उत्तर-दक्षिण कोरिया में होगी बात, युद्ध की धमकियों के बीच ऐसे सुधरे हालात

सियोल के एकीकरण मंत्रालय ने कहा है कि परमाणु हथियारों से सम्पन्न उत्तर कोरिया ने अगले सप्ताह बातचीत करने के दक्षिण कोरिया के प्रस्ताव को शुक्रवार को स्वीकार कर लिया है. यह बैठक पनमुनजोम में होगी.उत्तर-दक्षिण कोरिया में होगी बात, युद्ध की धमकियों के बीच ऐसे सुधरे हालात

बता दें कि यह मंत्रालय दक्षिण कोरिया के उत्तर कोरिया के साथ संबंधों को देखता है.

उत्तर कोरिया ने किया मैसेज फैक्स

एकीकरण मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि उत्तर कोरिया ने सियोल को एक मैसेज फैक्स किया. इस मैसेज में उसने मंगलवार को वार्ता करने का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है.

ये मामले होंगे शामिल

मंत्रालय के प्रवक्ता बाएक ताए हुआन ने कहा कि एजेंडे में प्योंगचांग ओलंपिक और अंतरकोरियाई संबंधों में सुधार का मामला शामिल होगा.

बता दें कि उत्तर कोरिया द्वारा कई आईसीबीएम और उसके छठे परमाणु परीक्षण समेत 2017 में कई मिसाइल परीक्षण करने से इलाके में तनाव बढ़ गया है.

किम ने दी थी धमकी

वार्ता का यह प्रस्ताव ऐसे समय में सामने आया है, जब उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन ने नए साल के अपने भाषण में चेतावनी दी थी. किम ने कहा था, ‘मेरे पास एक परमाणु बटन है.’ 

उ.कोरिया ओलंपिक खेलों के लिए अपने एथलीटों को भेजेगा दक्षिण कोरिया

उत्तर कोरिया, अगले महीने दक्षिण कोरिया में होने वाले शीतकालीन ओलंपिक में एक टीम भेज सकता है. किम ने संभावना जताई है कि उनका देश इस साल होने वाले शीतकालीन ओलंपिक खेलों के लिए अपने एथलीटों को दक्षिण कोरिया भेजेगा. इसके साथ ही अब दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया के बीच ‘हॉटलाइन’ फिर से शुरू होने जा रही है. बता दें 2016 में इस हॉटलाइन को बंद कर दिया गया था.

इसके जवाब में सियोल ने दोनों देशों के बीच वार्ता का प्रस्ताव रखा.

द.कोरिया और अमेरिका के बीच सैन्य अभ्यास टला

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई इन और उनके अमेरिकी समकक्ष डोनाल्ड ट्रंप ने शीतकालीन ओलंपिक के बाद तक संयुक्त सैन्य अभ्यास नहीं करने पर सहमति व्यक्त की. अमेरिका के रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने गुरुवार को कहा है कि यूएस साउथ कोरिया के साथ संयुक्त सैन्य अभ्यास को ओलंपिक खेलों तक निलंबित कर दिया है.

उन्होंने कहा कि संयुक्त सैन्य अभ्यास पैरालंपिक बाद आयोजित किए जाएंगे, जो कि 18 मार्च को समाप्त होंगे. साथ ही उन्होंने बताया कि शीतकालीन ओलंपिक तक दक्षिण कोरिया के साथ संयुक्त सैन्य अभ्यास टालने का निर्णय व्यावहारिक कारणों से लिया गया है, न कि राजनीतिक कारणों से.

You May Also Like

English News