इजरायल में भारतवंशियों को मोदी का तोहफा, ‘अब दिल से दिल जुड़े हैं, कागजातों की जरूरत नहीं’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने इज़रायल दौरे के दूसरे दिन वहां भारतीय समुदाय को संबोधित किया. पीएम मोदी के साथ इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामन नेतन्याहू भी मौजूद रहे. पीएम ने अपने भाषण में भारत और इजरायल के संबंधों का उल्लेख किया, अपनी सरकार का गुणगान किया. लेकिन मोदी ने वहां रह रहे भारतीयों के लिए एक ऐसी सौगात दी, जिससे हर कोई खुश हो गया.

इजरायल में भारतवंशियों को मोदी का तोहफा, 'अब दिल से दिल जुड़े हैं, कागजातों की जरूरत नहीं'

पिछले लंबे समय से उठ रही इजरायल नागरिकों को OCI कार्ड (ओवरसीज़ सिटीजन ऑफ इंडिया) मिलने की मांग को पीएम मोदी ने पूरा किया. मोदी ने ऐलान किया कि अब सभी इजरायली नागरिकों को ये कार्ड मिल सकेगा, भले वो सेना का हिस्सा रहे हों. पीएम ने इस बात का ऐलान इजरायल के पीएम की मौजूदगी में किया. पीएम ने कहा कि मैंने सुना है कि यहां के भारतीय समुदाय को OCI कार्ड नहीं मिलता है, लेकिन क्योंकि अब रिश्ता दिल से दिल का है तो हम कागजों पर निर्भर नहीं रह सकते हैं. मोदी ने कहा कि जिन्होंने आर्मी में सेवा दी है अब उनको भी इसका फायदा मिल सकेगा.

क्या है नियम?

आपको बता दें कि इजरायल में हर नागरिक के लिए सेना का प्रशिक्षण अनिवार्य है. वहीं भारत में गृह मंत्रालय के नियमों के अनुसार अगर कोई व्यक्ति सेना में योगदान दे चुका है तो उसे OCI कार्ड नहीं मिलता है. इसको लेकर इजरायल का भारतीय यहूदी समाज लंबे समय से मांग कर रहा था.

और भी किए कई ऐलान…

पीएम मोदी ने इसके अलावा भी कई ऐलान किए हैं, उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच संबंधों को और बढ़ाने के लिए इजरायल में कल्चरल समिति की कमी महसूस की जा रही थी. बहुत ही जल्द भारत सरकार इजरायल में इंडियन कल्चरल सेंटर खोलने जा रही है. यह सदैव आपको भारतीय संस्कृति से जोड़ कर रखेगा. मैं इजरायली नौजवानों का आह्वान करता हूं कि वे भारत आएं. भारत और इजरायल इतिहास से ही नहीं सांस्कृतिक रूप से भी एक दूसरे से जुड़े हुए हैं. कठिनाइयों से बाहर निकलना दोनों देशों को आता है. 

नई हवाई सेवा का ऐलान

इजरायली नौजवानों को भारत आते रहना चाहिए. मैं एक बार फिर ज्यूस समुदाय को अपने मित्र नेतन्याहू और भारतीय समुदाय का धन्यवाद करता हूं. इसके साथ ही घोषणा करता हूं कि जल्द ही दिल्ली, मुंबई तेल अवीव विमान सेवा शुरू कर दी जाएगी. इसीलिए मैं यहां के युवाओं को बार-बार निमंत्रण दे रहा हूं कि आप भारत आओ. इस स्वागत सम्मान के लिए हृदय से साभार व्यक्त करता हूं.

You May Also Like

English News