलकर-सौरव गांगुली, गौतम गंभीर-विराट कोहली और महेला जयवर्धने-उपुल थरंगा की हैं। 

विराट कोहली अगर पांचवें वनडे में एक और शतक बनाने में कामयाब होते हैं तो वो श्रीलंका के खिलाफ लगातार दो बार शतकीय पारी खेलने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन जाएंगे। इसके अलावा वह वनडे में सबसे ज्यादा शतक बनाने के मामले में संयुक्त रूप से ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज रिकी पॉन्टिंग के साथ दूसरे स्थान पर आ जाएंगे। विराट फिलहाल सचिन तेंदुलकर(49) रिकी पॉन्टिंग(30) के बाद तीसरे पायदान पर हैं। 

You May Also Like

English News