ईवीएम हैकिंगः आज आवेदन का है आखिरी दिन, अभी तक नहीं पहुंची कोई पार्टी…

नई दिल्ली। विधानसभा चुनाव में करारी हार से बौखलाए विपक्षियों ने भाजपा पर ईवीएम हैक कर जीत हासिल करने का आरोप लगाया था। इसके बाद चुनाव आयोग ने सभी राजनीतिक दलों को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों से छेड़छाड़ करके दिखाने की खुली चुनौती दी थी।ईवीएम हैकिंगः आज आवेदन का है आखिरी दिन, अभी तक नहीं पहुंची कोई पार्टी...यह भी पढ़े:> सेना के कैप्टन ने सैनिक के साथ बनाए से संबंध, अब जाना पड़ेगा अदालत

आयोग की चुनौती में शामिल होने के लिए अभी तक किसी भी दल ने आवेदन नहीं किया है। चुनाव आयोग की ओर से एक्सपर्ट के नामांकन की आज आखिरी तारीख है।

ईवीएम हैक करने का मौका उन्हीं राजनीतिक दलों को मिलेगा जो 26 मई यान आज शुक्रवार की शाम 5 बजे तक हैकाथॉन के लिए रजिस्ट्रेशन करवाएंगे। और अब तक किसी पार्टी की ओर से कोई नामांकन नहीं कराया गया है।

चुनाव आयोग के प्रवक्ता ने गुरुवार देर शाम को बताया कि अब तक किसी पार्टी ने किसी जानकार को ईवीएम चुनौती स्वीकार करने के लिए नामित नहीं किया है। बीती 20 तारीख को आयोग ने घोषणा की थी कि 3 जून से ईवीएम चैलेंज हो रहा है जिसके लिए 26 मई तक पार्टियां तान जानकारों को नामित कर सकती हैं। 

आयोग के सूत्रों के मुताबिक गुरुवार (25 मई) रात तक किसी पार्टी ने आवेदन नहीं किया है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद आम आदमी पार्टी और बसपा ने ईवीएम में छेड़छाड़ की आशंका जताई थी। उसके बाद कई अन्य दलों ने उनके स्वर में स्वर मिलाया।

बता दें, मुख्य निर्वाचन आयुक्त नसीम जैदी ने आयोग द्वारा तय शर्तो के आधार पर ईवीएम को हैक करने के दावे को साबित करने के लिए तारीख की घोषणा की थी।

उन्होंने कहा कि यह चुनौती उन राष्ट्रीय तथा राज्य स्तरीय पार्टियां के लिए खुली है, जिन्होंने उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा तथा मणिपुर में हुए विधानसभा चुनावों में हिस्सा लिया और दावा किया है कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की गई थी या उनसे छेड़छाड़ की जा सकती है।

You May Also Like

English News