इस शख्स ने गिफ्ट में किंग खान को दिए जूते, लेकिन क्यों?

इन दिनों बॉलीवुड के किंग खान अपनी आने वाली फिल्म ‘रईस’ को लेकर सुर्खियों में हैं। फिल्म के गानें, ट्रेलर और शाहरुख के डायलॉग्स खूब चर्चा बटोर रहे हैं। फिल्म में उनके डायलॉग्स के बहुत फैन नजर आने लगे हैं। आपको बता दें कि मुंबई के उपनगरीय इलाके में अपनी एक छोटी सी जूते की दुकान चलाने वाले श्याम बहादुर भी शाहरुख की ‘रईस के डायलॉग्स के दीवाने हो गए हैं। उन्होंने अपनी दुकान के बाहर बोर्ड पर रईस के डायलॉग लिख कर टांग दिए हैं।
इस शख्स ने गिफ्ट में किंग खान को दिए जूते, लेकिन क्यों?

 दुकान पर लगे बोर्ड पर लिखा है ‘कोई धंधा छोटा नहीं होता और धंधे से बड़ा कोई धर्म नहीं होता…’ । उस दुकान के आसपास से गुजरने वाले लोग जब श्याम से पूछते हैं तो वो इस डायलॉग को अपने अंदाज से बोलता है और कहता है कि शाहरुख का वो बहुत बड़ा फैन है।

 इस हीरोइन ने इंडस्ट्री छोड़ दी पर मां-बहन के रोल नहीं किए, ताउम्र रहीं अकेली

जब शाहरुख खान को इस बात का पता चला तो उन्होंने जूते बनाने वाले श्याम बहादुर से मिलने की इच्छा जताई। श्याम ने तो ऐसा कभी सोचा भी नहीं होगा। शाहरुख ने एक स्टूडियो में मीडियाकर्मियों से मुलाकात के दौरान वहां श्याम को भी बुलाया था।

 शाहरुख के सामने पहुंचे श्याम का चेहरा देखने लायक था। वो काफी नर्वस था और उत्साहित भी। उसे यकीन ही नहीं हो रहा था कि उसका सपना सच हो रहा है। आपको बता दें कि शाहरुख खान ने अपने फैन श्याम बहादुर को गले से लगा लिया था।

 फिल्मों में आते ही सुशांत ने तोड़ दिया 6 साल पुराना रिश्ता, नई हीरोइन से चल रहा है अफेयर

वहीं श्याम ने शाहरुख को एक जोड़ी जूता गिफ्ट किया है जिसे उसने खुद अपने हाथों से बनाया था। शाहरुख ने भी श्याम से वादा किया कि वो इस जूते को मैंचिंग करती हुई पठानी के साथ एक दिन जरूर पहनेंगे। शाहरुख ने श्याम के साथ काफी सारी बातें की। श्याम ने रईस के उस डायलॉग के बारे में बताया कि उनका ये डायलॉग कम शब्दों में एक पूरी कहानी बोल देता है और कैसे लोग बड़े और छोटे धंधे में फर्क कर अजीब सी निगाहों से उसे देखते हैं।
 

You May Also Like

English News