इंडोनेशिया से मलेशिया पहुंचे पीएम मोदी, राजधानी कुआलालंपुर में स्वागत

तीन देशों की विदेश यात्रा पर निकले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडोनेशिया के बाद अब मलेशिया पहुंच गए हैं. यहां राजधानी कुआलालंपुर में पीएम मोदी ने हाल ही में पदभार ग्रहण करने वाले प्रधानमंत्री महातिर बिन मोहम्मद से औपचारिक मुलाकात की. पीएम मोदी मंगलवार को पांच दिनों की विदेश यात्रा पर रवाना हुए थे.विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कुआलालंपुर पहुंच गये हैं. मलेशिया तीन देशों की यात्रा का दूसरा चरण है. मलेशिया एक रणनीतिक साझेदार और हमारी एक्ट ईस्ट नीति में प्राथमिकता वाला देश है.  मोदी और महातिर के बीच व्यापार और निवेश के अलावा द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने पर चर्चा होने की संभावना है.  नई दिल्ली में ही मोदी ने कहा था कि इंडोनेशिया से सिंगापुर जाने के दौरान वह कुछ समय के लिए मलेशिया में रुककर महातिर से मुलाकात करेंगे और नये मलेशियाई नेतृत्व को बधाई देंगे.  मलेशिया से प्रधानमंत्री मोदी सिंगापुर जाएंगे, जहां वह वार्षिक सुरक्षा बैठक शांगरी-ला डायलॉग में कल संबोधित करेंगे. इससे पहले इंडोनेशिया की पहली सरकारी यात्रा के दौरान मोदी ने राष्ट्रपति जोको विदोदो के साथ सकारात्मक चर्चा की.  इससे पहले पहली बार इंडोनेशिया के दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राजधानी जकार्ता में शानदार स्वागत किया गया. इंडोनेशिया में राष्ट्रपति जोको विडोडो से मुलाकात और डेलीगेशन स्तर की बैठक के बाद पीएम मोदी ने 'पतंग प्रदर्शनी' पहुंचे और महोत्सव का उद्घाटन किया था. बाद में पीएम मोदी ने यहां पतंग भी उड़ाई थी.  माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री के इस दौरे से देश की एक्ट ईस्ट नीति को और बढ़ावा मिलेगा.  इससे पहले भारत-इंडोनेशिया के साझा बयान के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा इस महान और सुंदर देश की मेरी पहली यात्रा है और इस यात्रा के शानदार प्रबंध के लिए राष्ट्रपति का आभार व्यक्त करता हूं.  इस दौरे में दोनों देशों के बीच डेलीगेशन स्तर की बैठक हुई थी. दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग समेत कुल 15 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए.  जकार्ता में पीएम मोदी ने भारतीय समुदाय को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने इंडोनेशिया के नागरिकों के लिए 30 दिन के लिए भारत यात्रा के लिए नि:शुल्क वीजा की व्यवस्था किए जाने का ऐलान किया. पीएम मोदी ने कहा कि भारत में रिकॉर्ड स्तर पर विदेशी निवेश हो रहा है. भारत का फॉरेन एक्सचेंज रिजर्व लगभग 300 बिलियन डॉलर से बढ़कर 400 बिलियन डॉलर के पार पहुंच गया है.  उन्होंने ये भी कहा कि इंडोनेशिया समेत 163 देशों के लोगों को ई-वीजा की सुविधा दी गई है.  मोदी जकार्ता की सबसे बड़ी इस्तिकलाल मस्जिद भी गए. यहां उनके साथ इंडोनेशिया के राष्ट्रपति भी मौजूद रहे.  पांच दिनों की यात्रा के पहले पड़ाव में पीएम मोदी मंगलवार शाम जकार्ता पहुंचे थे. बुधवार सुबह सबसे पहले पीएम कालीबाटा नेशनल हीरो सीमेट्री गए और शहीदों को श्रद्धांजलि दी.

