अहमदाबाद से हर साल करीब 50 बांग्लादेशी पकडे जाते हैं

असम में 40 लाख लोगों की नागरिकता पर उठे सवालों के बीच अहमदाबाद पुलिस ने अवैध रुप से रह रहे 11 बांग्लादेशियों की धर पकड की है। अहमदाबाद से हर साल करीब 50 बांग्लादेशी पकडे जाते हैं। स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने इनकी रिपोर्ट गृह मंत्रालय को सौंपी है। असम में 40 लाख लोगों की नागरिकता पर उठे सवालों के बीच अहमदाबाद पुलिस ने अवैध रुप से रह रहे 11 बांग्लादेशियों की धर पकड की है। अहमदाबाद से हर साल करीब 50 बांग्लादेशी पकडे जाते हैं। स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने इनकी रिपोर्ट गृह मंत्रालय को सौंपी है।    गुजरात पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप के उपायुक्त डॉ हर्षद पटेल व सहायक आयुक्त बी सी सोलंकी ने अहमदाबाद के ओढव इलाके में अभियान चलाकर अवैध रुप से रह रहे 11 बांग्लादेशियों की धरपकड की है। यह सभी छोटा मोटा काम अथवा मजदूरी कर अपना गुजारा कर रहे थे। एसओजी इन सभी को अपने कार्यालय पर ले आई है, इनकी रिपोर्ट राज्य के गृह मंत्रालय को सौंप दी है।  केंद्रीय गृह मंत्रालय की मंजूरी के बाद इन सभी को सीमा सुरक्षा बल के सुपूर्द किया जाएगा ताकि वह इन्हें बांग्लादेश की सीमा तक छोड दें। अहमदाबाद पुलिस हार साल करीब 50 बांग्लादेशियों की धर पकड करती है जो यहां अवैध रूप से रह रहेे होते हैं, इनके पास कोई पासपोर्ट भी नहीं होता है। बीते पांच साल में पुलिस करीब ढाई सौ बांग्लादेशियों को पकडकर उनके देश वापस भेज चुकी है।

गुजरात पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप के उपायुक्त डॉ हर्षद पटेल व सहायक आयुक्त बी सी सोलंकी ने अहमदाबाद के ओढव इलाके में अभियान चलाकर अवैध रुप से रह रहे 11 बांग्लादेशियों की धरपकड की है। यह सभी छोटा मोटा काम अथवा मजदूरी कर अपना गुजारा कर रहे थे। एसओजी इन सभी को अपने कार्यालय पर ले आई है, इनकी रिपोर्ट राज्य के गृह मंत्रालय को सौंप दी है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय की मंजूरी के बाद इन सभी को सीमा सुरक्षा बल के सुपूर्द किया जाएगा ताकि वह इन्हें बांग्लादेश की सीमा तक छोड दें। अहमदाबाद पुलिस हार साल करीब 50 बांग्लादेशियों की धर पकड करती है जो यहां अवैध रूप से रह रहेे होते हैं, इनके पास कोई पासपोर्ट भी नहीं होता है। बीते पांच साल में पुलिस करीब ढाई सौ बांग्लादेशियों को पकडकर उनके देश वापस भेज चुकी है।

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com