उन्नाव मे भाजपा नेता की गुंडई, दबंगों के साथ पड़ोसी के घर पर हमला

लखनऊ तथा कानपुर को जोडऩे वाला उन्नाव भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के बाद आज फिर चर्चा में है। भाजपा नेता ने यहां दंबगई दिखाई और अपने गुर्गों के साथ मिलकर पड़ोसियों पर हमला बोल दिया। जिसमें गर्भवती महिलाओं को भी बेरहमी से पीटा गया। इस सारे प्रकरण में पुलिस वहां पर मूकदर्शक बनी रही।देर रात एक परिवार ने इसका विरोध कर वाहन हटाने की बात कही तो रेस्टोरेंट मालिक भाजपा नेता प्रवेश सिंह उर्फ सिंडिकेट के इशारे पर गुर्गों ने पड़ोस के घर में घुसकर राजबहादुर और उनके बेटों विनोद, राजेंद्र, धर्मेंद्र को लहूलुहान कर दिया। घर की महिलाओं ने बचाने की कोशिश की तो उनको भी बेरहमी से पीटा।     गर्भवती महिला पर घर से सड़क पर खींचकर डंडे बरसाए। भाजपा नेता के गुर्गों के उपद्रव के दौरान मौके पर अजगैन थाने का एक दारोगा और दो सिपाही खड़े तमाशा देखते रहे है। घायल परिवार ने बचाने की गुहार भी लगाई पर सत्ता की हनक के आगे उन्होंने मुंह मोड़ लिया।     परिवार पर हमला करने वाले लाइसेंसी असलहों से लैस होकर आए थे। पांच महिलाओं समेत अन्य घायल सीएचसी नवाबगंज में इलाज चल रहा । घायलों ने बीजेपी नेता सिंडिकेट और उनके भाई रवि सिंह उर्फ कल्लू समेत अन्य 10-12 लोगों पर वाहनों की पार्किंग से रोकने पर हमला करने का आरोप लगाया। पुलिस नामजद मुकदमा दर्ज करने से टालमटोल कर रही, उसकी ओर से दबाव बनाया जा रहा कि तहरीर से भाजपा नेता और उसके भाई का नाम हटा लिया जाए।    घटना के समय अजगैन थाने का एक दारोगा और दो सिपाही मौके पर मौजूद थे पर वह भी सत्ता की हनक के आगे पीछे हट गए। आरोपी लाइसेंसी असलहों से लैस होकर पहुंचे थे। इनके हमले में पांच महिलाओं समेत अन्य घायल का सीएचसी नवाबगंज में इलाज चल रहा है। घायलों ने भाजपा नेता सिंडिकेट और उनके भाई रवि सिंह, अरुण उर्फ कल्लू समेत अन्य 10-12 लोगों पर मारपीट का आरोप लगाया है। इसके बाद भी पुलिस मामला दर्ज करने में टालमटोल कर रही है।  प्रदेश में बीजेपी नेताओं पर सत्ता का नशा सिर चढ़कर बोल रहा है। सत्ता की हनक के आगे पुलिस भी बेबस नजर आ रही है।भाजपा नेता प्रवेश सिंह सिंडिकेट का अनंत भोग के नाम से एक रेस्टोरेंट चलता है। पार्किंग की व्यवस्था न होने के कारण यहां आने वाले ग्राहक पास के घरों के सामने हाईवे पर अपनी गाडिय़ां पार्क करते हैं। जिस कारण इन घरों में रहने वालों को आने-जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

