इस गांव का हर युवा ड्रग्स का शिकार

 नशा मुक्ति के तमाम प्रयासों को ठेंगा दिखाते हुए यूपी के सहारनपुर का एक गांव नशे की गिरफ्त में इस कदर फ़सा हुआ है कि हर बच्चे से लेकर युवा तक ड्रग्स का शिकार हैं. हालांकि इससे चिंतित ही कर गांव वालों ने इसकी शिकायत पुलिस प्रशासन से लेकर मंत्री तक से भी की है, लेकिन इसका कोई खास असर सरकारी अधिकारियों पर नहीं हुआ है. गांव के बुजुर्गों और अभिभावकों का कहना है कि पुलिस इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. गांववालों ने कहा कि अगर जल्दी ही इस समस्या का हल नहीं निकाला गया तो इसकी शिकायत सीएम योगी आदित्यनाथ से करेंगे. मामला जिले के सरसावा इलाके के झबीरन गांव का है. यहां के परिजन इन दिनों बहुत चिंतित हैं क्योंकि यहां हर घर का बच्चा ड्रग्स की चपेट में आ चुका है.सहारनपुर: नशा मुक्ति के तमाम प्रयासों को ठेंगा दिखाते हुए यूपी के सहारनपुर का एक गांव नशे की गिरफ्त में इस कदर फ़सा हुआ है कि हर बच्चे से लेकर युवा तक ड्रग्स का शिकार हैं. हालांकि इससे चिंतित ही कर गांव वालों ने इसकी शिकायत पुलिस प्रशासन से लेकर मंत्री तक से भी की है, लेकिन इसका कोई खास असर सरकारी अधिकारियों पर नहीं हुआ है. गांव के बुजुर्गों और अभिभावकों का कहना है कि पुलिस इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. गांववालों ने कहा कि अगर जल्दी ही इस समस्या का हल नहीं निकाला गया तो इसकी शिकायत सीएम योगी आदित्यनाथ से करेंगे. मामला जिले के सरसावा इलाके के झबीरन गांव का है. यहां के परिजन इन दिनों बहुत चिंतित हैं क्योंकि यहां हर घर का बच्चा ड्रग्स की चपेट में आ चुका है.  ग्रामीणों का कहना है कि वे लोग अपने बच्चों और युवाओं के भविष्य को खराब होते नहीं देख सकते हैं. पहले उनका गांव बहुत संपन्न था लेकिन धीरे-धीरे बच्चों और युवाओं में नशे की लत बढ़ती जा रही है और गांव के हालात खराब होते जा रहे हैं. छोटे-छोटे बच्चों को 100 रुपए में आसानी से ड्रग्स का पैकेट मिल रहा है. वे घरों से रुपए चुराकर ड्रग्स खरीद रहे हैं. वहीं जिला प्रशासन से शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है. मामला सामने आने के बाद  एसपी देहात विद्या सागर मिश्रा ने बताया कि झबीरन गांव बॉर्डर से बिल्कुल सटा हुआ गांव है. हरियाणा बॉर्डर के रास्ते स्मैक, चरस, अफीम आदि की सप्लाई इस गांव में ड्रग्स स्मगलर के जरिए पहुंचती है. हम लोगों रोजाना कार्रवाई करते हुए कई लोगों को गिरफ्तार कर चुके हैं.     एसपी देहात कहते हैं कि यह मामला मेरे संज्ञान में आया था. आज भी गांव के प्रधान चंद्रवीर समेत कई लोगों को बुलाया गया था. हम लोगों ने सख्त निर्देश दिए हैं कि गांव में नशा करने वालों की सूची बनाकर जल्द से जल्द पुलिस को दें. हम लोग अपने स्तर से कार्रवाई करेंगे.ड्रग्स की स्मगलिंग के लिए ड्रग्स माफियाओं के बहुत बड़े रैकेट का भंडाफोड़ करने वाले एसपी देहात विद्या सागर मिश्रा दावे के साथ कहते हैं कि पंजाब के रास्ते यूपी में ड्रग्स आ रही है. हमारी टीम अभियान चलाकर कार्रवाई कर रही है.

ग्रामीणों का कहना है कि वे लोग अपने बच्चों और युवाओं के भविष्य को खराब होते नहीं देख सकते हैं. पहले उनका गांव बहुत संपन्न था लेकिन धीरे-धीरे बच्चों और युवाओं में नशे की लत बढ़ती जा रही है और गांव के हालात खराब होते जा रहे हैं. छोटे-छोटे बच्चों को 100 रुपए में आसानी से ड्रग्स का पैकेट मिल रहा है. वे घरों से रुपए चुराकर ड्रग्स खरीद रहे हैं. वहीं जिला प्रशासन से शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है. मामला सामने आने के बाद  एसपी देहात विद्या सागर मिश्रा ने बताया कि झबीरन गांव बॉर्डर से बिल्कुल सटा हुआ गांव है. हरियाणा बॉर्डर के रास्ते स्मैक, चरस, अफीम आदि की सप्लाई इस गांव में ड्रग्स स्मगलर के जरिए पहुंचती है. हम लोगों रोजाना कार्रवाई करते हुए कई लोगों को गिरफ्तार कर चुके हैं.

एसपी देहात कहते हैं कि यह मामला मेरे संज्ञान में आया था. आज भी गांव के प्रधान चंद्रवीर समेत कई लोगों को बुलाया गया था. हम लोगों ने सख्त निर्देश दिए हैं कि गांव में नशा करने वालों की सूची बनाकर जल्द से जल्द पुलिस को दें. हम लोग अपने स्तर से कार्रवाई करेंगे.ड्रग्स की स्मगलिंग के लिए ड्रग्स माफियाओं के बहुत बड़े रैकेट का भंडाफोड़ करने वाले एसपी देहात विद्या सागर मिश्रा दावे के साथ कहते हैं कि पंजाब के रास्ते यूपी में ड्रग्स आ रही है. हमारी टीम अभियान चलाकर कार्रवाई कर रही है.

You May Also Like

English News