आखिरी रेस में चुके बोल्ट, 100 मीटर फाइनल में तीसरे स्थान पर पहुचें…

जमैकाई दिग्गज उसैन बोल्ट अपनी आखिरी रेस में बादशाहत बरकरार नहीं रख पाए. वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 100 मीटर में वह तीसरे स्थान पर रहे. दुनिया की नजरें शनिवार देर रात लंदन के ओलंपिक स्टेडियम पर थी. उनके फैंस गोल्डन कामयाबी की आस लगाए थे, लेकिन बोल्ट को 9.95 सेकंड के साथ ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा.पहले दोनों स्थानों पर अमेरिकी धावकों ने कब्जा जमाया.आखिरी रेस में चुके बोल्ट, 100 मीटर फाइनल में तीसरे स्थान पर पहुचें...विजेंदर का बयान, बॉर्डर पर शांति के लिए चीनी मुक्केबाज को वापस दी जीत की बेल्ट

35 साल के जस्टिन गैटलिन ने 9.92 सेकंड के साथ गोल्ड मेडल, जबकि क्रिस्टियन कोलमैन ने 9.94 सेकंड में रेस पूरी कर सिल्वर मेडल जीता. बोल्ट ने सबसे पहले फरवरी 2015 में रिटायर होने के अपने फैसले की घोषणा की थी. पहले तो उन्होंने रियो ओलंपिक में अपने करियर को समाप्त करने को सोचा था, जहां उन्होंने तीन गोल्ड मेडल जीते थे. आखिरकार उन्होंने लंदन के वर्ल्ड चैंपियनशिप में आखिरी बार दौड़ लगाने का फैसला किया था.

30 साल के बोल्ट ने अपने करियर में 11 वर्ल्ड और 8 ओलंपिक पदक जीते. उनके नाम 100 मीटर का विश्व रिकॉर्ड है. बोल्ट ने 9.58 सेकंड में 100 मीटर रेस पूरी की थी. इसके अलावा 200 मीटर में 19.19 सेकंड के साथ वह विश्व रिकॉर्ड अपने नाम रखे हुए हैं. इसके अलावा बोल्ट के नाम चार गुणा 100 मीटर का भी वर्ल्ड रिकॉर्ड है. बोल्ट ने बीजिंग (2008), लंदन (2012) और रियो (2016) ओलंपिक खेलों में 100, 200 तथा चार गुणा 100 मीटर रिले का स्वर्ण जीता था.

You May Also Like

English News