उपचुनाव: अरुणाचल प्रदेश में फिर चला भारतीय जनता पार्टी का जादू….

गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद आज चार राज्यों की पांच विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव की मतगणना चल रही है. इनमें तमिलनाडु की आरके नगर, यूपी के कानपुर देहात की सिकंदरा, पश्चिम बंगाल की सबांग, अरुणाचल प्रदेश की कसांग और लिकाबली सीटें शामिल हैं.उपचुनाव: अरुणाचल प्रदेश में फिर चला भारतीय जनता पार्टी का जादू....जानिए, कौन होंगे AAP से राज्यसभा जाने वाले तीन चेहरे…

अरुणाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी का फिर जादू चला है. राज्य में दो सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी को जीत मिली है. कसांग सीट पर बीजेपी प्रत्याशी बीआर व्हागे ने 475 वोटों से चुनाव जीता है. जबकि लिकाबली सीट पर पर बीजेपी के कार्दो निग्योर को 319 वोटों के मामूली अंतर से विजय प्राप्त हुई है. बता दें कि राज्य में बीजेपी की सरकार है.

सिकंदरा सीट

कानपुर देहात की सिकंदरा सीट बीजेपी विधायक मथुरा प्रसाद पाल के निधन के बात खाली हुई थी. यहां 21 दिसंबर को उपचुनाव कराया गया, जिसमें करीब 53 फीसदी मतदान हुआ था. 21 राउंड की काउंटिंग तक बीजेपी के अजीतपाल को 54866 वोट मिले, जबकि सपा कैंडिडेट के 45439 वोट ही निकल पाए. 

बीजेपी ने मृतक मथुरा प्रसाद के बेटे अजीत पाल सिंह को उपचुनाव में प्रत्याशी बनाया है. जबकि समाजवादी पार्टी की तरफ से सीमा सचान और कांग्रेस के टिकट पर प्रभाकर ने चुनाव लड़ा है.

पश्चिम बंगालः सबांग सीट

पश्चिम बंगाल की सबांग सीट पर 14 राउंड की मतगणना के बाद तृणमूल कांग्रेस की गीता रानी भूइयां सबसे आगे चल रही हैं. उन्हें अब तक 95 हजार 575 वोट मिले हैं. वहीं सीपीएम की रीता मंडल को 39 हजार 784 और बीजेपी की अंतरा भट्टाचार्य को 34 हजार 30 वोट मिले हैं. कांग्रेस के चिरंजीब भौमिक को 16 हजार 777 वोट मिले हैं. वहीं एसयूसीआई के दिनेश मैकाप को 1944 मत पड़े हैं. दूसरी ओर नोटा पर भी 1433 वोट पड़े हैं.

ये उपचुनाव कांग्रेस विधायक मानस भूइयां के इस्तीफे की वजह से हुआ. भुइयां ने कांग्रेस छोड़ तृणमूल का दामन थामा था और वह राज्यसभा सदस्य हैं. तृणमूल ने उनकी पत्नी रानी भूइयां को टिकट दिया है. इस सीट पर 84.5 प्रतिशत मतदान हुआ था.

You May Also Like

English News