इस महिला वैज्ञानिक को मिली मिशन ‘गगनयान’ की जिम्मेदारी

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकिले से मिशन ‘गगनयान’ का ऐलान किया था. इस मिशन के तहत भारत स्वदेशी स्पेसप्रोग्राम के जरिए मानव को 2022 में अंतरिक्ष में भेजेगा. पीएम मोदी के इस ड्रीम प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी अब एक महिला के हाथ में है.इस महिला वैज्ञानिक को मिली मिशन 'गगनयान' की जिम्मेदारी

इसरो के इस गगनयान प्रोजेक्ट की अगुवाई डॉ. ललितांबिका करेंगी. स्पेस मिशन 2022 अब एक नारी की अगुवाई में आगे बढ़ेगा, जो कि एक काफी बड़ी बात है.

डॉ. ललितांबिका रॉकेट इंजीनियर हैं और पिछले 30 साल से इसरो में ही कार्यरत हैं. अधिकारियों की मानें तो इस प्रकार के मिशन के लिए वह सबसे परफेक्ट उम्मीदवार हैं.

बताया जा रहा है कि आने वाले दिनों में जल्द ही ललितथंबिका अपनी टीम का चयन करेंगी और दो महीने के अंदर पहली प्रोजेक्ट रिपोर्ट सौपेंगी.

प्रधानमंत्री मोदी के ऐलान के बाद इसरो ने इस फैसले का स्वागत किया था. इसरो चेयरमैन के. शिवन ने इसके बारे में कहा था कि यह देश के लिए बहुत बड़ा ऐलान है. हमें इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में करीब 10 हजार करोड़ रुपए लगेंगे.

अगर 2022 में भारत का मिशन सफल रहता है तो ऐसा करने वाला वह चौथा देश होगा. इससे पहले सोवियत यूनियन, अमेरिका और चीन अपने एस्ट्रोनॉट को खुद के यान से अंतरिक्ष में भेज चुके हैं.

You May Also Like

English News