आज फिर से पंचकूला पुलिस करेंगी विपश्यना से पूछताछ, कसेगा ED का शिकंजा

डेरा प्रमुख राम रहीम की राजदार हनीप्रीत के गायब लैपटॉप और डायरी की जानकारी देने में विफल रही विपश्यना आज फिर पूछताछ के लिए पंचकूला पुलिस के सामने पेश होगी. इससे पहले उससे और हनीप्रीत से 13 अक्टूबर को एक साथ पूछताछ की गई थी. विपश्यना को पंचकूला के सेक्टर 23 पुलिस थाना में हाजिर होने के लिए कहा गया है.आज फिर से पंचकूला पुलिस करेंगी विपश्यना से पूछताछ, कसेगा ED का शिकंजाअभी-अभी: सोमालिया की राजधानी में हुआ बम विस्फोट, मृतकों की संख्या बढ़ी…

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पुलिस विपश्यना से कई ऐसे सवालों के जवाब जानना चाहती है जो अभी तक एक पहेली बने हुए हैं. इन सवालों में गायब लैपटॉप और डायरी के अलावा डेरा की बेनामी संपत्तियों से जुड़े सवाल भी होंगे. हालांकि पुलिस की पूछताछ का फोकस अभी भी 25 अगस्त को भड़की हिंसा और हनीप्रीत सहित दर्जनभर दूसरे लोगों पर दर्ज देशद्रोह का मामला ही है.

पुलिस विपश्यना से यह भी जानना चाहती है कि क्या वह 17 अगस्त की सिरसा बैठक में मौजूद थी या नहीं. गौरतलब है कि शुक्रवार की पूछताछ के दौरान हनीप्रीत ने विपश्यना पर आरोप लगाया था कि इस बैठक में वह भी मौजूद थी. विपश्यना ने इस सवाल का गोलमोल जवाब दिया था.

पुलिस शुक्रवार को विपश्यना और हनीप्रीत को आमने सामने बिठा कर पूछताछ कर चुकी है. पूछताछ से पहले जहां दोनों एक दूसरे से गले मिलकर खूब रोई थी उसके बाद दोनों के बीच में कुछ सवालों को लेकर तकरार भी हुई. तल्खी इतनी ज्यादा बढ़ गई थी कि पुलिस को बीच-बचाव करना पड़ा. अब पुलिस हनीप्रीत और विपश्यना के जवाब आपस में मिलाकर देखेगी और उन्हें असमानता पाए जाने पर फिर से पूछताछ करेगी. 

विपश्यना पर कसेगा ED का शिकंजा

पुलिस पूछताछ के बाद अब विपश्यना प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी के रडार पर भी है .पूछताछ के दौरान पुलिस को मिली बेनामी संपत्तियों, निवेश और करोड़ों रुपए के लेनदेन की जानकारी प्रवर्तन निदेशालय से सांझा की गई है. पुलिस इससे पहले एक हार्ड डिस्क भी ईडी को सौंप चुकी है जिसमें करीब 700 करोड़ रुपए की संपत्तियों का खुलासा हुआ था. अब पुलिस को गुरुसर मोडिया से भी बैंक के डेबिट और एटीएम कार्ड का जखीरा बरामद हुआ है जिसकी छानबीन की जा रही है.

अब गुरमीत राम रहीम और हनीप्रीत इंसां के साथ मिलकर धंधा करने वाले लोगों की मुश्किलें भी बढ़ने वाली है. गौरतलब है कि पुलिस को जांच के दौरान कई ऐसी संपत्तियों का ब्यौरा मिला है जिसमें गुरमीत राम रहीम और हनीप्रीत के अलावा दर्जनों हिस्सेदार हैं. गुरुसर मोडिया से बरामद दस्तावेजों के मुताबिक गुरमीत राम रहीम ने हाल ही एक कंपनी से निदेशक के पद से इस्तीफा भी दिया था. पुलिस को शक है कि ज्यादातर कंपनियों में दिए गए लोगों के नाम और पते फर्जी हैं. सूत्रों की मानें तो गुरमीत राम रहीम ने विदेशों में भी निवेश किया है फिलहाल पुलिस इसकी छानबीन में जुटी है.

You May Also Like

English News