इस शख्स ने अमिताभ बच्चन को बनाया ‘सुपरस्टार’, इन्हें बिग बी से मिले थे ज्यादा पैसे

अमिताभ बच्चन का जन्म 11 अक्टूबर 1942 को हुआ था. आज उन्हें सदी के महानायक के नाम से जाना जाता है, लेकिन एक समय ऐसा भी था, जब डायरेक्टर्स उन्हें फिल्म में लेना ही नहीं चाहते थे.इस शख्स ने अमिताभ बच्चन को बनाया 'सुपरस्टार', इन्हें बिग बी से मिले थे ज्यादा पैसे

बिग बी के 75वां जन्मदिन पर PM मोदी ने बधाई देते हुए कहा- मुझे आप पर है गर्व! 

लेखक सलीम खान ने एक इंटरव्यू में बताया था कि अमिताभ बच्चन को उन्होंने सुपरस्टार बनाया है. हालांकि वो अमिताभ से इस बात से दुखी भी थे कि उन्होंने सलीम खान को कभी अपनी सक्सेस के लिए क्रेडिट नहीं दिया.
 

सलीम खान ने एक इंटरव्यू में बताया था कि मैं डायरेक्टर्स को अमिताभ बच्चन को फिल्म में लेने के लिए कहता था और उनकी एंग्री यंग मैंन की छवि मेरी वजह से ही बनी. बता दें कि सलीम और जावेद की जोड़ी ने कई ब्लॉक बस्टर फ़िल्में लिखीं जिनकी वजह से अमिताभ पर्दे पर गुस्सैल नायक के तौर पर दिखाई दिए. एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, ‘जंजीर’ में हीरोइन का ज्यादा रोल नहीं था. मुझे पता था कि कोई बड़ी हीरोइन यह फिल्म करने को तैयार नहीं होगी. तब मेरे दिमाग में जया भादुड़ी का नाम आया. वो उस समय बड़ी स्टार थीं, लेकिन मुझे पता था कि अमिताभ बच्चन के नाम पर वो काम करने को तैयार हो जाएंगी. मैं जया जी के फ्लैट में गया और उन्हें यह फिल्म करने के लिए राजी किया.
 

‘शोले’ के लिए जी पी सिप्पी को अमिताभ बच्चन का नाम सलीम खान ने ही प्रपोज किया था. उन्होंने कहा- जंजीर तैयार हो गई थी, लेकिन बिक नहीं रही थी. ‘शोले’ में अमिताभ को लेने से मेकर्स डर रहे थे, क्योंकि उसके पहले अमिताभ ने सॉफ्ट रोल्स किए थे. तब मैंने अपने पैसों से जीपी सिप्पी की टीम को ‘जंजीर’ दिखाई. मेरे कहने से वो अमिताभ को लेने के लिए राजी हुए. जीपी सिप्पी की बर्थडे पार्टी में अमिताभ 101 डिग्री बुखार होने पर भी आए और उन्होंने फिल्म साइन की थी. फिल्म के लिए उन्हें 1 लाख रुपये मिले थे, जबकि हमें (लेखक के तौर पर) 1.5 लाख रुपये मिले थे.
 

सलीम खान ने इंटरव्यू में कहा था कि एक अवॉर्ड फंक्शन में अमिताभ ने कहा कि धर्मेंद्र ने ‘शोले’ के लिए उनकी सिफारिश की थी. मुझे उनकी ये बात सुनकर दुख भी हुआ और गुस्सा भी आया था. धर्मेंद्र ने खुद यह कहा कि मुझे तो याद नहीं कि मैंने कब उनके नाम की सिफारिश की थी. हालांकि बाद में अमिताभ का भी एक इंटरव्यू आया था जिसमें उन्होंने शोले के लिए सलीम खान और धर्मेन्द्र दोनों के सिफारिश की बात की थी.
 

सलीम खान ने बताया था कि शुरुआत में उनकी वजह से ही अमिताभ को फिल्में मिलीं. दरअसल, वो उनको ही ध्यान में रखकर कहानियां लिखा करते थे. ऐसे ही एक दिलचस्प किस्से का जिक्र करते हुए उन्होंने बताया,  ‘दीवार’ में प्रोड्यूसर अमिताभ वाले रोल के लिए राजेश खन्ना का नाम फाइनल कर चुके थे. संभवत : उन्हें साइनिंग अमाउंट भी दे दिया गया था.  तब मैंने उन्हें कहा था कि इस फिल्म के लिए अमिताभ बच्चन ही सही रहेंगे. अगर आप राजेश खन्ना के साथ ही फिल्म बनाना चाहते हैं तो मैं उनके लिए दूसरी कहानी लिख दूंगा.
 

डायरेक्टर प्रकाश मेहरा और मनमोहन देसाई से अमिताभ की मुलाकात भी सलीम खान ने ही करवाई थी. उन्होंने बताया- जुहू के एक होटल में मनमोहन देसाई से मिलने अमिताभ पहुंचे थे. उनके जाने के बाद मनमोहन देसाई उनसे कुछ खास इम्प्रेस्ड नहीं दिखे थे. तब सलीम खान ने उनसे कहा था कि ये आने वाले समय का सुपरस्टार है. यह बताने की जरूरत नहीं है कि बाद में अमिताभ-मनमोहन की जोड़ी ने कई सुपरहिट फिल्में बॉलीवुड में दीं.

You May Also Like

English News