आतंक के सुरक्षित ठिकानों को खत्म करने में पाक नाकाम : अमेरिकी अधिकारी

अमेरिका की एक प्रमुख राजनयिक ने कहा है कि पाकिस्तान ने आतंकवाद के सुरक्षित पनाहगाहों के खिलाफ ठोस और निर्णायक कार्रवाई नहीं की है जबकि अमेरिका उससे कठोर कार्रवाई की उम्मीद करता है। अमेरिकी अधिकारी ने यह बात अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा दक्षिण एशिया के लिए अपनी रणनीति पेश करने के करीब एक वर्ष बाद कही है।अमेरिका की एक प्रमुख राजनयिक ने कहा है कि पाकिस्तान ने आतंकवाद के सुरक्षित पनाहगाहों के खिलाफ ठोस और निर्णायक कार्रवाई नहीं की है जबकि अमेरिका उससे कठोर कार्रवाई की उम्मीद करता है। अमेरिकी अधिकारी ने यह बात अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा दक्षिण एशिया के लिए अपनी रणनीति पेश करने के करीब एक वर्ष बाद कही है।  दक्षिण एवं पश्चिमी एशिया मामलों के लिए वरिष्ठ ब्यूरो अधिकारी एलिस जी. वेल्स ने कहा कुछ सकारात्मक संकेतकों के बावजूद अमेरिका ने अभी तक पाकिस्तान को निरंतर और निर्णायक कदम उठाते नहीं देखा जो वह दक्षिण एशिया रणनीति घोषित होने के बाद देखना चाहेगा। इसमें बातचीत की मेज पर नहीं आने वाले तालिबान तत्वों की गिरफ्तारी या उन्हें निष्कासित करना शामिल है।  वेल्स ने सदन की विदेश मामलों की समिति के समक्ष पेश होने से पहले अपने पहले से तैयार बयान में कहा कि पाकिस्तान नोटिस पर है और हम उस पनाहगाहों को समाप्त करने में उसका स्पष्ट सहयोग चाहते हैं जिसका लाभ तालिबान 2001 में पाकिस्तान जाने के बाद से उठा रहा है।

दक्षिण एवं पश्चिमी एशिया मामलों के लिए वरिष्ठ ब्यूरो अधिकारी एलिस जी. वेल्स ने कहा कुछ सकारात्मक संकेतकों के बावजूद अमेरिका ने अभी तक पाकिस्तान को निरंतर और निर्णायक कदम उठाते नहीं देखा जो वह दक्षिण एशिया रणनीति घोषित होने के बाद देखना चाहेगा। इसमें बातचीत की मेज पर नहीं आने वाले तालिबान तत्वों की गिरफ्तारी या उन्हें निष्कासित करना शामिल है।

वेल्स ने सदन की विदेश मामलों की समिति के समक्ष पेश होने से पहले अपने पहले से तैयार बयान में कहा कि पाकिस्तान नोटिस पर है और हम उस पनाहगाहों को समाप्त करने में उसका स्पष्ट सहयोग चाहते हैं जिसका लाभ तालिबान 2001 में पाकिस्तान जाने के बाद से उठा रहा है।

You May Also Like

English News