आज स्वाति सिंह बीयर बार का करेगी उद्घाटन, इस पर सीएम योगी ने मंत्री से मांगा जवाब

योगी सरकार में महिला कल्याण राज्यमंत्री स्वाति सिंह राजधानी में एक बीयर बार का उद्घाटन करके विवादों में फंस गई हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में उनसे जवाब-तलब किया है।आज स्वाति सिंह बीयर बार का करेगी उद्घाटन, इस पर सीएम योगी ने मंत्री से मांगा जवाबयह भी पढ़े: अभी-अभी: चौकाने वाला ये सच आया सामने महात्मा गाँधी की हत्या के पीछे….

हालांकि उन्होंने बीयर बार का फीता 20 मई को काटा था लेकिन सोमवार को इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद वह लोगों के निशाने पर आ गई हैं। वायरल हो रही तस्वीरों में रायबरेली के एसपी गौरव सिंह व उन्नाव की एसपी नेहा पांडेय भी दिख रही हैं। गौरव व नेहा पति-पत्नी हैं।

दिलचस्प यह है कि स्वाति सिंह ने जिस बीयर बार का उद्घाटन किया उसके पास बीयर सर्व करने का स्थायी लाइसेंस तक नहीं है। सिर्फ तीन दिन का अस्थायी लाइसेंस ही लिया गया था।

मुख्यमंत्री ने इसका संज्ञान लेते हुए स्वाति सिंह से पूरे मामले पर स्थिति स्पष्ट करने को कहा है। साथ ही उन्होंने बीयर बार के उद्घाटन में शामिल अफसरों से भी स्पष्टीकरण मांगने के निर्देश दिए हैं।

मुख्य अतिथि के तौर पर छापा गया था स्वाति ‌सिंह का नाम

स्वाति सिंह ने 20 मई को गोमतीनगर के विभूतिखंड में इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान के पास एक रेस्टोरेंट में बीयर बार ‘बी द बीयर’ का उद्घाटन किया था।

इसके लिए छपवाए गए निमंत्रण पत्र में भी बाकायदा ‘बी द बीयर’ की ग्रैंड ओपनिंग का जिक्र किया गया है और बतौर मुख्य अतिथि स्वाति सिंह तथा विशेष अतिथि के रूप में स्वाति सिंह के पति व भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह का नाम छपा है।

बताया जाता है कि रेस्टोरेंट की मालकिन दीपशिखा सिंह व प्रियंका सिंह राज्यमंत्री स्वाति सिंह की दोस्त हैं। मंत्री के हाथों बीयर बार के उद्घाटन की तस्वीरें वायरल होने के बाद पुलिस ने भी मामले की छानबीन शुरू कर दी।

शुरुआती जांच में पता चला कि 20 मई के लिए बीयर बार का अस्थायी लाइसेंस लिया गया था। इसके बाद एक पार्टी के लिए 26 से 28 मई तक तीन दिन के लिए अस्थायी लाइसेंस लिया गया था।

अधिकारियों से भी मांगा गया जवाब

मौजूद अधिकारी व स्वाति सिंह

देर रात इसका संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री ने स्वाति सिंह से जवाब-तलब कर लिया। उन्होंने स्वाति सिंह से पूरे मामले पर स्थिति स्पष्ट करने को कहा है। मुख्यमंत्री ने इस कार्यक्रम में शामिल हुए अधिकारियों से स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश भी दिए हैं।

सूत्रों का कहना कि सोशल मीडिया में वायरल हो रही तस्वीरों और लोगों की प्रतिक्रियाओं को सरकार ने गंभीरता से लिया है। स्वाति सिंह का जवाब मिलने के बाद सीएम इस मामले में कार्रवाई कर सकते हैं।

