आॅपरेशन ब्‍लूस्‍टार की बरसी पर खालिस्‍तान समर्थक नारेबाजी, श्री अकाल तख्‍त में भोग

 

ऑपरेशन ब्‍लूस्‍टार की बरसी पर श्री अकाल तख्‍त साहिब में श्री अखंड पाठ साहिब का भोग रखा गया और शबद कीतर्न का आयोजन किया गया। इस दौरान कुछ युवकों ने परिसर में हंगामा किया। कुछ युवकों ने खालिस्‍तान के समर्थन में नारेबाजी की और पाकिस्‍तान के समर्थन में भी नारे लगाए। कुछ युवकों ने श्री अकाल तख्त सा‍हिब की ड्योढ़ी पर चढ़ कर स्पीकर बंद करने की कोशिश की, ले‍किन श्री अकाल तख्त साहिब पर मौजूद सेवादारों ने उनको ऊपर चढ़ने नहीं दिया। इस दौरान धक्‍कामुक्‍की भी हुई।इसी दौरान कुछ युवकों ने श्री अकाल तख्त सा‍हिब की ड्योढ़ी पर चढ़ने की कोशिश की। वे वहां लगे स्पीकर को बंद करना चाहते थे। श्री अकाल तख्त साहिब पर मौजूद सेवादारों ने इन युवकों को ड्योढ़ी पर चढ़ने नहीं दिया। इस दौरान दाेनों पक्षों में धक्‍कामुक्‍की भी हुई और एक बारगी तनाव का माहौल पैदा हाे गया। श्री अकाल तख्त साहिब के बाहर खालिस्तान समर्थक व टास्क फोर्स जमकर धक्का-मुक्की हुई। इस धक्‍कामुक्‍की में अकाली दल अमृतसर के प्रधान सिमरनजीत सिंह मान भी फंस गए। श्री अकाल तख्‍त साहिब में आयोजित कार्यक्रम मेंं माैजूद श्रद्धालु। ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी के मौके पर श्री अकाल तख्त साहिब पर रखे गए श्री अखंड पाठ साहिब के भोग से पहले कीर्तन का अायोजन हुआ। कीर्तन का विभिन्न सिख संगठनों के कार्यकर्ता और श्रद्धालुओं ने कीर्तन का श्रवण किया। इस दौरान करनैल सिंह पीर मोहम्मद अपने जत्थे के साथ श्री अकाल तख्त साहिब के समक्ष सीढ़ियों पर बैठकर कीर्तन श्रवण कर रहे।

ऑपरेशन ब्‍लूस्‍टार की बरसी पर श्री अकाल तख्‍त साहिब में श्री अखंड पाठ साहिब का भोग रखा गया। इस दौरान कीर्तन का अायोजन किया गया। इस अवसर पर काफी संख्‍या में संगत मौजूद रही। इस अवसर पर श्री अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह के पंथ के नाम संदेश पढ़ा। इस दौरान कुछ लोगों ने हंगामा किया और नारेबाजी की।

हंगामा करने वाले लोग खालिस्तान के समर्थन में नारे लगा रहे थे। बताया जाता है कि जब तक जत्थेदार संदेश पढ़ते रहे कुछ युवक खालिस्तान समर्थन नारे लगाते रहे। दल खालसा और शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) मान ग्रुप के नेताओं ने दरबार साहब परिसर में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे भी लगाए। अकाली दल मान ग्रुप के वर्कर शहीदी यादगार गुरुद्वारा की सराय में बैठकर खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे।

इसी दौरान कुछ युवकों ने श्री अकाल तख्त सा‍हिब की ड्योढ़ी पर चढ़ने की कोशिश की। वे वहां लगे स्पीकर को बंद करना चाहते थे। श्री अकाल तख्त साहिब पर मौजूद सेवादारों ने इन युवकों को ड्योढ़ी पर चढ़ने नहीं दिया। इस दौरान दाेनों पक्षों में धक्‍कामुक्‍की भी हुई और एक बारगी तनाव का माहौल पैदा हाे गया। श्री अकाल तख्त साहिब के बाहर खालिस्तान समर्थक व टास्क फोर्स जमकर धक्का-मुक्की हुई। इस धक्‍कामुक्‍की में अकाली दल अमृतसर के प्रधान सिमरनजीत सिंह मान भी फंस गए।

ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी के मौके पर श्री अकाल तख्त साहिब पर रखे गए श्री अखंड पाठ साहिब के भोग से पहले कीर्तन का अायोजन हुआ। कीर्तन का विभिन्न सिख संगठनों के कार्यकर्ता और श्रद्धालुओं ने कीर्तन का श्रवण किया। इस दौरान करनैल सिंह पीर मोहम्मद अपने जत्थे के साथ श्री अकाल तख्त साहिब के समक्ष सीढ़ियों पर बैठकर कीर्तन श्रवण कर रहे।

You May Also Like

English News