उत्तर प्रदेश की दशा सुधरते ही विकास की राह में सरपट दौड़ेगा पूरा देश: पीएम मोदी

मिर्जापुर: कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी को उत्तर प्रदेश की बदहाली के लिये जिम्मेदार बताते हुये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि आबादी के लिहाज से अव्वल राज्य की दशा सुधरते ही देश खुद ब खुद तरक्की की राह पकड़ लेगा। यह चुनाव कांग्रेस, सपा और बसपा से मुक्ति का अवसर
मिर्जापुर के मणिहान में विजय शंखनाद रैली को संबोधित करते हुये मोदी ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश इतना बड़ा राज्य है कि अगर यह देश होता तो आबादी के लिहाज से दुनिया का पांचवां देश कहा जाता। अगर यहां से बीमारी, बेरोजगारी, गरीबी मिट जाए तो ङ्क्षहदुस्तान अपने आप आगे बढ़ जाएगा। उत्तर प्रदेश बहुत ताकत रखता है।’ प्रधानमंत्री ने कहा ‘ये चुनाव कौन विधायक बने न बने, सरकार किसकी बने, ये मुद्दा नहीं रहा। अब तो ये मुद्दा है कि यहां के नौजवानों का भविष्य कौन सुनिश्चित करेगा। सूबे की बहन-बेटियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी कौन लेगा। यह चुनाव कांग्रेस, सपा और बसपा से मुक्ति का अवसर है।’

यूपी में नौजवानों को नौकरी मिलने की कोई गारंटी नहीं 
उन्होंने कहा कि प्रदेश में होनहार नौजवानों को नौकरी मिलने की कोई गारंटी नहीं है। इसकी वजह भाई-भतीजावाद और भ्रष्टाचार है। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने कई बार डांटा मगर सरकार को इसकी आदत लग गई है। सूबे में हर चीज का रेट लगा है। शिकायत दर्ज करवाने, पेंशन निकलवाने और सरकारी योजनाओं का फायदा दिलवाने के एवज में कुछ न कुछ देना होता है। यह बंद होना चाहिए। 

अखिलेश यादव पर किया कटाक्ष
सपा अध्यक्ष और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर कटाक्ष करते हुय मोदी ने कहा ‘अखिलेश जी, मुझे भी काम बताते रहते हैं। वे सीएम हैं, मैं यूपी से सांसद हैं। वे काम बताएं तो मुझे करना ही चाहिए। मुझसे कहा कि तार पकड़कर देखो कि बिजली जाती है या नहीं मगर उनके इस तर्क का जवाब महीनो पहले उनके नये साथी ने दे दिया था।’ 

यूपी के तारों में बिजली नहीं 
मोदी ने कहा कि पिछले साल कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने यहां खाट सभा की थी। उनका हाथ बिजली का तार पर लग गया था जिस पर वरिष्ठ कांग्रेसी गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हाथ मत रखिए, दिक्कत हो जाएगी। इस पर गांधी का जवाब था ऐसा कुछ नहीं होगा। यहां के तारों में बिजली नहीं होती।

पिता के वादों को भी पूरा नहीं किया अखिलेश ने 
उन्होंने कहा कि करीब 13 साल पहले सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री के तौर पर बरेली और मिर्जापुर के बीच गंगाजी पर पुल बनाने की बात कही थी मगर यह काम अब तक नहीं हुआ। यही पुल सैफई के आसपास बनाना होता तो 13 साल इंतजार करते। पिता द्वारा जनता से किया गया वादा निभाने में मुख्यमंत्री अखिलेश ने कोताही बरती। बेटा, बाप के काम को अधूरा नहीं छोड़ता। ये कैसे लोग हैं कि अपने पिता के वादों को भी पूरा नहीं करते। ये जनता के लिए क्या करेंगे।

विंध्याचल की चिंता अखिलेश सरकार को नहीं 
मोदी ने कहा, ‘विंध्याचल पर्यटन का बड़ा केंद्र बन सकता है। लेकिन यहां की सरकार को न तो पर्यटन की ङ्क्षचता है और न तो विकास की। पर्यटन में तो कम पूंजी से ज्यादा कमाई हो सकती है। ऑटो, प्रसाद, चाय वाले सब कमाएंगे। अगर इस सोच के साथ विकास हो तो मिर्जापुर भी आगे हो जाएगा। 

बहनजी मिर्जापुर से पत्थर ले गईं
बसपा सुप्रीमो मायावती पर निशाना साधते हुये मोदी ने कहा ‘बहनजी मिर्जापुर से पत्थर ले गई, लेकिन जब जांच शुरु हुई तो बोलीं की यह पत्थर राजस्थान से लाया गया है, आप बताइए कि क्या आपको मिर्जापुर के पत्थरों से इतनी नफरत है कि आप बताना भी नहीं चाहती हैं। जिनको मिर्जापुर के पत्थरों से नफरत हो ऐसे लोग मिर्जापुर के वोट के अधिकारी हैं क्या।’

सूबे के लोगों ने कमाल कर दिया 
मतदान में बढ़ोत्तरी से गदगद प्रधानमंत्री ने कहा कि सूबे के लोगों ने कमाल कर दिया है। प्रदेश में एक से बढ़कर एक रैलियां हो रही हैं। सारे रिकॉड्र्स तोड़ दिए गये। मतदान में भी रिकॉड्र्स तोड़े जा रहे है और आगे भी तोड जायेंगे। 11 मार्च को सपा-बसपा-कांग्रेस तीनों को करंट लगने वाला है। 

You May Also Like

English News