आईएएस अधिकारी अनुराग की मौत के मामले आठ लोगों से एसआईटी की टीम ने की पूछताछ!

लखनऊ : आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की मौत के मामले में छानबीन कर रही एसआईटी अभी किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है। शुक्रवार को एसआईटी ने 8 लोगों से इस संबंध में पूछताछ की। वहीं आर्यन रेस्टोरेंट की सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस हासिल कर ली है।

72 घंटे में IAS अनुराग तिवारी की मौत का सच सामने लाएगी SIT..

एसएसपी का कहना है कि रेस्टोरेंट में अनुराग तिवारी के साथ जो लोग मौजूद थे, सबके बातचीत की जायेगी। एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि गुरुवार की दोपहर उन्होंने आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की मौत के मामले में एसआईटी का गठन किया था। एसआईटी के गठन के बाद टीम ने अपनी जांच शुरू कर दी। शुक्रवार को पुलिस ने मीरा बाई गेस्ट हाउस के अंदर से लेकर बाहर तक 8 अलग-अलग लोगों से पूछताछ की।

इस पूछताछ में गेस्ट हाउस के कर्मचारी व बाहर होटल लगाने वाले लोग शामिल थे। इसके अलावा एसआईटी की टीम ने आर्यन रेस्टोरेंट की सीसीटीवी फुटेज भी हासिल कर ली है। पुलिस ने 17 मई की शाम 6 बजे से लेकर रात 12 बजे तक की फुटेज हासिल की है। उन्होंने बताया कि फुटेज की मदद से इस बात का पता लगाया जा रहा है कि आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी के साथ रेस्टोरेंट में कौन-कौन लोग मौजूद थे। एसएसपी का कहना है कि आईएएस अधिकारी के साथ मौजूद लोगों से बारी-बारी बातचीत की जायेगी।

इसके अलावा एसआईटी टीम ने आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी के मोबाइल फोन का पूरा रिकार्ड निकाल लिया है। पुलिस कॉल डीटेल की मदद से इस बात का पता लगा रही है कि आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की किन-किन लोगों से बातचीत हुई थी। इसके अलावा पुलिस मीरा बाई गेस्ट हाउस के आसपास के इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे भी खंगाल रही है। अभी तक पुलिस को कोई भी सीसीटीवी फुटेज हाथ नहीं लगी है। एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि उन्होंने एसआईटी को 72 घंटे का समय दिया है। अभी सिर्फ 24 घंटे हुए हैं। आने वाले समय में कुछ तथ्य और निकल कर सामने आ सकते हैं। उन्होंने एसआईटी की जांच पूरी होने पर उसको साझा करने की बात कही है।
परिवार के लोग अगर तहरीर देते हैं तो रिपोर्ट दर्ज की जायेगी: एसएसपी
आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की मौत के मामले में एसएसपी दीपक कुमार का कहना है कि परिवार के लोगों से वह लगातार सम्पर्क में हैं। अगर परिवार के लोग किसी तरह की कोई शिकायती पत्र पुलिस को देते हैं तो उनकी तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज की जायेगी। वहीं इस संबंध में सीबीआई जांच के बारे में एसएसपी का कहना है कि परिवार वाले इस संबंध में अगर पत्र देते हैं तो उनकी इस मांग को शासन को भेज दिया जायेगा।
एम्स के डाक्टरों की मौजूदगी फारेङ्क्षसक परिक्षण के लिए एसएसपी ने लिखा पत्र
आईएस अधिकारी अनुराग तिवारी की मौत के मामले में एसएसपी दीपक कुमार ने शुक्रवार को बताया कि उन्होंने फारेंसिक जांच में एम्स के डाक्टरों की भी मदद लेने के लिए उन्होंने फारेंसिक डायरेक्टर को पत्र लिखा है। दीपक कुमार का कहना है कि वह चाहते हैं कि जिस समय आईएएस अधिकारी के दिल और अन्य शरीर के हिस्सों की फारेंसिक जांच हो उस वक्त एम्स के डाक्टर भी मौजूद रहें।
भाई ने पीएमओ को सीबीआई जांच के लिए लिखा पत्र
आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की संदिग्ध मौत की सच्चाई जानने के लिए उनके भाई मयंक ने पीएमओ को इस संबंध में पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने भाई की मौत की जांच सीबीआई से कराने की बात लिखी है। उनका कहना है कि जिस तरह उनके भाई की मौत हुई, कई सवाल ऐसे हैं जो उलझे हुए हैं। इन सवालों का पता सीबीबाई जैसे जांच एजेंसी ही पता कर सकती है। परिवार के लोगों ने इस संबंध में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से भी जल्द मुलाकात कर न्याय की मांग करने की बात कही है।

You May Also Like

English News