आरएसएस और बीजेपी को राजधर्म की याद

हाल ही में दो दिनों से देश में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की आरएसएस के मुख्यालय जाने की चर्चा जोरो पर थी, इस दौरे के बाद जहाँ कांग्रेस के कुछ नेता नाराज थे वहीं प्रणव मुखर्जी का वहां जाना देश में बड़ा बहस का मुद्दा बन गया था जिसके बाद कल प्रणब मुखर्जी के भाषण के बाद कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरएसएस और बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि “प्रणब मुखर्जी ने आरएसएस और मोदी को राजधर्म की याद दिलाई.”हाल ही में दो दिनों से देश में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की आरएसएस के मुख्यालय जाने की चर्चा जोरो पर थी, इस दौरे के बाद जहाँ कांग्रेस के कुछ नेता नाराज थे वहीं प्रणव मुखर्जी का वहां जाना देश में बड़ा बहस का मुद्दा बन गया था जिसके बाद कल प्रणब मुखर्जी के भाषण के बाद कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरएसएस और बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि "प्रणब मुखर्जी ने आरएसएस और मोदी को राजधर्म की याद दिलाई."  इस बारे में सुरजेवाला ने कहा कि "मुखर्जी ने नागपुर में आरएसएस मुख्यालय में आरएसएस को सच का आईना दिखाया है. उनको बहुलवाद, सहिष्णुता, धर्मनिरपेक्षता और समग्रता के बारे में पाठ पढ़ाया है. प्रणब मुखर्जी के इस भाषण के बाद बीजेपी और आरएसएस को आत्मसात कर सोचना चाहिए और खुद में सुधार करना चाहिए."  सुरजेवाला ने आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा कि देश की आजादी की लड़ाई में आरएसएस का कहीं भी कोई जिक्र नहीं है. बता दें, प्रणब मुखर्जी के नागपुर दौरे से पहले कई कांग्रेसी नेताओं ने उन्हें रोकने की कोशिश की वहीं प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी भी प्रणब दा से नाराज दिखाई दी, जिसका जिक्र उन्होंने ट्वीट कर किया. हालाँकि प्रणब दा के भाषण के बाद कोंग्रेसियों ने अपने सुर बदल दिए और आरएसएस पर निशाना साधने लगे.

इस बारे में सुरजेवाला ने कहा कि “मुखर्जी ने नागपुर में आरएसएस मुख्यालय में आरएसएस को सच का आईना दिखाया है. उनको बहुलवाद, सहिष्णुता, धर्मनिरपेक्षता और समग्रता के बारे में पाठ पढ़ाया है. प्रणब मुखर्जी के इस भाषण के बाद बीजेपी और आरएसएस को आत्मसात कर सोचना चाहिए और खुद में सुधार करना चाहिए.”

सुरजेवाला ने आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा कि देश की आजादी की लड़ाई में आरएसएस का कहीं भी कोई जिक्र नहीं है. बता दें, प्रणब मुखर्जी के नागपुर दौरे से पहले कई कांग्रेसी नेताओं ने उन्हें रोकने की कोशिश की वहीं प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी भी प्रणब दा से नाराज दिखाई दी, जिसका जिक्र उन्होंने ट्वीट कर किया. हालाँकि प्रणब दा के भाषण के बाद कोंग्रेसियों ने अपने सुर बदल दिए और आरएसएस पर निशाना साधने लगे. 

You May Also Like

English News