आतंकी साजिश की आशंका को देखते हुए ट्रेन हादसे की जांच के लिए यूपी एटीएस मौके पर पहुंची!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के रामपुर जनपद में मेरठ से लखनऊ जाने वाली राज्यरानी एक्सप्रेस 22454 के आठ डिब्बे कोसी नदी के पुल के पास पटरी से उतर गए। एक डिब्बा पूरी तरह से पलट गया। 14 डिब्बो की गाडी में इंजन समेत पांच डिब्बे ही शेष रहे। इस हादसे में कई यात्री घायल हुए हैं। सभी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे में किसी भी यात्री की मौत की खबर नहीं है। वहीं आतंकी घटना की अशांका को देखते हुए यूपी एटीएस की एक टीम मौके पर मौजूद है और छानबीन कर रही है।

 


रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार राज्यरानी एक्सप्रेस ट्रेन मेरठ से लनखऊ के लिए निकली थी। रामपुर में कोसी नदी पुल के पहले सुबह करीब 8 बजे अचानक ट्रेन के 8 डिब्बे डीरेल हो गये। अचानक हुई इस घटना से ट्रेन में सफर कर रहे यात्रियों में अफरा-तफरी मच गयी। कई यात्री इस हादसे में घायल हुए। सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस, प्रशासन व रेलवे के अधिकारी भी पहुंच गये। घायलों को ट्रेन के अंदर से निकाला का काम शुरू किया गया। सभी घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। डीआरएम प्रमोद कुमार का कहना है कि ट्रेन पलटने की जांच की जा रही है। हादसे की जांच के लिए उच्च स्तरीय कमेटी का गठन कर दिया गया है। वहीं इस घटना के बाद मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार और कम घायल होने वाले लोगों को 25 हजार रुपए देने का ऐलान किया है। इधर रेल मंत्री ने भी हादसे की जांच के आदेश दिए हैं।

दिल्ली- लखनऊ और लखनऊ-सहारनपुर रूट बंद
राज्यरानी के डिरेल होने से दिल्ली-लखनऊ और सहारनपुर-लखनऊ रूट पूरी तरह से बंद हो गया है। राज्यरानी डिरेल होने से अप और डाउन रूट को नुकसान पहुंचा है इसलिए ट्रेनों का आवागमन रोक दिया गया है। सभी ट्रेनों को आसपास के स्टेशनों पर रोका जा रहा है।

छानबीन के लिए यूपी एटीएस की टीम पहुंचे
रामपुर में राज्यरानी एक्सप्रेस ट्रेन के डीरेल होने की घटना को लेकर खुफिया एजेंसियां सतर्क हो गयी हैं। यूपी एटीएस की एक टीम भी दुर्घटनास्थल पर भेजी गयी है। एटीएस की टीम इस बात की छानबीन करेंगी कि कहीं इस घटना के पीछे कोई आतंकी साजिश तो नहीं है।

You May Also Like

English News