आगरा में बंदरों ने छीना सर्राफ से रुपयों भरा बैग, पीछा करने पर 60 हजार फेंके

उत्तर प्रदेश में इन दिनों जानवरों का आतंक बढ़ता जा रहा है। सांड व कुत्तों के बाद अब बंदरों का कहर बरपा है। ताजनगरी आगरा में आज बंदरों ने एक सर्राफ का नोट से भरा बैग छीन लिया। इसके बाद जब सर्राफ ने उनका पीछा किया तो बैग से करीब साठ हजार रुपया निकालकर फेंक दिया और उसके बाद बैग लेकर भाग गए। बैग में दो लाख रुपया रखा था।उत्तर प्रदेश में इन दिनों जानवरों का आतंक बढ़ता जा रहा है। सांड व कुत्तों के बाद अब बंदरों का कहर बरपा है। ताजनगरी आगरा में आज बंदरों ने एक सर्राफ का नोट से भरा बैग छीन लिया। इसके बाद जब सर्राफ ने उनका पीछा किया तो बैग से करीब साठ हजार रुपया निकालकर फेंक दिया और उसके बाद बैग लेकर भाग गए। बैग में दो लाख रुपया रखा था।  आगरा में नाई की मंडी में धाकरन चौराहे पर बंदर ने सर्राफ का दो लाख रुपये से भरा बैग छीन लिया। इसके बाद इन सभी ने पीछा करने पर साठ हजार रुपया तो फेंक दिया, लेकिन एक लाख 40 हजार रुपया लेकर भाग गए।  नाई की मंडी हलका मदन निवासी सर्राफ विजय बंसल बेटी नैनसी के साथ बैंक में दो लाख रुपये जमा करने गए थे। उनका खाता धाकरान चौराहे पर नाथ कॉम्प्लेक्स पर एक बैंक में है। रुपयों से भरा थैला नैनसी के हाथ मे था। प्रथम तल पर बैंक की सीढ़ी चढ़ते समय वहां मौजूद तीन-चार बंदरों ने उससे रुपये से भरा वह थैला छीन लिया।  इसके बाद सर्राफ और उनकी बेटी के शोर मचाने पर बैंक के गार्ड और पुलिसकर्मियों ने बंदरों का पीछा किया। इस पर बंदरों सौ-सौ रुपए की छह गड्डियां चतुर्थ तल से नीचे फेंक दी। दो हजार के नोटों की गड्डी जिसमें 70 नोट थे, वह लेकर भाग गए। सर्राफ ने पुलिस को भी मौके पर बुला लिया। बंदर पुलिस को नोट की गड्डी दिखाकर पूरी इमारत में दौड़ाते रहे।

आगरा में नाई की मंडी में धाकरन चौराहे पर बंदर ने सर्राफ का दो लाख रुपये से भरा बैग छीन लिया। इसके बाद इन सभी ने पीछा करने पर साठ हजार रुपया तो फेंक दिया, लेकिन एक लाख 40 हजार रुपया लेकर भाग गए।

नाई की मंडी हलका मदन निवासी सर्राफ विजय बंसल बेटी नैनसी के साथ बैंक में दो लाख रुपये जमा करने गए थे। उनका खाता धाकरान चौराहे पर नाथ कॉम्प्लेक्स पर एक बैंक में है। रुपयों से भरा थैला नैनसी के हाथ मे था। प्रथम तल पर बैंक की सीढ़ी चढ़ते समय वहां मौजूद तीन-चार बंदरों ने उससे रुपये से भरा वह थैला छीन लिया।

इसके बाद सर्राफ और उनकी बेटी के शोर मचाने पर बैंक के गार्ड और पुलिसकर्मियों ने बंदरों का पीछा किया। इस पर बंदरों सौ-सौ रुपए की छह गड्डियां चतुर्थ तल से नीचे फेंक दी। दो हजार के नोटों की गड्डी जिसमें 70 नोट थे, वह लेकर भाग गए। सर्राफ ने पुलिस को भी मौके पर बुला लिया। बंदर पुलिस को नोट की गड्डी दिखाकर पूरी इमारत में दौड़ाते रहे। 

You May Also Like

English News