इंतजार हुआ खत्म, जानिये दिल्ली-NCR में कब आएगा मानसून, होगी झमाझम बारिश

भीषण गर्मी ङोल रहे दिल्लीवासियों को जल्द ही राहत की फुहारें सराबोर करेंगी। 29 जून को दिल्ली में मानसून दस्तक देगा। ऐसे में बुधवार से बूंदाबांदी एवं बारिश का दौर भी शुरू हो जाएगा। हालांकि अभी दो दिन और गर्मी का यह दौर ऐसे ही जारी रहेगा।

रविवार को तेज धूप एवं गर्म हवाओं की गर्मी बनी रही। छुट्टी का दिन होने के बावजूद ज्यादातर लोग घरों में ही रहे। धूप की तपन का आलम यह है कि अधिकतम और न्यूनतम तापमान के बीच का अंतर भी बहुत कम चल रहा है।

मानसून पूर्व की गतिविधियां ढीली पड़ने से गर्मी और ज्यादा परेशान कर रही है। रविवार को पालम में अधिकतम 44 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 24 जून के दिन पिछले सात सालों में इतना तापमान कभी नहीं गया।

हालांकि मौसम विभाग ने रविवार का औसत अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री अधिक 42.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया। इसी तरह न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 31.6 डिग्री सेल्सियस रहा। यह भी पिछले सात सालों में अधिक ही है। नमी का स्तर रविवार को अधिकतम व न्यूनतम क्रमश: 55 एवं 29 फीसद दर्ज किया गया।

प्रादेशिक मौसम विज्ञान केंद्र, दिल्ली के निदेशक कुलदीप श्रीवास्तव बताते हैं कि मंगलवार तक अभी ऐसा ही मौसम बना रहेगा। धूप भी तेज होगी और गर्म हवा भी परेशानी करेगी। अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश: 42 और 32 डिग्री रह सकता है। बुधवार रात हल्की बूंदाबांदी हो सकती है जबकि बृहस्पतिवार और शुक्रवार को बारिश की संभावना है। इससे तापमान में भी गिरावट आएगी।

48 घंटे में उत्तर भारत तक पहुंच जाएगा मानसून

भारतीय मौसम विभाग ने रविवार को बताया कि मानसून शनिवार से फिर सक्रिय हो गया है। यह धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है। अगले 48 घंटे में यह मध्य और उत्तर भारत तक पहुंच जाएगा। अब तक देश के फीसद से कम हिस्से में सामान्य या अधिक वर्षा रिकॉर्ड की गई है, जबकि देश में समग्र तौर पर सामान्य से 10 फीसद कम बारिश दर्ज हुई है।

मौसम विभाग का कहना है कि इस बार बार मानसून ने एक जून की सामान्य तिथि की बजाय तीन दिन पहले 29 मई को ही केरल में दस्तक दे दी थी। केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र व दक्षिण गुजरात में मानसून पहुंच चुका है।

मौसम विभाग का कहना है कि मध्य और उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में पिछले कुछ दिनों से तापमान फिर से बढ़ने लगा है। अगले दो-तीन दिन में होने वाली बारिश से इससे राहत मिलने की संभावना है।

विभाग के अतिरिक्त महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि 23 जून से फिर से सक्रिय हुआ मानसून रविवार को गुजरात के सौराष्ट्र, वीरावल, अहमदाबाद, महाराष्ट्र के अमरावती व देश के पूर्वी हिस्से बंगाल व असम में सक्रिय रहा। 

You May Also Like

English News