अवैध संबंधों के लिए मां ने प्रेमी संग मिल बेटे के साथ किया खौफनाक काम

थाना सदर नाभा इलाके में आते गांव छींटावाला में कबड्डी खिलाड़ी सुखवीर सिंह उर्फ सुक्खी का कत्ल उसकी मां ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर किया था। मां ने अवैध संबंधों में रोड़ा बने सुखवीर के मुंह पर तकिया रखने के बाद दम घोंटकर मार डाला था। इसके बाद रात को ही उसके मुंह में कीटनाशक दवाई डाल शव को घर के बाहर गेट के साथ सटाकर रख दिया था। यह दवा इसलिए डाली थी, ताकि इसे आत्महत्या का केस बना सके।थाना सदर नाभा इलाके में आते गांव छींटावाला में कबड्डी खिलाड़ी सुखवीर सिंह उर्फ सुक्खी का कत्ल उसकी मां ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर किया था। मां ने अवैध संबंधों में रोड़ा बने सुखवीर के मुंह पर तकिया रखने के बाद दम घोंटकर मार डाला था। इसके बाद रात को ही उसके मुंह में कीटनाशक दवाई डाल शव को घर के बाहर गेट के साथ सटाकर रख दिया था। यह दवा इसलिए डाली थी, ताकि इसे आत्महत्या का केस बना सके।   मृतक सुखवीर सिंह के नाना के बड़े भाई बलवीर सिंह की शिकायत के बाद पुलिस ने पड़ताल को तकनीकी रूप से करते हुए आरोपिता नरिंदर कौर व उसके प्रेमी सिमरदीप सिंह उर्फ सिमरजीत सिंह उर्फ डोगर को गिरफ्तार कर लिया है। एसएसपी मंदीप सिंह सिद्धू ने कहा कि आरोपिता ने इस मामले को पूरी तरह से आत्महत्या दिखाने की कोशिश की थी। पुलिस ने बारीकी से जांच करने के बाद दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।  मां की प्रेम कहानी में ऐसे रोड़ा बना था सुक्खी : एसएसपी   बम बनाने के आरोपी बेटे के बाद मां ने भी की खुदकशी यह भी पढ़ें  सिद्धू ने बताया कि नरिंदर कौर के पति बलजिंदर सिंह की साल 2010 में सड़क हादसे में मौत हो गई थी। साल 2014 में मोबाइल की दुकान पर काम करने वाले सिमरदीप सिंह के साथ नरिंदर कौर की मुलाकात हुई थी, जिसके बाद दोनों की नजदीकी बढ़ती चली गई। आरोपित सिमरदीप सिंह अक्सर नरिंदर कौर के घर पर आने लगा। सुखवीर सिंह को मां के अवैध संबंधों का पता चलने पर उसने विरोध करना शुरू कर दिया।   पत्‍नी से झगड़े के बाद ससुर आया समझाने तो दामाद ने किया यह खौफनाक काम यह भी पढ़ें नरिंदर कौर ने अपने प्रेम संबंधों में सुखवीर सिंह को रोड़ा समझते हुए 19 अगस्त की रात को तकिया मुंह पर रखकर सुखवीर सिंह का कत्ल कर दिया और उसे बाद में कीटनाशक दवाई भी पिला दी। रात को ही सिमरदीप सिंह को फोन करके घर बुलाने के बाद शव को घर के बाहर रखवाया था। सुबह के समय सिमरदीप सिंह का शव संदेह भरी हालत में मिलने की बात कहते हुए उसका संस्कार करने की कोशिश की, लेकिन मामला गरमाने पर पोस्टमार्टम करवाया गया।  पुलिस ने पहले इस मामले में धारा 174 की कार्रवाई की थी लेकिन अब कत्ल की धारा सहित अन्य धाराएं लगाकर दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। सुबूत मिटाने के लिए फोन को प्लास्टिक के लिफाफे में रखकर घर की छत पर छिपा दिया था, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है।   घरेलू विवाद में ड्राइवर पति ने किया पत्नी पर वार, मौके पर ही मौत यह भी पढ़ें ससुर का कत्ल भी कबूला  नरिंदर कौर के प्रेम संबंधों के बारे में उसके ससुर जगदेव सिंह को भी पता चल गया था। जगदेव सिंह ने नरिंदर कौर को आरोपित सिमरदीप सिंह से मिलने से लगातार रोकना शुरू कर दिया। यही नहीं शराब के नशे में जगदेव सिंह ने नरिंदर कौर को कई बार पीटा और नाजायज खर्च करने से भी रोका। साल 2014 में शुरू हुए इन अवैध संबंधों में पहला कत्ल जगदेव सिंह का हुआ था। नरिंदर कौर ने अपने ससुर जगदेव सिंह के भी मुंह पर तकिया रखकर कत्ल किया था, जिसे हार्ट अटैक का नाम दे दिया। बेटे के कत्ल के आरोप में गिरफ्तार महिला ने ससुर के कत्ल का जुर्म भी कबूल कर लिया है।   बेटों को शराब पीने से रोका तो पिता को पीट-पीटकर मार डाला यह भी पढ़ें ऐसे मिले कत्ल के सुबूत   पोस्टमार्टम में सुखवीर के पेट में जहरीली वस्तु होने की रिपोर्ट मिली, लेकिन घटनास्थल पर आसपास कहीं पर भी जहर के सुराग नहीं मिले थे। सुखवीर के नाना के बड़े भाई को भी था आरोपिता नरिंदर कौर व उसके प्रेमी पर शक। आरोपिता के मोबाइल फोन का घर पर न मिलना और उसके कॉल का रिकॉर्ड। घर का माहौल व आरोपित सिमरदीप सिंह का नरिंदर कौर के घर लगातार आना-जाना। एक महीने में पुलिस ने सुलझाए चार ब्लाइंड मर्डर केस  एसएसपी सिद्धू ने कहा कि जिला पुलिस ने लगातार चार अंधे कत्ल की गुत्थी एक महीने के अंदर सुलझाई है। दोणकलां में बुजुर्ग से दुष्कर्म व कत्ल का केस, केवल सिंह उर्फ मुस्कान कत्ल के, सुखवीर सिंह व उसके दादा जगदेव सिंह का कत्ल केस हल करते हुए सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

