इस फिल्म में उड़ा ललिता पवार का मजाक, एक्टर ने कहा- दिव्यांग होना गुनाह नहीं

तापसी पन्नू और साकिब सलीम की आने वाली फिल्म ‘दिल जंगली’ के एक डायलॉग से एक्टर रंजीत नाराज हो गए हैं. दरअसल, डायलॉग में बीते जमाने में विलेन की भूमिका निभाने वालीं ललिता पवार पर कमेंट किया गया है.इस फिल्म में उड़ा ललिता पवार का मजाक, एक्टर ने कहा- दिव्यांग होना गुनाह नहीं

रंजीत ने डायलॉग की निंदा करते हुए कहा- ‘जिन्होंने ऐसा बोला है, उन्हें पकड़ना चाहिए. लोग आज कल कुछ भी बोल देते हैं. ललिता जी जैसी सीनियर और महान एक्ट्रेस का सम्मान करना चाहिए. आपको बता दें कि फिल्म को वासु भगनानी के बेटे और एक्टर जैकी भगनानी प्रोड्यूस कर रहे हैं.’

रंजीत ने आगे कहा- ‘ऐसे डायलॉग्स से फिल्में नहीं चलती. नामी और फिल्मी परिवार की तरफ से बनाई गई फिल्म में इस तरह की बातें होना शर्म की बात है. फिल्मों का स्तर बहुत नीचे गिर गया है. हमें भी अब काम करने में शर्म आती है.’ 

गौरतलब है कि फिल्म के एक डायलॉग में एक सह-कलाकार एक लड़की से कहता है- ‘दिल से आपको कहना चाहता हूं, आप न वो एक्ट्रेस जैसी लगती हो बिल्कुल.’ इस पर लड़की पूछती हैं- ‘जे लो (जेनिफर लोपेज)’, तब एक्टर कहता है- ‘न न न न ललिता पवार…कांणी’.

फिल्मों के गिरते स्तर पर रंजीत ने कहा- ‘जब मुझे कोई फिल्म में गाली देने के लिए कहता है तो मैं साफ मना कर देता हूं. मैं कहता हूं किसी और से काम करा लो. पहले के जमाने में ऐसा नहीं होता था. मैं गाली नहीं दे सकता.’

‘ललिता जी की अगर आंख खराब भी हो गई थी तो क्या हुआ. वो शानदार एक्ट्रेस थीं. दिव्यांग होना कौन सा गुनाह है. सेंसर बोर्ड भी ऐसे डायलॉग्स पर कदम नहीं उठाता. वहां भी सिफारिशों से काम चलता है.’

You May Also Like

English News