उपचुनावों के नतीजे आज, कैराना पर नज़र

गुरुवार सुबह 8 बजे अलग-अलग राज्यों की 4 लोकसभा और 10 विधानसभा सीटों पर मतगणना शुरू होने वाली है. उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट पर देशभर की नज़र है. यहां बीजेपी को हराने के लिए विपक्षी पार्टियां रालोद उम्मीदवार का समर्थन कर रही हैं. 2019 लोकसभा चुनाव की ओर बढ़ रहे देश में विपक्षी पार्टियां कैराना में बीजेपी को हरा एक बड़ा संदेश देना चाहती हैं. सोमवार को हुए मतदान में काफी जगह ईवीएम-वीवीपैट में गड़बड़ी की खबरें आई थीं, जिसके बाद यूपी की कैराना, महाराष्ट्र की भंडारा-गोंदिया लोकसभा और नगालैंड की एक विधानसभा सीट के कुछ पोलिंग बूथों पर दोबारा वोट डलवाए गए थे. सोमवार को हुए मतदान में कैराना लोकसभा सीट पर 54 फीसदी वोट पड़े थे.गुरुवार सुबह 8 बजे अलग-अलग राज्यों की 4 लोकसभा और 10 विधानसभा सीटों पर मतगणना शुरू होने वाली है. उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट पर देशभर की नज़र है. यहां बीजेपी को हराने के लिए विपक्षी पार्टियां रालोद उम्मीदवार का समर्थन कर रही हैं. 2019 लोकसभा चुनाव की ओर बढ़ रहे देश में विपक्षी पार्टियां कैराना में बीजेपी को हरा एक बड़ा संदेश देना चाहती हैं. सोमवार को हुए मतदान में काफी जगह ईवीएम-वीवीपैट में गड़बड़ी की खबरें आई थीं, जिसके बाद यूपी की कैराना, महाराष्ट्र की भंडारा-गोंदिया लोकसभा और नगालैंड की एक विधानसभा सीट के कुछ पोलिंग बूथों पर दोबारा वोट डलवाए गए थे. सोमवार को हुए मतदान में कैराना लोकसभा सीट पर 54 फीसदी वोट पड़े थे.   कैराना लोकसभा सीट के 73 बूथों पर बुधवार को हुए पुर्नमतदान में 61 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. सोमवार को हुए उपचुनाव में मतदान के दौरान वीवीपैट मशीनों में गड़बड़ी की शिकायतों को देखते हुये कैराना लोकसभा सीट के 73 मतदान केन्द्रों पर चुनाव आयोग ने पुर्नमतदान का फैसला किया था.  मशीनों में गड़बड़ी की भारी संख्या में शिकायतों का हवाला देते हुए सपा नेता रामगोपाल यादव, रालोद अध्यक्ष अजीत सिंह और कांग्रेस के आरपीएन सिंह ने आयोग से चिन्हित मतदान केन्द्रों पर पुनर्मतदान कराने की मांग की थी.

कैराना लोकसभा सीट के 73 बूथों पर बुधवार को हुए पुर्नमतदान में 61 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. सोमवार को हुए उपचुनाव में मतदान के दौरान वीवीपैट मशीनों में गड़बड़ी की शिकायतों को देखते हुये कैराना लोकसभा सीट के 73 मतदान केन्द्रों पर चुनाव आयोग ने पुर्नमतदान का फैसला किया था.

मशीनों में गड़बड़ी की भारी संख्या में शिकायतों का हवाला देते हुए सपा नेता रामगोपाल यादव, रालोद अध्यक्ष अजीत सिंह और कांग्रेस के आरपीएन सिंह ने आयोग से चिन्हित मतदान केन्द्रों पर पुनर्मतदान कराने की मांग की थी. 

You May Also Like

English News