आंध्र के पूर्व मुखिया को फिर मिला कांग्रेस का साथ, मजबूत करेंगे राहुल का हाथ

आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री किरण कुमार रेड्डी ने एक बार फिर कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. बता दे कि उन्होंने इससे पहले कांग्रेस से इस्तीफा देकर स्वयं की एक नए पार्टी की स्थापना की थी. लेकिन अब एक बार फिर उन्होंने कांग्रेस का हाथ थाम लिया हैं. बता दे कि वे अविभाजित आंध्र प्रदेश के मुखिया था, और आंध्र प्रदेश के विभाजन के समय उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. इतना ही नहीं उन्होंने कांग्रेस का साथ भी छोड़ दिया था. आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री किरण कुमार रेड्डी ने एक बार फिर कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. बता दे कि उन्होंने इससे पहले कांग्रेस से इस्तीफा देकर स्वयं की एक नए पार्टी की स्थापना की थी. लेकिन अब एक बार फिर उन्होंने कांग्रेस का हाथ थाम लिया हैं. बता दे कि वे अविभाजित आंध्र प्रदेश के मुखिया था, और आंध्र प्रदेश के विभाजन के समय उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. इतना ही नहीं उन्होंने कांग्रेस का साथ भी छोड़ दिया था.     किरण कुमार रेड्डी ने एक बार फिर कांग्रेस ज्वाइन करने के अवसर पर कहा कि ''कांग्रेस में वापस आ कर खुश हूं. मैंने इस्तीफा दिया था लेकिन पार्टी से अलग नहीं हो सकता. मुझे और मेरे परिवार को जो भी पहचान मिली वो कांग्रेस की वजह से है.'' मौजूदा हालात पर अपने विचार व्यक्त करते हुए और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर उन्होंने कहा कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए मेरा ऐसा मानना है कि राहुल गांधी के हाथ को मजबूत करने की जरूरत है.    किरण कुमार रेड्डी ने कहा कि आंध्र प्रदेश के लोगों को जब तक न्याय नहीं मिलेगा. तब तक दिल्ली में कांग्रेस सत्ता में नहीं आ जाती. भाजपा पर भी तंज कसने में रेड्डी पीची नहीं रहे. उन्होंने माना कि  मौजूदा केंद्र सरकार और राज्य सरकार इसमें बुरी तरह फेल हुई है. आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री किरण कुमार रेड्डी ने एक बार फिर कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. बता दे कि उन्होंने इससे पहले कांग्रेस से इस्तीफा देकर स्वयं की एक नए पार्टी की स्थापना की थी. लेकिन अब एक बार फिर उन्होंने कांग्रेस का हाथ थाम लिया हैं. बता दे कि वे अविभाजित आंध्र प्रदेश के मुखिया था, और आंध्र प्रदेश के विभाजन के समय उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. इतना ही नहीं उन्होंने कांग्रेस का साथ भी छोड़ दिया था.     किरण कुमार रेड्डी ने एक बार फिर कांग्रेस ज्वाइन करने के अवसर पर कहा कि ''कांग्रेस में वापस आ कर खुश हूं. मैंने इस्तीफा दिया था लेकिन पार्टी से अलग नहीं हो सकता. मुझे और मेरे परिवार को जो भी पहचान मिली वो कांग्रेस की वजह से है.'' मौजूदा हालात पर अपने विचार व्यक्त करते हुए और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर उन्होंने कहा कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए मेरा ऐसा मानना है कि राहुल गांधी के हाथ को मजबूत करने की जरूरत है.    किरण कुमार रेड्डी ने कहा कि आंध्र प्रदेश के लोगों को जब तक न्याय नहीं मिलेगा. तब तक दिल्ली में कांग्रेस सत्ता में नहीं आ जाती. भाजपा पर भी तंज कसने में रेड्डी पीची नहीं रहे. उन्होंने माना कि  मौजूदा केंद्र सरकार और राज्य सरकार इसमें बुरी तरह फेल हुई है.

किरण कुमार रेड्डी ने एक बार फिर कांग्रेस ज्वाइन करने के अवसर पर कहा कि ”कांग्रेस में वापस आ कर खुश हूं. मैंने इस्तीफा दिया था लेकिन पार्टी से अलग नहीं हो सकता. मुझे और मेरे परिवार को जो भी पहचान मिली वो कांग्रेस की वजह से है.” मौजूदा हालात पर अपने विचार व्यक्त करते हुए और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर उन्होंने कहा कि वर्तमान स्थिति को देखते हुए मेरा ऐसा मानना है कि राहुल गांधी के हाथ को मजबूत करने की जरूरत है.

किरण कुमार रेड्डी ने कहा कि आंध्र प्रदेश के लोगों को जब तक न्याय नहीं मिलेगा. तब तक दिल्ली में कांग्रेस सत्ता में नहीं आ जाती. भाजपा पर भी तंज कसने में रेड्डी पीची नहीं रहे. उन्होंने माना कि  मौजूदा केंद्र सरकार और राज्य सरकार इसमें बुरी तरह फेल हुई है. 

You May Also Like

English News