दो आईपीएस भी रहे मौजूद
वायरल हुई तस्वीरों में उद्घाटन के मौके पर रायबरेली के एसपी गौरव सिंह और उन्नाव की एसपी नेहा पांडेय भी दिख रही हैं। सोशल मीडिया पर इन तस्वीरों पर लोग स्वाति सिंह व अफसरों की जमकर खिंचाई भी कर रहे हैं।दरअसल, स्वाति सिंह सोशल मीडिया पर इसलिए भी लोगों के निशाने पर हैं कि प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने के बाद कई जिलों में शराब के खिलाफ  प्रदर्शन शुरू हो गए थे। जिसकी अगुवाई महिलाओं ने ही की थी। ऐसे में एक महिला मंत्री के  बीयर बार का उद्घाटन करने से सरकार और पार्टी की खासी किरकिरी हो रही है।

बीयर बार का उद्घाटन नहीं किया: स्वाति
जिस रेस्टोरेंट में बीयर बार की बात कही जा रही है वह वास्तव में मैक्सिकन कांसेप्ट का रेस्टोरेंट है। उसमें कोई बीयर बार नहीं है और न ही कोई बीयर बार का लाइसेंस है। वहां इसकी जांच की जा सकती है।
शुक्रवार से रविवार तक एक ग्रुप ने वहां पार्टी रखी थी। उसने तीन दिन का अस्थायी लाइसेंस लिया था। मैंने केवल रेस्टोरेंट का उद्घाटन किया है। मुझे जानबूझकर बदनाम करने की कोशिश की जा रही है।
आईपीएस दंपती से जवाब-तलब
आईजी रेंज जय नरायन सिंह ने मंत्री स्वाति सिंह द्वारा बीयर बार के उद्घाटन समारोह में एसपी रायबरेली गौरव सिंह व उन्नाव की कप्तान नेहा पांडेय के शिरकत करने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने पर दोनों से जवाब-तलब किया है।
आईजी ने बताया कि दोनों अफसरों से जिला मुख्यालय छोड़ने की वजह पूछने के साथ-साथ जानकारी मांगी गई है कि किस अफसर से इजाजत लेकर राजधानी आए थे। सवाल किया गया है कि आयोजक द्वारा बीयर बार के स्थायी लाइसेंस के लिए आवेदन नहीं किया गया था। सिर्फ एक दिन के लिए बीयर बार की अनुमति थी।
पुलिस अफसर द्वारा बीयर बार के उद्घाटन में शिरकत को लेकर सोशल मीडिया पर महकमे की फजीहत हुई है। दोनों अफसरों को लौटती डाक से स्पष्टीकरण देने के आदेश दिए गए हैं।
भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष भी हैं स्वाति सिंह
स्वाति सिंह प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष भी हैं। पिछले साल वह तब सुर्खियों में आईं जब बसपा नेताओं और कार्यकर्ताओं पर उनको गालियां देने के आरोप लगे थे। उनके पति दयाशंकर सिंह द्वारा बसपा सुप्रीमो मायावती के बारे में की गई अभद्र टिप्पणियों के  विरोध में प्रदर्शन कर रहे बसपा नेताओं ने दयाशंकर की पत्नी के खिलाफ आपत्तिजनक नारे लगाए थे।
स्वाति ने न केवल बसपा नेताओं पर मुकदमा किया बल्कि मीडिया में भी अपने परिवार का जमकर बचाव किया। इससे खुश होकर भाजपा ने उन्हें प्रदेश महिला मोर्चा का अध्यक्ष बनाया। इसके बाद चुनाव में उन्हें लखनऊ की सरोजनीनगर सीट से टिकट मिला। पहली बार विधायक बनकर वह योगी सरकार में मंत्री बन गईं।

अनुमति लेकर कार्यक्रम में शामिल हुआ था-एसपी
रायबरेली। एसपी गौरव सिंह का कहना है कि एक सप्ताह पहले वह अवकाश पर थे। लखनऊ में एक निजी कार्यक्रम था, जिसमें शामिल हुए थे। बकौल एसपी, उन्होंने लखनऊ से इसकी बाकायदा अनुमति ली थी। बीयर बार के उद्घाटन के बाबत वह कुछ नहीं बोले। इस संबंध में आईजी ने कोई स्पष्टीकरण मांगा है, इस सवाल पर उनका कहना था कि ऐसी कोई जानकारी नहीं है।

You May Also Like

English News