आज नीतीश कैबिनेट का विस्तार, ये 27 MLA लेंगे मंत्री पद की शपथ…

विधानसभा में बहुमत साबित करने के बाद आज नीतीश  कुमार कैबिनेट विस्तार करने जा रहे हैं। शाम 5.30 बजे राजभवन में आयोजित कार्यक्रम में 27 मंत्रियों की शपथ लेने की संभावना है। बताया जा रहा है कि जेडीयू के 14, बीजेपी-12 और एक एलजेपी के विधायक मंत्री पद की शपथ लेंगे। आज नीतीश कैबिनेट का विस्तार, ये 27 MLA लेंगे मंत्री पद की शपथ...Exclusive: नौकरी तो मिली नहीं युवती को गवाने पड़े 13 हजार रुपये, पढि़ए कैसे!

वहीं मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रासलोपा और जीतन राम मांझी की पार्टी हम का कोई विधायक मंत्रिमंडल विस्तार में शामिल नहीं होगा। हालांकि, मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मांजी नाराज बताए जा रहे हैं। बता दें कि जीतनराम मांझी फिलहाल विधायक नहीं हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में उन्होंने दो विधानसभा सीटों से चुनाव लड़ा था जहां दोनों सीटों पर उनको हार का सामना करना पड़ा।

उधर, उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी पहले से ही दो फाड़ है। एक गुट का नेतृत्व उपेंद्र कुशवाह करते हैं वहीं दूसरे गुट का नेतृत्व सांसद अरुण कुमार करते हैं। कुल 27 मंत्री आज शपथ लेंगे।

जेडीयू के वो विधायक जो मंत्री पद के लिए तय किए गए

1- ललन सिंह
2- विजेंद्र यादव 
3- कृष्णनंदन वर्मा 
4- महेश्वर हजारी 
5- मदन सहनी 
6- संतोष निराला 
7- खुर्शीद आलम फिरोज 
8- शैलेश कुमार 
9- जयकुमार सिंह 
10- मंजू वर्मा
11- कपिल देव कामत 

बीजेपी की ओर से मंत्री बनने के लिए तय किये गये नाम 

1- नंदकिशोर यादव
2-  प्रेम कुमार
3- रामनारायण मंडल
4- मंगल पांडेय
5- विनोद नारायण झा
6- सुरेश शर्मा
7- कृष्ण कुमार ऋषि
8- विनोद कुशवाहा
9- राणा रणधीर 

लोजपा से केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान के भाई पशुपति पारस भी मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं।

इन नेताओं में बीजेपी की ओर से आने वाले बड़े नेताओं के नाम प्रेम कुमार और मंगल पांडये हैं। बीजेपी के प्रेम कुमार वे नेता हैं जो सात बार विधायक चुने जा चुके हैं और लालू-नीतीश की सरकार के दौरान सदन में बीजेपी की ओर से नेता विपक्ष भी थे। मंगल पांडये 2015 के विधानसभा चुनाव के दौरान बिहार के प्रदेश अध्यक्ष थे।

जेडीयू के बड़े नेताओं में राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह नीतीश कुमार के खास लोगों में से एक हैं। कई बार मंत्री रह चुके हैं। बिहार जदयू के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। साथ ही विजेंद्र यादव जदयू के सीनियर नेताओं में से एक हैं। नीतीश कुमार के सलाहकारों में से एक है। इससे पहले भी कई बार बड़े विभागों के मंत्री रह चुके हैं।

विधानसभा में नीतीश ने साबित किया बहुमत

बिहार विधानसभा में शुक्रवार को सीएम नीतीश कुमार ने बहुमत साबित कर दिया। फ्लोर टेस्ट में बहुमत हासिल करने वाले सीएम नीतीश कुमार ने आरजेडी के तीखे हमलों का करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा कि सत्ता सेवा के लिए होती है न कि भोग के लिए होती है।

इस बीच बिहार विधानसभा में लालू के बेटे तेजस्वी यादव को नेता विपक्ष घोषित किया गया। नेता विपक्ष घोषित किए गए तेजस्वी ने सीएम नीतीश को ‘बॉस’ कह डाला और उनपर भड़कते हुए कहा कि अगर हिम्मत होती तो मुझे बर्खास्त करते।

इतना ही नहीं मेरे आत्म विश्वास से नीतीश डर गए।तेजस्वी ने ये भी कहा कि नीतीश कुमार महात्मा गांधी के हत्यारों से मिल गए हैं, साथ ही उन्होंने तीखा विरोध जाहिर करते हुए कहा कि नीतीश को सुशील कुमार मोदी के साथ बैठन में शर्म नहीं आई।

आरोपों का पलटवार करते हुए बीजेपी ने कहा कि तेजस्वी को सत्ता के जाने का दर्द है। वहीं हंगामे के बीच आरजेडी ने मांग की है कि गोपनीय ढंग में ये फ्लोर टेस्ट करवाया जाए।

loading...

You May Also Like

English News