आखिर क्यों भारत के इन चेहरों को PM मोदी मानते हैं पाकिस्तानी एजेंट?

गुजरात चुनाव में राजनीतिक वार-पलटवार के बीच अब पाकिस्तान की भी एंट्री हो गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा रैली में कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के घर हुई तथाकथित सीक्रेट मीटिंग पर सवाल उठाए जाने पर बयानबाजी बढ़ती जा रही है. पाकिस्तान की ओर से भी इस मामले पर बयान आया है. पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट किया है कि भारत को अपनी चुनावी बहस में पाकिस्तान को नहीं घसीटना चाहिए.  आखिर क्यों भारत के इन चेहरों को PM मोदी मानते हैं पाकिस्तानी एजेंट?पंचकूला कोर्ट में लाई गई राम रहीम की लाडली, चार्जशीट पर आज होगी सुनवाई

क्या कहा था PM मोदी ने?

आपको बता दें कि रविवार को पालनपुर में पीएम मोदी ने मणिशंकर अय्यर पर निशाना साधते हुए कहा था कि जिसने गुजरात का अपमान किया, उसने पाकिस्तानी उच्चायुक्त के साथ गुप्त मीटिंग क्यों की? आखिर पाकिस्तान में सेना और इंटेलीजेंस में उच्च पदों पर रहे लोग गुजरात में अहमद पटेल को सीएम बनाने की मदद की बात क्यों कर रहे हैं? इसकी क्या वजह है?

क्या आया पाकिस्तान का रिएक्शन?

मामले पर राजनीति बढ़ते देख पाकिस्तान ने इस विवाद में एंट्री मारी. पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैसल ने ट्वीट कर कहा, भारत को अपनी राजनीतिक बहस में पाकिस्तान को नहीं घसीटना चाहिए, इस तरह की झूठी षड्यंत्र की खबरों के बलबूते पर जीत की नहीं सोचना चाहिए.

कौन हुआ था मीटिंग में शामिल?

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इस बैठक में काफी बड़ी हस्तियां शामिल हुई थीं. बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, पूर्व सेनाध्यक्ष दीपक कपूर, पूर्व विदेश मंत्री के. नटवर सिंह शामिल हुए थे. इनके अलावा पूर्व राजनयिक सलमान हैदर, टीसीए राघवन, शरत शब्रवाल, के. शंकर बाजपाई और चिन्मय घरेखां भी बैठक में मौजूद थे. आपको बता दें कि के. शंकर बाजपाई, टीसीए राघवन और शरत शब्रवाल पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त भी रह चुके हैं.

ये डिनर पूर्व पाकिस्तानी विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की भारत यात्रा के दौरान 6 दिसंबर को हुआ. इंडियन एक्सप्रेस के ही मुताबिक, पूर्व सेनाध्यक्ष दीपक कपूर ने इस बैठक में शामिल होने की पुष्टि भी की है. सवाल है कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निशाने पर सिर्फ बैठक में शामिल हुए कांग्रेसी हैं या फिर सभी लोग?

क्या था पीएम का पूरा आरोप?

एम मोदी ने अपने भाषण में ये भी कहा था कि पाकिस्तानी उच्चायुक्त के साथ गुप्त बैठकें क्यों की गई थीं? उन्होंने अय्यर के बयान का हवाला देते हुए कहा कि उन्होंने मेरा नहीं पूरे गुजरात का अपमान किया है. पीएम मोदी ने ये भी कहा कि इस गुप्त मीटिंग में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री ने भी हिस्सा लिया.

खुलेआम करनी थी मीटिंग

इसके बाद पीएम मोदी ने साणंद की जनसभा में ये मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा, ‘मणिशंकर अय्यर के घर मीटिंग हुई. जिसमें पाकिस्तान के उच्चायुक्त, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह थे और उसके बाद उन्होंने कहा कि मोदी नीच है.’ मोदी ने ये भी कहा कि पाकिस्तान एक संवेदनशील मसला है. इसलिए खुलेआम मीटिंग करनी चाहिए थी.

अहमद पटेल को सीएम बनाना चाहता है PAK

पीएम मोदी ने दावा किया कि पाकिस्तान के पूर्व आर्मी अध्यक्ष राशिद ने अहमद पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाने का समर्थन किया. पीएम ने कहा कि ये चिंता की बात है और इस मीटिंग का जवाब देना पड़ेगा. मोदी ने कहा कि पाकिस्तान सेना के पूर्व डीजी ने कहा था कि अहमद पटेल को गुजरात का सीएम बनना चाहिए.

You May Also Like

English News