आरएसएस कार्यकर्ता की गोलीमार कर हत्या

फिरोजाबाद में आरएसएस (RSS) के जिला पर्यावरण प्रमुख संदीप मंगलवार रात अपने घर से बाहर निकले ही थे की उनकी ताक में बैठे बाइक सवार हमलावरों ने उन पर गोली चला दी और इसी के साथ ये अज्ञात हमलावर फरार भी हो गए . गोली से घायल संदीप को तुरंत अस्पताल ले जाया गया मगर तब तक देर हो चुकी थी. डॉक्टरों ने जांच के बाद उनकी मौत की पुष्टि कर दी. इसके बाद आरएसएस कार्यकर्ता और स्थानीय बीजेपी विधायक मनीष असीजा मौके पर पहुंचे और जहा आक्रोशित कार्यकर्ताओ को उन्होंने कार्यवाई का वादा किया.फिरोजाबाद में आरएसएस (RSS) के जिला पर्यावरण प्रमुख संदीप मंगलवार रात अपने घर से बाहर निकले ही थे की उनकी ताक में बैठे बाइक सवार हमलावरों ने उन पर गोली चला दी और इसी के साथ ये अज्ञात हमलावर फरार भी हो गए . गोली से घायल संदीप को तुरंत अस्पताल ले जाया गया मगर तब तक देर हो चुकी थी. डॉक्टरों ने जांच के बाद उनकी मौत की पुष्टि कर दी. इसके बाद आरएसएस कार्यकर्ता और स्थानीय बीजेपी विधायक मनीष असीजा मौके पर पहुंचे और जहा आक्रोशित कार्यकर्ताओ को उन्होंने कार्यवाई का वादा किया.   विधायक मनीष ने कहा कि हमारे एक RSS के कार्यकर्ता संदीप की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. संदीप पर्यावरण जिला प्रमुख के पद पर कार्य कर रहे थे और वह बहुत ही सज्जन और मिलनसार थे. मनीष ने बताया कि पिछले 10 वर्षों से संदीप RSS से जुड़े हुए थे. मामले की जांच में जुटी आगरा जोन पुलिस के आईजी राजा श्रीवास्तव ने बताया कि दो बदमाशों ने इस घटना को अंजाम दिया है. उन्होंने भरोसा दिलाया की जल्द ही हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.  वही पुलिस की मुश्किलें और बढ़ गई जब कार्यकर्ताओ ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए सरकारी अस्पताल भेजने से यह कहते हुए मना कर दिया की जब तक कातिल नहीं पकड़े जाते पोस्टमार्टम नहीं करने दिया जायेगा.

विधायक मनीष ने कहा कि हमारे एक RSS के कार्यकर्ता संदीप की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. संदीप पर्यावरण जिला प्रमुख के पद पर कार्य कर रहे थे और वह बहुत ही सज्जन और मिलनसार थे. मनीष ने बताया कि पिछले 10 वर्षों से संदीप RSS से जुड़े हुए थे. मामले की जांच में जुटी आगरा जोन पुलिस के आईजी राजा श्रीवास्तव ने बताया कि दो बदमाशों ने इस घटना को अंजाम दिया है. उन्होंने भरोसा दिलाया की जल्द ही हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

वही पुलिस की मुश्किलें और बढ़ गई जब कार्यकर्ताओ ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए सरकारी अस्पताल भेजने से यह कहते हुए मना कर दिया की जब तक कातिल नहीं पकड़े जाते पोस्टमार्टम नहीं करने दिया जायेगा.  

You May Also Like

English News