इलाहाबाद यूनिवर्सिटी का बड़ा फैसला, इस काम के लिए अनिवार्य नहीं होगा आधार कार्ड

इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को बड़ी राहत दी है। आवेदन में आधार की अनिवार्यता को खत्म कर दिया गया है। इससे पहले विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से आवेदन की तिथि भी बढ़ाई जा चुकी है। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी का बड़ा फैसला, इस काम के लिए अनिवार्य नहीं होगा आधार कार्डUN ने जेल में बंद राम रहीम और हनीप्रीत को इस बड़े काम के लिए किया आमंत्रित

विश्वविद्यालय में शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 29 सितंबर निर्धारित की गई थी। साथ ही आवेदन के लिए आधार अनिवार्य किया गया था। जिन अभ्यर्थियों के पास आधार नहीं था, उनका ऑनलाइन आवेदन स्वीकार नहीं हो रहा था।

आवेदन की तारीख भी आगे बढ़ी

इन समस्याओं को लेकर अभ्यर्थियों ने कुलपति को ज्ञापन दिया था और आवेदन की तिथि बढ़ाए जाने के साथ आधार की अनिवार्यता को समाप्त किए जाने की मांग की थी। अभ्यर्थियों का कहना था कि आधार न होने के कारण बहुत से अभ्यर्थी आवेदन से वंचित रह गए हैं।

इसके अलावा पुराने आवेदकों ने नए सिरे से आवेदन करना है और इसके लिए उन्हें बहुत कम समय दिया गया है, ऐसे में आवेदन की तिथि बढ़ाई जानी चाहिए। इस समस्या को देखते हुए इविवि प्रशासन ने आवेदन की तिथि बढ़ाकर आठ अक्तूबर कर दी लेकिन आधार की अनिवार्यता पर निर्णय नहीं लिया।

अब इस समस्या का समाधान भी हो गया है। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पीआरओ प्रो. हर्ष कुमार का कहना है कि आवेदन के लिए आधार की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है। अगर किसी के अभ्यर्थी के पास आधार नहीं है तो भी उसका ऑनलाइन आवेदन स्वीकार हो जाएगा।

You May Also Like

English News