लखनऊ-कानपुर हाई-वे पर बेहद प्रचलित रेस्टोरेंट भाजपा नेता नेता प्रवेश सिंह उर्फ सिंडिकेट का है। इसके बाहर गाडिय़ां काफी बेतरतीब ढंग से खड़ी रहती हैं, जिससे पड़ोसी को काफी परेशानी होती है। आज एक बार फिर पड़ोसी ने गाडिय़ों को ठीक से पार्क करने को कहा, जिसपर अनंतभोग रेस्टोरेंट में बैठा भाजपा नेता प्रवेश सिंह आग बबूला हो गया। उसने अपने गुर्गों के साथ मिलकर पड़ोसी पर हमला बोल दिया। लाठी-डंडे से पड़ोसियों को जमकर पीटा। भाजपा नेता के इशारे पर दबंगों ने पड़ोसी के घर मे घुसकर गर्भवती महिला तक को पीटा। दबंगों की पिटाई से बुरी तरह घायल परिवार के लोगों को सीएचसी में भर्ती करवाया गया है। पुलिस सत्ता से जुड़े नेता का मामला होने के चलते मूकदर्शक बनकर तमाशा देखती रही।

सत्ताधारी दल भाजपा के नेता प्रवेश सिंह सिंडिकेट और उनके भाई रवि और अरुण कल्लू की पहुंच का इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है उन्नाव पुलिस उनकी खुली गुंडई का विरोध नही कर सकती। आरोपी भाजपा नेता युवा मोर्चा का सदस्य बताया जाता है। आरोपी की फोटो सरकार के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और अन्य मंत्रियों के साथ भी है।

देर रात एक परिवार ने इसका विरोध कर वाहन हटाने की बात कही तो रेस्टोरेंट मालिक भाजपा नेता प्रवेश सिंह उर्फ सिंडिकेट के इशारे पर गुर्गों ने पड़ोस के घर में घुसकर राजबहादुर और उनके बेटों विनोद, राजेंद्र, धर्मेंद्र को लहूलुहान कर दिया। घर की महिलाओं ने बचाने की कोशिश की तो उनको भी बेरहमी से पीटा। 

गर्भवती महिला पर घर से सड़क पर खींचकर डंडे बरसाए। भाजपा नेता के गुर्गों के उपद्रव के दौरान मौके पर अजगैन थाने का एक दारोगा और दो सिपाही खड़े तमाशा देखते रहे है। घायल परिवार ने बचाने की गुहार भी लगाई पर सत्ता की हनक के आगे उन्होंने मुंह मोड़ लिया। 

परिवार पर हमला करने वाले लाइसेंसी असलहों से लैस होकर आए थे। पांच महिलाओं समेत अन्य घायल सीएचसी नवाबगंज में इलाज चल रहा । घायलों ने बीजेपी नेता सिंडिकेट और उनके भाई रवि सिंह उर्फ कल्लू समेत अन्य 10-12 लोगों पर वाहनों की पार्किंग से रोकने पर हमला करने का आरोप लगाया। पुलिस नामजद मुकदमा दर्ज करने से टालमटोल कर रही, उसकी ओर से दबाव बनाया जा रहा कि तहरीर से भाजपा नेता और उसके भाई का नाम हटा लिया जाए।

घटना के समय अजगैन थाने का एक दारोगा और दो सिपाही मौके पर मौजूद थे पर वह भी सत्ता की हनक के आगे पीछे हट गए। आरोपी लाइसेंसी असलहों से लैस होकर पहुंचे थे। इनके हमले में पांच महिलाओं समेत अन्य घायल का सीएचसी नवाबगंज में इलाज चल रहा है। घायलों ने भाजपा नेता सिंडिकेट और उनके भाई रवि सिंह, अरुण उर्फ कल्लू समेत अन्य 10-12 लोगों पर मारपीट का आरोप लगाया है। इसके बाद भी पुलिस मामला दर्ज करने में टालमटोल कर रही है।

प्रदेश में बीजेपी नेताओं पर सत्ता का नशा सिर चढ़कर बोल रहा है। सत्ता की हनक के आगे पुलिस भी बेबस नजर आ रही है।भाजपा नेता प्रवेश सिंह सिंडिकेट का अनंत भोग के नाम से एक रेस्टोरेंट चलता है। पार्किंग की व्यवस्था न होने के कारण यहां आने वाले ग्राहक पास के घरों के सामने हाईवे पर अपनी गाडिय़ां पार्क करते हैं। जिस कारण इन घरों में रहने वालों को आने-जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

You May Also Like

English News