इन 9 दिनों में स्त्रियों को नहीं रखने चाहिए खुले बाल, ये है बड़ा कारण…

खूबसूरत लंबे बाल हर महिला का सबसे पसंदीदा श्रृंगार होते हैं। महिलाएं अक्सर तैयार होते समय अपने हेयर स्टाइल पर सबसे ज्यादा ध्यान देती हैं। लड़कियां खास मौकों पर ही अपने बालों को खोलती हैं। बात अगर शास्त्रों से जुड़ी एक खास मान्यता की करें तो ये बात बहुत ही कम स्त्रियां जानती हैं कि शास्त्रों में बालों को खुला छोड़ना अच्छा नहीं माना जाता। आइए इस नवरात्रि जानते हैं महिलाओं को क्यों अपने बाल खुले नहीं रखने चाहिए। इन 9 दिनों में स्त्रियों को नहीं रखने चाहिए खुले बाल, ये है बड़ा कारण...

धर्म शास्त्रों की मानें तो महिलाओं को हमेशा अपने बाल बांध कर रखने चाहिए। ऐसा कहने के पीछे जो तर्क दिया जाता है वो यह है कि खुले बाल शोक की निशानी होते हैं। आज भी हिंदू मान्यता के अनुसार कोई भी शुभ काम करते समय महिलाएं अपने बाल व्यवस्थित रूप से बांध कर रखती हैं।  

रामायण में भी बताया गया है कि श्री राम से विवाह के दौरान माता सीता की मां ने उनके बाल बांधते समय उन्हें कहा था कि कभी भी अपने बालों को खुला नहीं छोड़ना क्योंकि बंधे हुए बाल आपके रिश्तों को भी बांधकर रखते हैं। 

कहा गया है कि नवरात्रि में अगर कोई स्त्री अपने बालों को खोलकर सोती है तो उसके ऊपर नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव अधिक होता है। 

शास्त्रों में महिलाओं के खुले बालों को अच्छा नहीं माना गया है। कहा जाता है कि खुले बालों की वजह से घर में कलेश उत्पन्न होता है। 

You May Also Like

English News