इन तरीकों से सुरक्षित करें अपना फोन

कंप्यूटर के समान ही स्मार्टफोन में भी सुरक्षा से सम्बंधित कई परेशानियां आती हैं. अब तक एंड्रॉयड फोनों पर वायरस के कई हमले भी हो चुके हैं. ऐसा माना जाता है कि एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स के मुकाबले एप्पल का आईओएस कहीं अधिक सुरक्षित है. लेकिन हर स्मार्टफोन में यह खतरा होता ही है. पिछले साल सितम्बर में आई सोफोस लैब की एक रिपोर्ट के अनुसार एंड्रॉयड प्लेटफार्म पर 30 प्रतिशत से ज्यादा रैनसमवेयर पाए गए. इसी के साथ 10 मिलियन एंड्रॉयड एप्स को संधिग्द एप्स की कैटेगरी में डाला गया.इन तरीकों से सुरक्षित करें अपना फोन

इंटरनेट पर जब मोबाइल मालवेयर बढ़ रहे हैं, यूजर्स को यह सुनिश्चित करना जरुरी है कि उनका फ़ोन सुरक्षित हो. इन तरीकों से आप अपने मोबाइल को सुरक्षित रख सकते हैं फोन लॉक लगाने से सिर्फ डिवाइस सुरक्षित नहीं रहती बल्कि इससे दूसरे लोग आपके फोन के जरुरी डाटा को एक्सेस भी नहीं कर पाते. कुछ सालों पहले डिवाइस को लॉक करना थोड़ा मुश्किल या लम्बा काम लगता था. लेकिन अब फिंगरप्रिंट सेंसर और फेस अनलॉक जैसी तकनीक के चलते फोन को सुरक्षित रखना और भी आसान हो गया है. इसी के साथ फोन के री-स्टार्ट होने पर भी पहले पिन लॉक जरुर डाल के रखें.

आजकल आसानी से मोबाइल डिवाइस में वायरस आ जाते है. इससे बचने के लिए समय-समय पर अपने फोन को स्कैन करते रहें. गूगल प्ले में भी कई बार एप्स में वायरस आया है. वायरस से बचने के लिए किसी भी एप को किसी भी सोर्स से डाउनलोड करने से पहले स्कैन कर लें.

You May Also Like

English News