अलीगंज की घटना फॉलोवर की बेटी ने गोली मरकर दी जान

लखनऊ अलीगंज थाने के परिसर में रहने वाले एसपी वेस्ट के फॉलोवर आशुतोष तिवारी की बेटी ने शनिवार के सुबह पिता की लाइसेंसी पिस्टल से खुद को गोली मर ली।घायल किशोरी को इलाज के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया जहाँ उसकी मौत हो गई। फ़िलहाल अभी तक इस बात का पता नहीं चल सका है की किशोरी ने आत्महत्या क्यों की। एसपी टीजी दुर्गेश कुमार ने बताया कि सुल्तानपुर जनपद निवासी आशुतोष तिवारी पुलिस विभाग में फॉलोवर के पद के कार्यरत है। वह मौजूद समय में अपने परिवार के साथ अलीगंज थाने के परिसर में बने सरकारी आवास में रहता है। आशुतोष इस समय एसपी वेस्ट के दफ्तर में तैनात है।fire_murder_650_052016062121

बताया जाता है की शनिवार की सुबह आशुतोष का परिवार सो रहा था। इस बीच उसकी पत्नी सो कर उठी और किचन में चाय बनाने चली गई। इसी बीच अचानक कमरे में गोली चलने की आवाज़ सुनी दी। गोली की आवाज़ सुनकर परिवार के लोग और आसपास रहने वाले अन्य पुलिसकर्मी वहां पहुच गए। लोगो ने जब कमरे में जाकर देख तो आशुतोष की 15 साल की बेटी नेहा तिवारी का खून से लतपथ पड़ी थी। पास में ही पिता की पिस्टल भी मौजूद थी।

किशोरी की यह हालात देख वहां मौजूद लोग दांग रह गये। लोग नेहा को आनन फानन में इलाज के लिए ट्रामा सेंटर लेकर पहुचे जहां डॉक्टरों ने उसको मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुची चौक पुलिस ने नेहा के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। वही अलीगंज पुलिस ने घटना में प्रयुक्त लाइसेंसी पिस्टल को अपने कब्जे में ले लिया है।

इंस्पेक्टर अलीगंज का कहना है की अभी तक इस बात का पता नहीं चल सका है की नेहा ने आत्महत्या क्यों की। परिवार वालो का कहना है की उनको भी समझ में नहीं आ रहा है की नेहा ने इस तरह आत्महत्या करने का कदम क्यों उठाया। नेहा अलीगंज स्थित केंद्रीय स्कूल में काल्स 11 की छात्रा थी। फॉलोवर आशुतोष के परिवार में दो बेटे और दो बेटियां थी। बड़ा बेटा गांव में रहता है।

 
 
 
 

You May Also Like

English News