आगरा में एसओजी के सिपाही की गोली मारकर हत्या, पिस्टल भी लूटी गयी !

आगरा : यूपी में योगी की सरकार बनने के बाद पहली बार एक सिपाही की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। यह घटना उत्तर प्रदेश के आगरा जनपद में हुई जहां बदमाशों ने बुधवार रात शमसाबाद थाने से महज 500 मीटर दूर एसओजी के सिपाही की गोली मारकर हत्या कर दी।

हत्या के बाद उसकी सर्विस पिस्टल लूटकर भाग गए। घटना के समय सिपाही ने थोड़ी दूरी पर खड़े लोगों से मदद को गुहार लगाई लेकिन सब तमाशबीन बने रहे। घटना के बाद महकमे में खलबली मच गई है। लखनऊ से घटना की रिपोर्ट तलब कर ली है।
मूल रूप से मैनपुरी के किशनी में चांदा निवासी अजय यादव छह माह से शमसाबाद में तैनात थे। इलाके में हुई कई घटनाओं के खुलासा करने के चलते वह क्राइम ब्रांच से भी अटैच थे। शाम को उनको मुखबिर से शमसाबाद बाइपास पर बदमाशों के आने की सूचना मिली। शाम सात बजे मुखबिर को बाइक से साथ लेकर अजय निकले। थाना गढ़ी गांव के पास उसे छोड़ दिया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बाइक लेकर अजय रोड किनारे खड़े हो गए।

रात 7.45 बजे अपाचे बाइक सवार तीन बदमाश वहां पहुंचे। अजय ने उन्हें रोक बाइक की चाबी निकाल ली। इस दौरान दो बदमाशों ने उसको पकड़ लिया। अजय ने अपनी पिस्टल निकाली लेकिन दोनों बदमाशों ने हमला बोल दिया। उनकी गुत्थमगुत्था होने लगी। इसी बीच तीसरे बदमाश ने तमंचे से अजय के सीने में गोली उतार दी। गोली लगते ही सिपाही खून से लथपथ होकर वहीं गिर पड़ा।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायल सिपाही को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी मृत घोषित कर दिया गया। सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस के अधिकारी भी पहुंच गये। पुलिस ने इस मामले में एक संदिग्ध को हिरासत में ले लिया है। योगी की सरकार बनने के बाद यूपी में किसी पुलिस वाले की हत्या की यह पहली घटना है। यहीं वजह से इस घटना को लेकर शासन भी सख्त है।

You May Also Like

English News