इन दो गेंदबाजों पर कप्तान कोहली को हुआ भरोसा, बोले- 2019 वर्ल्ड कप में करेंगे धमाल

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि रिस्ट स्पिनर्स युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की जुगलबंदी शानदार है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मौजूदा वन-डे सीरीज में उनका प्रदर्शन अविश्वसनीय है। चहल और कुलदीप ने छह मैचों की सीरीज के पहले तीन वन-डे में 21 विकेट ले लिए हैं। दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज भी यह मानने को मजबूर हैं कि वे इनका सामना नहीं कर पा रहे हैं। इन दो गेंदबाजों पर कप्तान कोहली को हुआ भरोसा, बोले- 2019 वर्ल्ड कप में करेंगे धमालजहां तक बात टेस्ट प्रारूप की है तो यादव ने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पदार्पण किया था और अब तक कुछ मैच ही खेले हैं जबकि चहल का अभी पहला टेस्ट खेलना बाकी है। कोहली ने कहा कि हम जानते थे कि ये विकेट लेंगे क्योंकि इन गेंदबाजों ने घरेलू मैचों में पाटा विकेटों पर भी विकेट लिए हैं। 

कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे वन-डे में 124 रन की जीत के बाद कहा कि कुछ लोग सोचते होंगे कि ये टी-20 में गेंदबाजी करते हैं जहां हालात कठिन होते हैं, लेकिन ये वहां भी निरंतर विकेट लेने में सफल रहे हैं। भारत ने सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त बना ली है। चौथा वन-डे शनिवार को जोहानसबर्ग में खेला जाएगा। 

टेस्ट टीम में चहल-कुलदीप का दावा मजबूत

रिस्ट स्पिनर्स के टेस्ट में खेलने के बारे में उन्होंने कहा कि उनका दावा मजबूत हो रहा है। इस हालात में उनकी इस तरह की गेंदबाजी देखकर अच्छा लग रहा है। वह जिस तरह से ब्रेकथ्रू दिला रहे हैं हमने अब तक ऐसा नहीं देखा। यह अविश्वसनीय है। उन्होंने स्पिन का एक जाल सा बुन दिया है। 

उनका आठ विकेट लेना असाधारण प्रदर्शन है। वह कुछ रन खर्च कर भी विकेट लेने का साहस दिखा रहे हैं। मेरे पास बयां करने के लिए शब्द नहीं है। इसका श्रेय उन्हें जाता है। दोनों ने साहसिक गेंदबाजी की है। वे बल्लेबाजों को जोखिम भरे शॉट खेलने के लिए मजबूर करते हैं। 

उन्होंने कहा कि भविष्य में क्या होगा ये पता नहीं लेकिन इस समय उनके प्रदर्शन से मैं बहुत खुश हूं। यहां उनके लिए हालात बेहद अनुकूल हैं। पिच उनकी मदद कर रही है और वे अपना शीर्ष प्रदर्शन कर रहे हैं। वो तो सपाट विकेटों पर भी काफी साहस दिखाते हैं। वो छक्का पड़ने पर निराश नहीं होते और अमूमन तीन-चार विकेट बांट लेते हैं। 

पिछले दो मैचों में ज्यादातर विकेट उन्होंने लिए हैं। उनके लिए यही संदेश है कि विकेट लो और रन खर्च करने की चिंता मत करो। जब आप विकेट लेने की सोचते हो तो ऐसे एरिया में गेंदबाजी करते हो जो बल्लेबाजों के लिए असहज होती है। इसलिए उन्हें श्रेय जाता है क्योंकि वह सही दिशा और लंबाई से गेंदबाजी करते हैं।

विश्व कप के मद्देनजर उपयोगी

भारतीय कप्तान कोहली ने कहा कि दोनों गेंदबाज अगले वर्ष होने वाले विश्व कप के मद्देनजर काफी उपयोगी हैं। हो सकता है कि अगले मैच में वह 70 रन लुटा दें, लेकिन यदि आप आक्रामक गेंदबाजी करोगे तो हर मैच में दो-तीन विकेट ले सकते हो। हम विश्व कप विदेशी मैदान पर खेलेंगे जो हमारे लिए बड़ा मुद्दा है। 

You May Also Like

English News