आतंकी गद्दाफी अपनी हवस बुझाने के लिए स्कूलों से इस तरह चुनता था लड़कियां

तानाशाह मुअम्मर अल गद्दाफी की मौत को 5 साल हो चुके हैं। 42 सालों तक लीबिया की जनता पर राज करने वाले कर्नल गद्दाफी को खौफ और आतंक का पर्याय माना जाता था।

आतंकी गद्दाफी अपनी हवस बुझाने के लिए स्कूलों से इस तरह चुनता था लड़कियां
अक्टूबर 2011 में हुई गद्दाफी की मौत के बाद माना गया था कि अब लीबिया अमन-चैन की शुरुआत हो गई है, लेकिन ऐसा हो नहीं सका। आज भी लीबिया हिंसा के दौर से गुजर रहा है। 
गद्दाफी की मौत के बाद अमेरिकन सेना ने उसके कई सीक्रेट तहखानों की खोज की थी।गद्दाफी के कुछ वफादार गुर्गे थे, जिनका काम लीबिया के स्कूलों, कॉलेजों में टैलेंट हंट के बहाने कमसिन लड़कियों को चुनना था।
1444355503-156
अधिकतर लड़कियां स्टूडेंट्स थीं, जिन्हें स्कूल और कॉलेज से किडनैप किया गया था। लड़कियों का किडनैप करने के बाद उनका मेडिकल चेकअप भी कराया जाता था कि वे किसी बीमारी का शिकार तो नहीं।interesting-fac549
 गद्दाफी ने सैकड़ों बच्चियों का बलात्कार किया, जिनमें कईयों की उम्र 14 साल से भी कम थी।  सीक्रेट तहखानों में स्कूल और कॉलेजों से किडनैप की गई वर्जिन लड़कियों को रखा जाता था।
7_1476945434
गद्दाफी को अगर लड़की पसंद आती तो वह उसे लाने वाले गुर्गे को इनाम भी दिया करता था। तहखानों से सैकड़ों की संख्या में लड़कियां निकाली गई थीं।
 

You May Also Like

English News