इन बड़ी बीमारियों का संकेत देते हैं आपके नाख़ून का बदलता हुआ रंग

हमारे हाथो के नाखुनो का निर्माण कैल्शियम और केरेटिन नामक प्रोटीन होता है, पर अगर कभी हमारे  शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाये या कोई बीमारी हो तो इसके कारण केरेटिन की सतह पर बुरा असर पड़ता है, जिससे नाखूनों में कुछ बदलाव आने लगते है, नाखुनो के बदलते रंग कई बीमारियों का संकेत देते है. आज हम आपको नाखूनों के बदलते हुए रंगो के कुछ कारणों के बारे में बताने जा रहे है. इन बड़ी बीमारियों का संकेत देते हैं आपके नाख़ून का बदलता हुआ रंगजानिए कैसे भीगी हुई मूंगफली आपकी सेहत को देती हैं दोगुन लाभ…

1- कभी-कभी हमारे नाखुनो का रंग पीला हो जाता है. इसका  मतलब ये है  की आपके शरीर में खून की कमी है, इसके अलावा हृदय रोग, कुपोषण व लिवर संबंधी बीमारियों के होने पर भी नाख़ून का रंग पीला हो जाता  है, नाखुनो के पीले होने का मतलब फंगस इंफैक्शन भी हो सकता है.
 
2- पूरी तरह से सफ़ेद नाख़ून लिवर, हृदय या आंतों की बीमारियों का संकेत देते है.
 
3- अगर आपके  नाख़ून नीले पड़ गए है तो इसका मतलब है की आपके शरीर में ऑक्सीजन का संचार सही ढंग नहीं हो पा रहा है. इसके अलावा नीले नाख़ून  फेफड़ों में इंफैक्शन, निमोनिया या दिल की बीमारियों का संकेत देते है.
 
4- किसी किसी के नाख़ून बहुत ज़्यादा मोटे और खुरदरे होते है ये इस बात का संकेत होता है  की आपके नाखुनो में फंगल इंफैक्शन की समस्या है. इसके अलावा शरीर में इम्युनिटी पावर के कमज़ोर होने पर भी नाख़ून मोटे और खुरदुरे हो जाते है.

You May Also Like

English News