इस हफ्ते ऑल टाइम हाई रह सकता है शेयर बाजार? जानकारों ने जताई यह उम्‍मीद

मुद्रास्फीति आंकड़े और कंपनियों के पहली तिमाही के वित्तीय परिणाम इस सप्ताह शेयर बाजारों की दिशा तय करेंगे. इसके अलावा वैश्विक बाजार का असर घरेलू बाजार पर भी देखने को मिलेगा. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अवकाश के चलते इस सप्ताह बाजार में कम कारोबारी दिवस रहेंगे.मुद्रास्फीति आंकड़े और कंपनियों के पहली तिमाही के वित्तीय परिणाम इस सप्ताह शेयर बाजारों की दिशा तय करेंगे. इसके अलावा वैश्विक बाजार का असर घरेलू बाजार पर भी देखने को मिलेगा. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अवकाश के चलते इस सप्ताह बाजार में कम कारोबारी दिवस रहेंगे.  थोक मुद्रास्फीति आंकड़ों से तय होगा रुख जियोजित फाइनेंशियल सविर्सेस के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि इस हफ्ते बाजार का रुख खुदरा मुद्रास्फीति और थोक मुद्रास्फीति आंकड़ों से तय होगा. इसके अलावा शुक्रवार को शेयर बाजार में कारोबार खत्म होने के बाद आए औद्योगिक उत्पादन आंकड़ों का असर भी बाजार पर दिख सकता है. त्यौहारी खरीद बढ़ने से टिकाऊ उपभोक्ता सामान और पूंजीगत सामान के उत्पादन एवं खरीद में तेजी देखी गई है. इसलिए जून के औद्योगिक उत्पादन आंकड़ों में 7% की वृद्धि देखी गई है. यह पिछले पांच महीने का उच्च स्तर है.  बड़ी कंपनियों के आने है तिमाही परिणाम एचडीएफसी सिक्योरिटीज के निजी ग्राहक समूह और पूंजी बाजार रणनीति के प्रमुख वीके शर्मा ने कहा कि इस हफ्ते के हालिया लाभ से बाजार में एकजुटता का रुख रहेगा. जुलाई के मुद्रास्फीति आंकड़े मंगलवार को जारी किए जा सकते हैं. वहीं इस हफ्ते टाटा स्टील, सन फार्मा और ऑयल इंडिया जैसी बड़ी कंपनियों के तिमाही परिणाम आने की संभावना है.   मॉनसून में प्रगति भी करेगी मदद जानकारों ने कहा कि मॉनसून की प्रगति, रुपये की विनिमय दर और कच्चे तेल के भाव पर भी निवेशकों की नजर होगी. पिछले सप्ताह बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 313.07 अंक या 0.83 प्रतिशत की बढ़त के साथ 37,869.23 अंक पर बंद हुआ.

थोक मुद्रास्फीति आंकड़ों से तय होगा रुख
जियोजित फाइनेंशियल सविर्सेस के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि इस हफ्ते बाजार का रुख खुदरा मुद्रास्फीति और थोक मुद्रास्फीति आंकड़ों से तय होगा. इसके अलावा शुक्रवार को शेयर बाजार में कारोबार खत्म होने के बाद आए औद्योगिक उत्पादन आंकड़ों का असर भी बाजार पर दिख सकता है. त्यौहारी खरीद बढ़ने से टिकाऊ उपभोक्ता सामान और पूंजीगत सामान के उत्पादन एवं खरीद में तेजी देखी गई है. इसलिए जून के औद्योगिक उत्पादन आंकड़ों में 7% की वृद्धि देखी गई है. यह पिछले पांच महीने का उच्च स्तर है.

बड़ी कंपनियों के आने है तिमाही परिणाम
एचडीएफसी सिक्योरिटीज के निजी ग्राहक समूह और पूंजी बाजार रणनीति के प्रमुख वीके शर्मा ने कहा कि इस हफ्ते के हालिया लाभ से बाजार में एकजुटता का रुख रहेगा. जुलाई के मुद्रास्फीति आंकड़े मंगलवार को जारी किए जा सकते हैं. वहीं इस हफ्ते टाटा स्टील, सन फार्मा और ऑयल इंडिया जैसी बड़ी कंपनियों के तिमाही परिणाम आने की संभावना है.

मॉनसून में प्रगति भी करेगी मदद
जानकारों ने कहा कि मॉनसून की प्रगति, रुपये की विनिमय दर और कच्चे तेल के भाव पर भी निवेशकों की नजर होगी. पिछले सप्ताह बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 313.07 अंक या 0.83 प्रतिशत की बढ़त के साथ 37,869.23 अंक पर बंद हुआ.

You May Also Like

English News