उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया ने ‘दिल’ मिलने के बाद घड़ी का समय भी मिलाया

उत्तर कोरिया ने अपने बदले हुए रुख का परिचय देते हुए अपनी घड़ियों के समय को आधे घंटे आगे करते हुए उसे दक्षिण कोरिया के टाइम जोन से मिला लिया. उत्तर कोरिया की सरकारी मीडिया ने यह जानकारी दी है.उत्तर कोरिया ने अपने बदले हुए रुख का परिचय देते हुए अपनी घड़ियों के समय को आधे घंटे आगे करते हुए उसे दक्षिण कोरिया के टाइम जोन से मिला लिया. उत्तर कोरिया की सरकारी मीडिया ने यह जानकारी दी है.  पिछले सप्ताह दोनों कोरियाई देशों के बीच हुई शिखर बैठक के बाद उत्तर कोरिया ने यह कदम उठाया है.  उ. कोरिया की सरकारी संवाद एजेंसी केसीएनए ने कहा, 'ऐतिहासिक उत्तर-दक्षिण शिखर बैठक के बाद समय को फिर से निर्धारित करना पहला व्यावहारिक कदम है ताकि उत्तर एवं दक्षिण को एक करने की प्रक्रिया को तेजी दी जा सके.'  अप्रैल के महीने में हुए ऐतिहासिक कोरियाई शिखर वार्ता के बाद उत्तर कोरिया ने आपसी संबंधों को और मजबूत करने के लिए दक्षिण कोरिया के टाइम जोन के साथ जुड़ने के लिए आगामी शनिवार से अपने घड़ी को 30 मिनट आगे बढ़ाने का फैसला किया था.  वर्ष 2015 से दोनों देशों का टाइम जोन अलग हो गया था. उस वक्त उत्तर कोरिया ने अपने मानक समय को दक्षिण कोरिया से 30 मिनट पीछे कर दिया था. उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग में हुई बैठक में उत्तर कोरिया ने पुराने टाइम जोन में लौटने के बारे में फैसला लिया.  केसीएनए ने बताया था कि उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेइ इन के साथ ऐतिहासिक वार्ता के दौरान अपने पुराने टाइम जोन में फिर से लौटने का वादा किया था.

पिछले सप्ताह दोनों कोरियाई देशों के बीच हुई शिखर बैठक के बाद उत्तर कोरिया ने यह कदम उठाया है.

उ. कोरिया की सरकारी संवाद एजेंसी केसीएनए ने कहा, ‘ऐतिहासिक उत्तर-दक्षिण शिखर बैठक के बाद समय को फिर से निर्धारित करना पहला व्यावहारिक कदम है ताकि उत्तर एवं दक्षिण को एक करने की प्रक्रिया को तेजी दी जा सके.’

अप्रैल के महीने में हुए ऐतिहासिक कोरियाई शिखर वार्ता के बाद उत्तर कोरिया ने आपसी संबंधों को और मजबूत करने के लिए दक्षिण कोरिया के टाइम जोन के साथ जुड़ने के लिए आगामी शनिवार से अपने घड़ी को 30 मिनट आगे बढ़ाने का फैसला किया था.

वर्ष 2015 से दोनों देशों का टाइम जोन अलग हो गया था. उस वक्त उत्तर कोरिया ने अपने मानक समय को दक्षिण कोरिया से 30 मिनट पीछे कर दिया था. उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग में हुई बैठक में उत्तर कोरिया ने पुराने टाइम जोन में लौटने के बारे में फैसला लिया.

केसीएनए ने बताया था कि उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेइ इन के साथ ऐतिहासिक वार्ता के दौरान अपने पुराने टाइम जोन में फिर से लौटने का वादा किया था

You May Also Like

English News