मृतक सुखवीर सिंह के नाना के बड़े भाई बलवीर सिंह की शिकायत के बाद पुलिस ने पड़ताल को तकनीकी रूप से करते हुए आरोपिता नरिंदर कौर व उसके प्रेमी सिमरदीप सिंह उर्फ सिमरजीत सिंह उर्फ डोगर को गिरफ्तार कर लिया है। एसएसपी मंदीप सिंह सिद्धू ने कहा कि आरोपिता ने इस मामले को पूरी तरह से आत्महत्या दिखाने की कोशिश की थी। पुलिस ने बारीकी से जांच करने के बाद दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

मां की प्रेम कहानी में ऐसे रोड़ा बना था सुक्खी : एसएसपी

सिद्धू ने बताया कि नरिंदर कौर के पति बलजिंदर सिंह की साल 2010 में सड़क हादसे में मौत हो गई थी। साल 2014 में मोबाइल की दुकान पर काम करने वाले सिमरदीप सिंह के साथ नरिंदर कौर की मुलाकात हुई थी, जिसके बाद दोनों की नजदीकी बढ़ती चली गई। आरोपित सिमरदीप सिंह अक्सर नरिंदर कौर के घर पर आने लगा। सुखवीर सिंह को मां के अवैध संबंधों का पता चलने पर उसने विरोध करना शुरू कर दिया।

नरिंदर कौर ने अपने प्रेम संबंधों में सुखवीर सिंह को रोड़ा समझते हुए 19 अगस्त की रात को तकिया मुंह पर रखकर सुखवीर सिंह का कत्ल कर दिया और उसे बाद में कीटनाशक दवाई भी पिला दी। रात को ही सिमरदीप सिंह को फोन करके घर बुलाने के बाद शव को घर के बाहर रखवाया था। सुबह के समय सिमरदीप सिंह का शव संदेह भरी हालत में मिलने की बात कहते हुए उसका संस्कार करने की कोशिश की, लेकिन मामला गरमाने पर पोस्टमार्टम करवाया गया।

पुलिस ने पहले इस मामले में धारा 174 की कार्रवाई की थी लेकिन अब कत्ल की धारा सहित अन्य धाराएं लगाकर दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। सुबूत मिटाने के लिए फोन को प्लास्टिक के लिफाफे में रखकर घर की छत पर छिपा दिया था, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है।

ससुर का कत्ल भी कबूला

नरिंदर कौर के प्रेम संबंधों के बारे में उसके ससुर जगदेव सिंह को भी पता चल गया था। जगदेव सिंह ने नरिंदर कौर को आरोपित सिमरदीप सिंह से मिलने से लगातार रोकना शुरू कर दिया। यही नहीं शराब के नशे में जगदेव सिंह ने नरिंदर कौर को कई बार पीटा और नाजायज खर्च करने से भी रोका। साल 2014 में शुरू हुए इन अवैध संबंधों में पहला कत्ल जगदेव सिंह का हुआ था। नरिंदर कौर ने अपने ससुर जगदेव सिंह के भी मुंह पर तकिया रखकर कत्ल किया था, जिसे हार्ट अटैक का नाम दे दिया। बेटे के कत्ल के आरोप में गिरफ्तार महिला ने ससुर के कत्ल का जुर्म भी कबूल कर लिया है।

ऐसे मिले कत्ल के सुबूत

  1. पोस्टमार्टम में सुखवीर के पेट में जहरीली वस्तु होने की रिपोर्ट मिली, लेकिन घटनास्थल पर आसपास कहीं पर भी जहर के सुराग नहीं मिले थे।
  2. सुखवीर के नाना के बड़े भाई को भी था आरोपिता नरिंदर कौर व उसके प्रेमी पर शक।
  3. आरोपिता के मोबाइल फोन का घर पर न मिलना और उसके कॉल का रिकॉर्ड।
  4. घर का माहौल व आरोपित सिमरदीप सिंह का नरिंदर कौर के घर लगातार आना-जाना।

एक महीने में पुलिस ने सुलझाए चार ब्लाइंड मर्डर केस

एसएसपी सिद्धू ने कहा कि जिला पुलिस ने लगातार चार अंधे कत्ल की गुत्थी एक महीने के अंदर सुलझाई है। दोणकलां में बुजुर्ग से दुष्कर्म व कत्ल का केस, केवल सिंह उर्फ मुस्कान कत्ल के, सुखवीर सिंह व उसके दादा जगदेव सिंह का कत्ल केस हल करते हुए सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

You May Also Like

English News