मलेशिया के प्रधानमंत्री के रूप में 92 वर्षीय महातिर मोहम्मद ने 10 मई को शपथ ली थी. दुनिया के सबसे उम्र दराज निर्वाचित नेता महातिर के नेतृत्व में विपक्षी गठबंधन ने हाल मे संपन्न आम चुनावों में बारिसन नेशनल (बीएन) गठबंधन पर अभूतपूर्व जीत हासिल  की थी. बीएन मलेशिया में 1957 से सत्ता में थी.

प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर कहा कि मोदी भारत-मलेशिया सहयोग के विभिन्न पहलूओं पर महातिर के साथ से चर्चा करेंगे.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कुआलालंपुर पहुंच गये हैं. मलेशिया तीन देशों की यात्रा का दूसरा चरण है. मलेशिया एक रणनीतिक साझेदार और हमारी एक्ट ईस्ट नीति में प्राथमिकता वाला देश है.

मोदी और महातिर के बीच व्यापार और निवेश के अलावा द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने पर चर्चा होने की संभावना है.

नई दिल्ली में ही मोदी ने कहा था कि इंडोनेशिया से सिंगापुर जाने के दौरान वह कुछ समय के लिए मलेशिया में रुककर महातिर से मुलाकात करेंगे और नये मलेशियाई नेतृत्व को बधाई देंगे.

मलेशिया से प्रधानमंत्री मोदी सिंगापुर जाएंगे, जहां वह वार्षिक सुरक्षा बैठक शांगरी-ला डायलॉग में कल संबोधित करेंगे. इससे पहले इंडोनेशिया की पहली सरकारी यात्रा के दौरान मोदी ने राष्ट्रपति जोको विदोदो के साथ सकारात्मक चर्चा की.

इससे पहले पहली बार इंडोनेशिया के दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राजधानी जकार्ता में शानदार स्वागत किया गया. इंडोनेशिया में राष्ट्रपति जोको विडोडो से मुलाकात और डेलीगेशन स्तर की बैठक के बाद पीएम मोदी ने ‘पतंग प्रदर्शनी’ पहुंचे और महोत्सव का उद्घाटन किया था. बाद में पीएम मोदी ने यहां पतंग भी उड़ाई थी.

माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री के इस दौरे से देश की एक्ट ईस्ट नीति को और बढ़ावा मिलेगा.

इससे पहले भारत-इंडोनेशिया के साझा बयान के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा इस महान और सुंदर देश की मेरी पहली यात्रा है और इस यात्रा के शानदार प्रबंध के लिए राष्ट्रपति का आभार व्यक्त करता हूं.

इस दौरे में दोनों देशों के बीच डेलीगेशन स्तर की बैठक हुई थी. दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग समेत कुल 15 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए.

जकार्ता में पीएम मोदी ने भारतीय समुदाय को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने इंडोनेशिया के नागरिकों के लिए 30 दिन के लिए भारत यात्रा के लिए नि:शुल्क वीजा की व्यवस्था किए जाने का ऐलान किया. पीएम मोदी ने कहा कि भारत में रिकॉर्ड स्तर पर विदेशी निवेश हो रहा है. भारत का फॉरेन एक्सचेंज रिजर्व लगभग 300 बिलियन डॉलर से बढ़कर 400 बिलियन डॉलर के पार पहुंच गया है.

उन्होंने ये भी कहा कि इंडोनेशिया समेत 163 देशों के लोगों को ई-वीजा की सुविधा दी गई है.

मोदी जकार्ता की सबसे बड़ी इस्तिकलाल मस्जिद भी गए. यहां उनके साथ इंडोनेशिया के राष्ट्रपति भी मौजूद रहे.

पांच दिनों की यात्रा के पहले पड़ाव में पीएम मोदी मंगलवार शाम जकार्ता पहुंचे थे. बुधवार सुबह सबसे पहले पीएम कालीबाटा नेशनल हीरो सीमेट्री गए और शहीदों को श्रद्धांजलि दी.

 

You May Also Like

English News