इसकी वजह से नेपाली स्टूडेंट का भविष्य खतरे में, नहीं दे पाएंगे मदरसा बोर्ड का एग्जाम

यूपी के मदरसों में पढ़ने वाले करीब एक हजार नेपाली स्टूडेंट, लगता है कि इस बार उत्तर प्रदेश मदरसा शि‍क्षा बोर्ड (UPMEB) का एग्जाम नहीं दे पाएंगे. इसकी वजह यह है कि अब इस बोर्ड एग्जाम के लिए आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया है और जाहिर है कि उनके पास आधार कार्ड नहीं है.इसकी वजह से नेपाली स्टूडेंट का भविष्य खतरे में, नहीं दे पाएंगे मदरसा बोर्ड का एग्जाम

पीटीआई के अनुसार हालात को देखते हुए मदरसा अरबिया टीचर्स एसोसिएशन ने इस बारे में मदरसा शिक्षा बोर्ड को लेटर लिखकर कोई रास्ता निकालने का अनुरोध किया है. मदरसा अरबिया टीचर्स एसोसिएशन के महासचिव दीवान साहब जमान खान ने बताया, ‘मदरसा परीक्षा के फॉर्म भरे जा रहे हैं. यदि आधार नंबर अनिवार्य होने का प्रावधान नहीं हटाया गया तो करीब 1,000 नेपाली छात्र मुंशी, मौलवी, आलिम, कामिल और फाजिल की परीक्षा में नहीं बैठ पाएंगे.’

नेपाली नागरिकों के पास जन्म और नागरिकता प्रमाणपत्र होता है और इसी के आधार पर उनको भारत के मदरसों में प्रवेश दिया जाता है. खान ने बताया, ‘बोर्ड एग्जाम का फॉर्म भरने की अंतिम तिथि 10 फरवरी है और आधार नंबर न होने से उनका फॉर्म स्वीकार नहीं किया जाएगा.’

प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा, ‘हमें तो ऐसे मामले की जानकारी नहीं है. हमारे सामने यदि ऐसा कोई मामला आता है तो हम इस पर विचार करेंगे और कानूनी प्रावधानों के मुताबिक कोई निर्णय लेंगे. 

यूपीएमईबी के रजिस्ट्रार राहुल गुप्ता ने कहा कि सरकार को इस मामले की जानकारी दे दी गई है और अगले निर्देश का इंतजार हो रहा है.

You May Also Like

English News