इन खिलाड़ियों के नाम है ‘अकेले’ पूरी टीम को हराने का रिकॉर्ड

पूरी टीम को हराने का रिकॉर्ड – क्रिकेट के खेल को भारी अनिश्तताओं का खेल कहा जाता है।

इस खेल में कभी भी कुछ भी हो सकता है। इस खेल में ऐसे-ऐसे रिकॉर्ड बन जाते हैं जो कोई सोच भी नहीं सकता। आज हम आपको ऐसे ही एक रिकॉर्ड के बारे में बताएंगे।

इन खिलाड़ियों के नाम है ‘अकेले’ पूरी टीम को हराने का रिकॉर्ड

अपने पार्टनर को पागलपन की हद तक चाहते हैं ये 5 राशि के लोग

आज हम आपको बताएंगे जब सिर्फ एक खिलाड़ी ने पूरी टीम को हराने का रिकॉर्ड के बारे में बात करेंगे – अब आप सोच रहेंगे होंगे कि आखिर ये कैसे संभव हो सकता है आखिर एक खिलाड़ी पूरी टीम को अकेले कैसे हरा सकता है।

दरअसल, हुआ ये कि इन मैचों में बल्लेबाजों ने इतनी बड़ी पारी खेली कि विरोधी टीम उन बल्लेबाजों के स्कोर के बराबर भी नहीं पहुंच सकी। आइए आपको बताते हैं कि कब-कब अकेले खिलाड़ियों ने पूरी टीम को हरा दिया।

पूरी टीम को हराने का रिकॉर्ड – 

रोहित शर्मा ने श्रीलंका को हराया:

भारत के विस्फोटक सलामी बल्लेबाज ने श्रीलंका के खिलाफ शानदार दोहरा शतक ठोका था और 264 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली थी। रोहित ने अपनी पारी में 33 चौके और 9 छक्के लगाए थे। की पारी की बदौलत भारत ने श्रीलंका के सामने 404 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। जवाब में श्रीलंका की पूरी टीम सिर्फ 251 रन ही बना सकी। श्रीलंका की पूरी टीम का स्कोर रोहित के 264 रनों से भी कम था।

ए बी डीविलियर्स ने अकेले वेस्टइंडीज को हराया:

दक्षिण अफ्रीका के एबी डीविलियर्स के नाम क्रिकेट की दुनिया के कई रिकॉर्ड हैं। डीविलियर्स को मिस्टर 360* भी कहा जाता है। डीविलियर्स ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 162 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी। डीविलियर्स ने 66 गेंदों में 17 चौके और 8 छक्कों की मदद से 162 रन ठोक दिए थे। जवाब में वेस्टइंडीज की पूरी टीम सिर्फ 151 रनों पर ढेर हो गई थी। वेस्टइंडीज की पूरी टीम का स्कोर डीविलियर्स के स्कोर से भी कम था और डीविलियर्स ने वेस्टइंडीज को अकेले दम पर हरा दिया था।

डेविड वॉर्नर ने अकेले न्यूजीलैंड को हराया:

डेविड वॉर्नर के बारे में भला कौन नहीं जानता। ये खिलाड़ी जब अपने रंग में होता है तो दुनिया के किसी भी गेंदबाज की धज्जियां उड़ाने का माद्दा रखता है। वॉर्नर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 156 रनों की पारी खेली थी। वॉर्नर ने 128 गेंदों में 4 छक्के और 12 चौकों की मदद से 156 रन बनाए थे। जवाब में न्यूजीलैंड की पूरी टीम सिर्फ 147 रनों पर ढेर हो गई थी। वॉर्नर ने अकेले न्यूजीलैंड को हरा दिया था।

जबसे टी20I क्रिकेट आया है तबसे ही खिलाड़ी बेहद आक्रामक होकर बल्लेबाजी करने लगे हैं। यही कारण है कि अब खिलाड़ी वनडे क्रिकेट में 200 रन भी बना देते हैं। भारत के रोहित शर्मा के नाम वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार दोहरा शतक लगाने का रिकॉर्ड दर्ज है। रोहित ने श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दोहरे शतक लगाए हैं। रोहित के करियर का सर्वोच्च स्कोर 264 रन है। साफ है अगर बल्लेबाज इसी तरह से आक्रामक होकर खेलते रहे तो वो दिन दूर नहीं जब कोई बल्लेबाज वनडे में तिहरा शतक भी लगा देगा।

 
loading...

You May Also Like

English News